Tantr Mantr: तांत्रिकों के जाल में फंस कर गवाये 16 लाख रुपये!

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के आलमबाग इलाके में रहने वाले एक व्यक्ति को तंत्रमंत्र के जाल में ऐसा फंसाया गया कि उनको अपना मकान तक बेचना पड़ गया। पीडि़त ने बाबा, उसके साथियों को 16 लाख रुपये की मोटी रकम तंत्रमंत्र के चलते दे डाली। बावजूद इसके बाद पीडि़त की समस्या जस की तस बनी रही। पीडि़त ने जब आरोपियों से रुपये वापस मांगे तो आरोपियों ने उसके साथ मारपीट करते हुए उसको जान से मारने की धमकी दी। इस जालसाजी के खेल में पीडि़त का साला भी शामिल था। पीडि़त ने शिकायत आलमबाग पुलिस से की तो पुलिस ने कोई मदद नहीं की। कोर्ट के आदेश पर अब इस मामले में पांच लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करायी गयी है।


आलमबाग के गढ़ी कनौरा इलाके में राजबहादुर सिंह अपने परिवार के साथ रहता है। बताया जाता है कि कुछ साल पहले उसकी आर्थिक स्थित ठीक नहीं चल रही थी। इस पर उसके साले बाराबंकी निवासी सुरेश सिंह ने उसको बताया कि वह एक बाबा को जानता है। बाबा तंत्र-मंत्र की मदद से उसकी सारी दिक्कतों को दूर कर देंगे। इसके बाद सुरेश सिंह ने फैजाबाद के मवेई निवासी बाबा मुन्ना सिंह और उसके साथियों प्रदीप, लाखन और दिलीप सिंह से मुलाकात करायी। सभी लोग राज बहादुर के घर भी आये। इसके बाद बाबा मुन्ना सिंह और उसके साथियों ने राज बहादुर सिंह को बताया कि उसके मकान में साया है। अगर उसने कोई उपाय नहीं किया तो उसका सब कुछ बर्बाद हो जायेगा। बाबा और उसके साथियों की कही गयी बात पर राज बहादुर सिंह को यकीन नहीं हुआ। इस बीच राज बहादुर सिंह के बेटा एक्सीडेंट हो गया। इस पर फिर आरोपियों ने राज बहादुर को बताया कि यह सब कुछ उसके मकान में मौजूद साये की वजह से हो रहा है। अगर समय रहते उसने कुछ नहीं किया तो कुछ नहीं बचेगा।

हादसे के बाद सहम गया था परिवार
पीडि़त राज बहादुर सिंह का कहना है कि बाबा व उसके साथियों के बार-बार साये की बात कहने से वह व उसका परिवार सहम गया था। उनको भी ऐसा लगने लगा था कि सबकुछ मकान में मौजूद साये की वजह से हो रहा है। बस इस पर राज बहादुर सिंह आरोपियों की सारी बात मानने के राजी हो गये। इस पर आरोपियों ने तंत्र और मंत्र के नाम पर राज बहादुर सिंह से 10 लाख रुपये की मांग की।

मकान बेचकर दिये 10 लाख रुपये
पीडि़त राज बहादुर सिंह का कहना है कि उसके पास पाखंडियों को देने के लिए इतनी बड़ी रकम नहीं थी। उसने व उसके परिवार वालों ने अपना मकान बेचने का फैसला किया। इसके बाद राज बहादुर सिंह ने 10 लाख रुपये में अपना मकान बेचकर बाबा व उसके साथियों को दे दिये और खुद किराये के मकान में शिफ्ट हो गया।

10 लाख के बाद 6 लाख रुपये और वसूले
दस लाख रुपये देने के बाद भी जब राज बहादुर सिंह की समस्या दूर नहीं हुई तो उसने आरोपियों से सम्पर्क किया। इस पर आरोपियों ने राज बहादुर सिंह से फिर से 6 लाख रुपये की मांग की। राज बहादुर सिंह ने किसी तरह फिर से 6 लाख रुपये की व्यवस्था करके आरोपियों को दिये। 16 लाख रुपये देने के बावजूद भी राज बहादुर सिंह की कोई दिक्कत दूर नहीं हुई।

तीसरी बार रुपये की मांग पर पीडि़त ने किया इनकार
16 लाख देने के बाद आरोपी राजबहादुर सिंह से और रुपये की मांग करने लगा। राज बहादुर सिंह ने अब रुपये दे पाने में असमर्थता जतायी। इस पर आरोपियों ने राज बहादुर सिंह को धमकी दी कि अगर उसने रुपये नहीं दिये तो वह तंत्रमंत्र से उसके परिवार को खत्म कर देंगे।

घर में घुसकर पीडि़त के साथ की मारपीट
पीडि़त राज बहादुर सिंह का कहना है कि कुछ माह पहले आरोपी उसके किराये के घर तक पहुंच गये और फिर से 62 हजार रुपये की मांग की। पीडि़त ने जब इस बात का विरोध किया तो आरोपियों ने उसके साथ मारपीट की और धमकी देते हुए चले गये।

पुलिस से की शिकायत पर नहीं हुई कार्रवाई
अपने साथ हुई लाखों की ठगी के मामले में पीडि़त ने आलमबाग पुलिस से मिलकर इस बात की शिकायत की थी। शिकायत के बाद भी आलमबाग पुलिस ने पीडि़त की कोई मदद नहीं की। इसके बाद पीडि़त ने कोर्ट की शरण ली। अब कोर्ट के आदेश पर मुन्ना सिंह, प्रदीप, लाखन, दिलीप सिंह और सुरेश सिंह के खिलाफ आलमबाग पुलिस ने अमानत में खयानत और धमकाने की रिपोर्ट दर्ज करायी है।

You May Also Like

English News