बिना पूछे फूल तोड़े तो बहू ने बुजुर्ग सास को जमकर पीटा,

एक महिला ने छोटी-सी गलती पर अपनी बुजुर्ग साल को बुरी तरह पीटा। 75 साल की उस बुजुर्ग सास की गलती केवल इतनी थी कि उसने बिना बहू से पूछे फूल तोड़ लिए थे। बहू के इस बेरहमी से पीटने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। इस पिटाई का वीडियो एक पड़ोसी ने बना दिया और पुलिस को न बुलाते हुए इस वीडियो को सोशल मीडिया पर डाल दिया।पुलिस के पकड़ में ऐसे आई बहू बंसद्रोनी पुलिस स्टेशन की एसजीटी शुभ्रा चक्रोबर्ती ने भी फेसबुक पर यह वीडियो देखा। इस मामले को वह ऑफिसर-इन-चार्ज के संज्ञान में लाई। यह फेसबुक अकाउंट रांतु सेनगुप्ता का था जिन्हें बुलाते हुए पुलिस ने उनसे पूरे मामले की जानकारी देने को कहा। उनसे कहा गया कि उनकी पहचान छुपाकर रखी जाएगी। रांतु से जानकारी लेकर बंसद्रोनी पुलिस मामले की जांच में जुट गई। फेसबुक अकाउंट से लेकर सेनगुप्ता की तलाश तक पुलिस को कई बार असफलता हाथ लगी। सेनगुप्ता ने बताया कि उन्हें वीडियो एक डॉक्टर तरुण चक्रवर्ती से मिला है। बाद में डॉ. तरुण चक्रवर्ती ने बताया कि उन्हें यह वीडियो कोलकाता की मेडिकल प्रतिनिधि सुमन ने भेजा है। सुमन से संपर्क करने में हुई मुश्किलों के बावजूद पुलिस को सफलता हाथ लगी और पुलिस पीड़ित बुजुर्ग तक जा पहुंची और बहू को हिरासत में लिया।

पुलिस ने बताया, ‘पीड़ित की पहचान कोलकाता की रहने वाली 75 साल की जशोदा पॉल के रूप में की गई। उन्हें अपनी बहू 40 साल की स्वप्ना पॉल ने पीटा था। जशोदा पॉल अम्नेशिया की मरीज हैं। जांच में पता चला कि उनकी बहू उनसे मारपीट करती रही है। अब स्वप्ना पॉल हमारी हिरासत में है।’

स्वप्ना अपनी सास को हमेशा ही पिटती रहती थी। लेकिन किसी ने इसकी शिकायत नहीं की और बुजुर्ग महिला में इतनी हिम्मत नहीं थी कि वह खुद पुलिस स्टेशन तक जा पातीं। घर में शांति रहे इसलिए जशोदा के बेटे ने भी कुछ नहीं किया।

पुलिस के पकड़ में ऐसे आई बहू

बंसद्रोनी पुलिस स्टेशन की एसजीटी शुभ्रा चक्रोबर्ती ने भी फेसबुक पर यह वीडियो देखा। इस मामले को वह ऑफिसर-इन-चार्ज के संज्ञान में लाई। यह फेसबुक अकाउंट रांतु सेनगुप्ता का था जिन्हें बुलाते हुए पुलिस ने उनसे पूरे मामले की जानकारी देने को कहा। उनसे कहा गया कि उनकी पहचान छुपाकर रखी जाएगी। रांतु से जानकारी लेकर बंसद्रोनी पुलिस मामले की जांच में जुट गई। फेसबुक अकाउंट से लेकर सेनगुप्ता की तलाश तक पुलिस को कई बार असफलता हाथ लगी। सेनगुप्ता ने बताया कि उन्हें वीडियो एक डॉक्टर तरुण चक्रवर्ती से मिला है। बाद में डॉ. तरुण चक्रवर्ती ने बताया कि उन्हें यह वीडियो कोलकाता की मेडिकल प्रतिनिधि सुमन ने भेजा है। सुमन से संपर्क करने में हुई मुश्किलों के बावजूद पुलिस को सफलता हाथ लगी और पुलिस पीड़ित बुजुर्ग तक जा पहुंची और बहू को हिरासत में लिया।

You May Also Like

English News