Thagi: दुबई में नौकरी दिलाने के नाम पर लखनऊ में लाखों की ठगी!

लखनऊ: दुबई में नौकरी दिलाने के नाम पर गोमतीनगर इलाके में स्थित एक कम्पनी ने दर्जनों बेरोजगारों युवकों से लाखों की ठगी का अंजाम दिया। कम्पनी के लोगों ने युवक को फर्जी वीजा थमा दिया और फिर कम्पनी बंद कर फरार हो गये। ठगी का शिकार हुए एक युवक ने अब इस मामले में उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के गोमतीनगर थाने में एफआईआर दर्ज करायी है।


बाजारखाला के भदेवा इलाके में अबूजर अपने परिवार के साथ रहता है। उसने बताया कि कुछ माह पहले उसने पेपर और नेट पर एक कम्पनी कृष्णा सेलूशन एण्ड सर्विस का एड देखा। यह कम्पनी दुबई में नौकरी दिलाने का काम करती है। इस पर अबूजर और उसके एक रिश्तेदार उन्नाव निवासी मिर्जा निजाम कम्पनी के विरामखण्ड स्थित दफ्तर पहुंचे।

वहां पर उनकी मुलाकात कम्पनी के मालिक अजीत सिंह उर्फ वीर सिंह से हुई। अजीत सिंह ने दोनों को दुबई में एसी मैकेनिक की नौकरी दिलाने की बात कही। नौकरी के बदल में अजीत ने दोनों से 55-55 हजार रुपये की मांग रखी।

पहले किश्त में दोनों ने करीब 30 हजार रुपये जमा कर दिये। इसके बाद दोनों का हुसैनगंज इलाके में मेडिकल कराया गया। कुछ दिन के बाद दोनों को एग्रीमेंट लेटर साइन करने के लिए कम्पनी बुलाया। वह लोग कम्पनी के दफ्तर पहुंचे। एग्रीमेंट लेटर साइन करने से पहले दोनों से 25 हजार रुपये की मांग की गयी। एग्रीमेंट लेटर पढ़ दोनों को यकीन हो गया कि उनकी नौकरी लग गयी है।

वीजा थमा कर गायब हो गयी कम्पनी
पीडि़त अबूजर ने बताया कि एग्रीमेंट लेटर साइन करने के बाद उन लोगों ने कम्पनी को 25 हजार रुपये और दे दिये। इसके बाद कम्पनी ने कुछ दिनों के बाद वीजा और टिकट देने की बात कही। कई दिन गुजर जाने के बाद भी उन लोगों को वीजा नहीं मिला। इस पर वह लोग कम्पनी के दफ्तर पहुंचे तो उन लोगों को इधर-उधर की बात कहकर टाल दिया गया। अबूजर ने बताया कि चंद रोज पहले कम्पनी ने फोन कर इस बात की जानकारी दी कि उनका वीजा आ गया। इस पर वह लोग कम्पनी के दफ्तर पहुंचे और वहां से अपना वीजा और पासपोर्ट लिया।

वीजा चेक कराने पर निकला फर्जी
ठगी का शिकार हुए अबूजर ने बताया कि कम्पनी से वीजा मिले के बाद उन लोगों ने जब वीजा को चेक कराया तो पता चला कि वीजा फर्जी है। यह बात सुन उनके पैरों तले जमीन खिसक गयी। वह लोग विरामखण्ड सिथत कम्पनी के दफ्तर पहुंचे तो वहां ताला लगा था। उन लोगों ने आसपास के लोगों से कम्पनी के बारे में पता किया पता तो चला कि कम्पनी बंद हो गयी है।

पीडि़त की शिकायत पर गोमतीनगर थाने में रिपोर्ट दर्ज
अपने साथ हुई हजारों की इस ठगी के संबंध में अबूजर शिकायत लेकर गोमतीनगर पुलिस के पास पहुंचा। फिलहाल पुलिस ने इस मामले में अबूजर की तहरीर पर कम्पनी के मालिक के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है।

40 से 50 लोगों को लगाया चूना
नौकरी के नाम पर ठगी का शिकार हुए अबूजर ने बताया कि कम्पनी ने करीब 40 से 50 बेरोजगार युवकों को लाखों रुपये का चूना लगा है। उसने बताया कि कुछ युवक के पासपोर्ट तक कम्पनी के पास जमा है। अबूजर ने अपने जानने वाले उन्नाव निवासी अभिषेक, फतेहपुर निवासी शैलेश और उन्नाव निवासी फुरकान का नाम बताया। उसका कहना है कि बाकी लोगों का नाम व पता वह नहीं जानता है।

You May Also Like

English News