Video: बाढ़-सूखे के पीछे की वजह पर सोचने को मजबूर करती है ‘कड़वी हवा’…

बॉलीवुड अपनी मसाला फिल्मों को लेकर हमेशा चर्चाएं बटोरता है, पर बीच में कुछेक ऐसी फिल्में भी आती हैं, जो गंभीर विषयों पर विमर्श छेड़ देती हैं। मौजूदा समय में दुनिया की सबसे बड़ी समस्या के तौर पर ग्लोबल वार्मिंग सामने आ रही है। इससे होने वाले बदलावों के बाद आने वाली तबाहियों पर सारी दुनिया चिंतित है। इसी कड़ी में बॉलीवुड की तरफ से गंभीर फिल्म आई है। जानें, किस विषय को लेकर आई है ‘कड़वी हवा’…Video: बाढ़-सूखे के पीछे की वजह पर सोचने को मजबूर करती है 'कड़वी हवा'...अभी-अभी: इस मशहूर एक्ट्रेस के साथ हुआ गलत काम, चुप रहने के लिए मिला करोड़ों का ऑफर

‘कड़वी हवा’ एक ऐसी फिल्म साबित होने जा रही है, जो क्लाइमेट चेंज जैसे गंभीर विषय पर बेहद संजीदा बहस को उठाती है। इस फिल्म में बुंदेलखंड के इलाके को बेस बनाया गया है, पर इसका प्रभाव बेहद बड़ा है। ‘कड़वी हवा’ का डायरेक्शन नील माधव पांडा ने किया है, जो ‘आई एम कलाम’ जैसी बेहद चर्चित और गंभीर फिल्म बना चुके हैं। जानें, ‘कड़वी हवा’ के बारे में और भी बहुत कुछ…

नील माधव पांडा की ‘कड़वी हवा’ में संजय मिश्रा लीड रोल में हैं, उनके साथ रणवीर शौरी भी हैं। इस फिल्म का मेन प्लॉट बुंदेलखंड का सूखा है और उसके पीछे की हकीकत। जानें, किस तरह का रोल कर रहे हैं संजय मिश्रा…

‘कड़वी हवा’ में संजय मिश्रा एक किसान के रोल में हैं। जो कर्ज से दबा हुआ है। ये फिल्म कर्ज की वजह से आत्महत्या करने वाले किसानों के दर्द को भी बाखूबी दिखाने में सफल होती दिख रही है। कम से कम ‘कड़वी हवा’ के ट्रेलर से तो ऐसा ही लग रहा है। आगे जानें, रणवीर शौरी का क्या है रोल और देखें ‘कड़वी हवा’ का ट्रेलर…

‘कड़वी हवा’ में रणवीर शौरी एक ऐसे इंसान का रोल कर रहे हैं, जो ओडिशा से विस्थापित होकर आया है। एक तरफ ओडिशा में पानी का होना ही तबाही की वजह है, तो दूसरी तरफ बुंदेलखंड में पानी का न होना।

देखें: ट्रेलर…

loading...

You May Also Like

English News