शिक्षिका का छात्र के घर अपने मोबाइल से फोन करना बना अभिशाप…..

कक्षा सात के छात्र के घर अपने मोबाइल से कॉल करना शिक्षिका के लिए अभिशाप बन गया। श‌िक्ष‌िका ने तो छात्र की भलाई के ल‌िए उसके परिजनों से कॉन्टेक्ट क‌िया था ले‌क‌िन इसके बदले उसे ये स‌िला म‌िलेगा इसकी कल्पना तक नहीं की थी… शिक्षिका का छात्र के घर अपने मोबाइल से फोन करना बना अभिशाप.....

#Video: बलात्कार के आरोप में फंसे मोदी, खुलेआम बंधते थे तारीफों के पुल, देखिए वीडियो!

दरअसल, छात्र के पर‌िजनों ने श‌िक्ष‌िका का मोबाइल नंबर शोहदों को बांट दिया। असल मुसीबत से सामना तो तब हुआ जब शोहदों ने शिक्षिका का अपहरण करने का प्रयास किया। इस घटना के बाद श‌िक्ष‌िका दहशत में आ गई और इस संबंध में सीधे पुल‌िस की मदद लेना सही समझा। श‌िक्ष‌िका ने एसपी से इसकी श‌िकायत की। इसके बाद रिपोर्टिंग सेल में रिपोर्ट दर्ज करा दी गई।

तहरीर के मुताबिक यूपी में फर्रुखाबाद ज‌िले के शहर क्षेत्र के एक मोहल्ला निवासी शिक्षिका वर्ष 2016 में एक स्कूल में शिक्षण कार्य करती थी। इस दौरान एक छात्र ने अपनी तबियत खराब होने की बात कहकर अपने घर के नंबर पर उससे फोन करा दिया। इसके बाद शिक्षिका के नंबर पर शोहदों के फोन आने शुरू हो गए। शिक्षिका ने जब अपना नंबर सर्विलांस से चेक कराया तो गुंजन विहार कालोनी निवासी दीपक सक्सेना, अनिल सक्सेना, सातनपुर निवासी माहतिया के नाम सामने आए। इस पर उसने अपना सिम बदल दिया।

आरोप है कि सिम बदलने पर उक्त लोगों ने उसका रास्ता रोक लिया। उसने घटना की जानकारी अपने परिवारीजनों को दी तो उसे शिक्षण कार्य से रोक दिया। 24 अगस्त को वह सेंट्रल जेल चौराहा स्थित स्टेट बैंक से पैसे निकालने साइकिल से गई थी। लौटते समय दीपक व माहतिया ने उसकी साइकिल में बाइक से टक्कर मार दी। इससे वह सड़क पर गिर पड़ी। बाइक पर एक और व्यक्ति बैठा था। आरोप है कि माहतिया जबरन उसे बाइक पर बैठाने लगा। दीपक ने उसकी कनपटी पर तमंचा लगा दिया। शोरशराबा सुनकर आसपास के लोग दौड़ पड़े तो वह लोग मौका मिलते ही उठा ले जाने की धमकी देकर भाग गए। एसपी दयानंद मिश्रा ने दोषियों पर सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

You May Also Like

English News