कश्मीर में ऑपरेशन ऑल आउट के डर से आतंकियों ने छोड़ा मोबाइल फोन करने का इस्तेमाल

आतंकी संगठनों को अब मोबाइल फोन से डर लगने लगा है। पिछले कुछ समय से घाटी में आतंकियों को सुरक्षा बलों ने काफी संख्या में ढेर किया है। कई आतंकी घुसपैठ असफल हुई। आतंकियों के कई हमलों को भी रोका। इन सबके पीछे मोबाइल फोन को कारण माना गया है।
 कश्मीर में ऑपरेशन ऑल आउट के डर से आतंकियों ने छोड़ा मोबाइल फोन करने का इस्तेमाल
यहीं कारण है कि घाटी में हिजबुल मुजाहिदीन के आपरेशनल कमांडर रियाज नैकू ने आतंकियों को अपना मोबाइल फोन सौंपने को कहा है। ऐसा काफी जगहों पर शुरू हो गया है। आतंकियों ने अपने मोबाइल फोन जमा कराने शुरू कर दिए हैं। आतंकियों को लगता है कि उनके मोबाइल फोन की वजह से वह लोग सुरक्षा एजेंसियों के हत्थे चढ़ जाते हैं।

बड़ी खबर: अगर लखनऊ में चाहते हैं फ्लैट, तो जानिए रज‌िस्ट्रेशन साइट सह‌ित पूरी ड‌िटेल….

इस वजह से उनकी मौत हो रही है। दरअसल, पुलिस की ओर से भी स्मार्ट सिस्टम का इस्तेमाल किया जा रहा है। इसके तहत पुलिस आतंकियों का पता लगा लेती है और उन पर कार्रवाई करती है। सेना और खुफिया एजेंसियां भी इस पर नजर रख रही हैं। इस साल कश्मीर में 100 से अधिक आतंकियों को सेना और अन्य सुरक्षा एजेंसियों ने मौत के घाट उतार दिया है। इससे आतंकियों के खेमे में खलबली मची हुई है। 
 
 

You May Also Like

English News