Train Accident: यूपी में बड़ा रेल हादसे, #NewFarakkaExpress डीरेल, अब तक 7 की मौत, कई घायल, देखें तस्वीरें

रायबरेली: उत्तर प्रदेश में बड़ा रेल हादसा हुआ है। #Raebareli  के हरचंदपुर इलाके में #NewFarakkaExpress डिरेल हो गई है। ट्रेन के इंजन सहित 9 डिब्बे पटरी से से उतर गए। हादसे में अब तक 7 यात्रियों की मौत की खबर है। अभी मरने वालों की संख्या में इजाफा हो सकता है। 40 से ज्यादा यात्री घायल बताए जा रहे हैं। घायलों को अस्पताल ले जाया गया है। मौके पर राहत और बचाव का कार्य शुरू हो गया है।


जानकारी के अनुसारए यह ट्रेन मालदा से रायबरेली होते हुए दिल्ली जा रही थी। रायबरेली से 6 किलोमीटर दूर हरचंदपुर रेलवे स्टेशन पर न्यू फरक्का एक्सप्रेस सुबह करीब साढ़े चार बजे डिरेल हो गई। ट्रेन के इंजन सहित 9 डिब्बे पटरी से उतर गए। बताया जा रहा है कि ट्रेन के डिब्बे लाइन से उछलकर दूर जा गिरे। हादसे में अब तक 7 लोगों की मौत हो चुकी है, सभी 40 लोग घायल हुए।

अचानक इस हादसे के बाद ट्रेन में सवार लोगों ने अफरा-तफरी मच गयी। लोग अपनी जान बचाने के लिए ट्रेन से कूदने लगे। कूदने के दौरान भी कुछ लोग घायल हो गये। हादसे की सूचना मिलते ही मौके लखनऊ और वाराणसी से एनडीआरएफ की टीमे मौके पर पहुंच चुकी हैं। ग्रामीण और रेलवे स्टेशन कर्मचारी यात्रियों को बचाने में जुटे हैं। रायबरेली के जिला अधिकारी और पुलिस अधीक्षक मौके पर पहुंच गए हैं। इनके अलावा रेलवे के एडीआरएम काजी मेराज घटनास्थल पर पहुंचे हैं। बताया जा रहा है कि इंजन के पीछे लगे डिब्बे एक के बाद एक पलटते चले गए।

कुल 8 बोगियां क्षतिग्रस्त हुई हैं। इसमें स्लीपर भी शामिल हैं। हादसे के बाद ट्रेन यातायात प्रभावित हो गया है। एडीआरएम काजी मेराज का कहना है कि 4 बोगियां पलटी हैं। हादसे में 7 लोगों की मौत हुई है। घायलों की संख्या भी 40 के करीब है। उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने हादसे पर नजर बना रखी है। उन्होंने जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक और एनडीआरएफ को हरसभंव मदद पहुंचाने का निर्देश दिया है।

सीएम योगी ने डीडीपी ओपी सिंह से भी बात की है। घायलों को जल्द मदद दिलाने के निर्देश दिए हैं। वहीं सीएम योगी ने रायबरेली ट्रेन हादसे में मारे गए लोगों के परिवारों के लिए 2-2 लाख रुपये के मुआवजे की घोषणा की है।

साथ ही घायलों के लिए 50-50 हजार रुपये का मुआवजे का एलान किया है। घटनास्थल पर ड्रोन कैमरे से नज़र रखी जा रही है। डिब्बों को काटने से कटर मशीन का भी प्रयोग किया जा रहा है। वहीं हादसे की सूचना मिलते ही मौके पर आतंकी निरोध दस्ता यानि एटीएस भी पहुंच गयी। फिलहाल एटीएस टीम छानबीन में लगी है। अभी तक इस बात का पता नहीं चल सका है कि यह हादस क्यों और कैसे हुआ?

You May Also Like

English News