Suicide: मां की मौत से परेशान बीटेक छात्र ने फांसी लगाकर दी जान !

लखनऊ: चिनहट इलाके में बीबीडी में पढऩे वाले इंजीनियरिंग के छात्र ने अपने कमरे में फांसी लगाकर जान दे दी। छात्र के हाथ का लिखा एक सुसाइड नोट भी मिला। नोट में उसने अपनी मां की मौत से परेशान होकर जान देने की बात लिखी थी।


बलिया जनपद निवासी 22 वर्षीय आशुतोष कुमार सिंह बीबीडी में इंजीनियरिंग चतुर्थ सेमेस्टर का छात्र था। वह मौजूदा समय में बीबीडी के पास दयाल रेजीडेंसी ने कुछ छात्रों के साथ किराये पर रहता था। बताया जाता है कि मंगलवार की रात करीब एक बजे आशुतोष ने बाकी छात्रों के साथ मिलकर पढ़ाई की।

इसके बाद सभी छात्र अपने-अपने कमरे में सोने के लिए चले गये। आशुतोष भी अपने कमरे में सोने के लिए चला गया। बुधवार की सुबह जब छात्र सोकर उठे तो देखा कि आशुतोष के कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था। साथियों ने उसको आवाज लगायी और दरवाजा खटखटाया पर अंदर से कोई जवाब नहीं मिला। साथियों ने जब इधर-उधर से झांक कर देखा तो उनकी नज़र कमरे में पंखे में गमछे के सहारे लटक रहे आशुतोष के शव पर पड़ी।

आशुतोष के साथियों ने फौरन इसकी सूचना पुलिस कंट्रोल रूम को दी। सूचना मिलते ही मौके पर चिनहट पुलिस भी पहुंची गयी। पुलिस ने किसी तरह कमरे का दरवाजा तोड़ा और कमरे के अंदर पहुंची। इसके बाद पुलिस को छानबीन के दौरान आशुतोष के हाथ का लिखा एक सुसाइड नोट मिला। सुसाइड नोट में आशुतोष ने अपनी मां की मौत से परेशान होकर जान देने की बात लिखी थी। छानबीन के बाद पुलिस ने आशुतोष के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और सूचना आशुतोष के परिवार वालों को दी।

पुलिस का कहना है कि आशुतोष के पिता नरेन्द्र कुमार सिंह खाड़ी देश मेें रहकर नौकरी करते हैं। साथियोंं ने बताया कि आशुतोष आर्थिक तंगी से भी गुजर रहा था। कभी-कभी उसके पिता 20 से 10 हजार रुपये उसको भेज दिया करते थे। इसके अलावा कैण्ट के बड़ी लालकुर्ती इलाके में 25 वर्षीय रवीन्द्र कुमार उर्फ मांटू अपने नाना श्यामलाल के घर में रहता था। मांटू अपने बड़े भाई ललित कुमार के साथ टेन्ट का काम करता था। बताया जाता है कि मंगलवार की रात परिवार के सभी लोग खाना खाकर सो गये।

मांटू भी छत पर बने कमरे में लेटा था। बुधवार की सुबह परिवार के लोगों ने मांटू को जगाने के लिए आवाज लगायी तो कोई जवाब नहीं मिला। इसके बाद पड़ोसियों ने जब छत पर देखा तो मांटू का शव छत पर बने कमरे में बने एंगिल में कपड़े के सहारे लटक रहा था।

इसके बाद परिवार के लोग सीढ़ी लगाकर दूसरी तरफ से छत पर पहुंचे और दरवाजा खोला। सूचना मिलते ही कैण्ट पुलिस भी मौके पर पहुंच गयी। छानबीन के दौरान पुलिस को मांटू के हाथ का लिखा एक सुसाइड नोट मिला। सुसाइड नोट में मांटू ने अपने मर्जी से आत्महत्या करने की बात लिखी थी। फिलहाल इस बात का पता नहीं चल सका है कि मांटू ने आत्महत्या क्यों की। सूचना पर पहुंची पुलिस ने छानबीन के बाद मांटू के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

You May Also Like

English News