UP निकाय चुनाव: BJP के लिए गुजरात में साबित हो सकती है ‘तुरुप का इक्का’

उत्तर प्रदेश निकाय चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की भारी जीत गुजरात विधानसभा चुनाव में पार्टी के लिए एक बड़े बूस्टर का काम कर सकती है। भाजपा ने यहां 16 में से 14 निगमों में जीत दर्ज की है, जिसने गुजरात में कांग्रेस की मुश्किलें और बढ़ा दी है। UP निकाय चुनाव: BJP के लिए गुजरात में साबित हो सकती है 'तुरुप का इक्का'स्मृति ने कसा तंज, कहा- सवाल तो पूछना सीख ही गए राहुल गांधी

भाजपा की निकाय चुनाव में जीत का दौर लगातार दो सालों से जारी है। इससे पहले महाराष्ट्र, राजस्थान, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, हिमाचल प्रदेश, दिल्ली और ओडिशा में भी भाजपा ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है।

इस जीत के साथ ही पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला और कहा कि कांग्रेस की ओर से गुजरात में कहा जा रहा है कांग्रेस आवे छे, लेकिन अमेठी में राहुल गांधी की मजबूत पकड़ कमजोर पड़ रही है।

पीएम मोदी ने जीत पर ट्वीट कर लिखा कि विकास की एक बार फिर जीत हुई है। मैं इसके लिए यूपी की जनता का शुक्रिया अदा करता हूं। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जो लोग गुजरात में जीतने के सपने देख रहे हैं वे अमेठी में हार गए। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि ये जीत साफ जाहिर करती है लोगों को जीएसटी पर भरोसा है।

दरअसल, गुजरात विधानसभा चुनाव की वजह से यूपी के निकाय चुनाव काफी अहम बन गए थे और ऐसा किसी ने सोचा भी नहीं था कि यूपी के निकाय चुनावों को इतनी अहमियत दी जा सकती है। निकाय चुनाव में अखिलेश यादव की लोकप्रियता को भी खासा नुकसान हुआ है वहीं बसपा फिर भी वापसी करती हुई दिखी है। 

दूसरी ओर यूपी की सत्ता पर भारी बहुमत से काबिज होने वाली योगी सरकार के जीत की लहर पर भी नजरें टिकी हुई थीं। नत्तीजों से यह भी साफ हो गया है कि आम जनता योगी सरकार के कामकाज से खुश है या नहीं है।

You May Also Like

English News