Violence: दलित आंदोलन हुआ उग्र, कई राज्यों में हिंसा, देखिए तस्वीरें!

नई दिल्ली: एससी, एसटी एक्ट में बदलाव के विरोध में लोग सड़कों पर उतर आए हैं। दलितों और आदिवासियों के उत्पीडऩ में सीधे गिरफ्तारी और केस दर्ज कराने पर रोक लगाने के फैसले के खिलाफ दलित संगठनों ने भारत बंद का आह्वाहन किया है। इसका असर उत्तर प्रदेश, पंजाब, बिहार व ओडिशा सहित देश के कई राज्यों में देखने को मिल रहा है।

मेरठ में प्रदर्शनकारियों ने एक पुलिस चौकी फूंक दी है। खबर सामने आ रही है कि मेरठ के विधायक के घर पर भी प्रदर्शनकारियों ने हमला किया है। पंजाब पुलिस के आईजी लॉ एण्ड ऑर्डर मकरंद दुष्कर ने बताया कि ग्वालियर और मुरैना में कुल 4 लोगों की मौत हुई है।

ग्वालियर में 19 लोग घायल हो गए हैं जिसमे 2 की हालत गंभीर है। ग्वालियर में कल सुबह 6 बजे तक के लिए इंटरनेट सेवाओं को रोक दिया गया है। वहीं यूपी के मेरठ में हिंसा बढ़ती जा रही है पुलिस चौकी फूंकने के बाद प्रदर्शनकारियों ने विधायक के घर पर भी हमला किया है। दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता दीपेंद्र पाठक ने कहा कि दिल्ली पुलिस पूरी तरह अलर्ट है।

हमने कई जगहों पर भारी संख्या में पुलिस की तैनाती की है। कानून का पालन करने के लिए जो भी संभव होगाए उसे हम करेंगे। केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने कहा कि अगर कोई प्रदर्शन करता है तो यह समझ में आता है लेकिन विपक्ष इस मामले में राजनीति क्यों खेल रहा है। कांग्रेस ने सत्ता में रहते हुए बीआर आंबेडकर को भारत रत्न नहीं दिया और अब इस तरह व्यवहार कर रही है जैसे उनकी समर्थक हो।

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि हमने सुप्रीम कोर्ट में समीक्षा याचिका दायर की है। उन्होंने सभी राजनीतिक पार्टियों से अपील करते हुए कहा कि वह शांति बनाए रखें और हिंसा को न भड़कने दें। उत्तराखंड के देहरादून में प्रदर्शनकारियों द्वारा जबरदस्ती दुकानों को बंद कराया जा रहा है। मध्य प्रदेश के मुरैना में हिंसक प्रदर्शन के दौरान एक शख्स की मौत हो गई। इलाके में कफ्र्यू लगा दिया गया है।

जयपुर में प्रदर्शनकारियों के पथराव से दुकानें क्षतिग्रस्त हो गयी। मध्य प्रदेश के भिंड में हिंसक प्रदर्शन के बाद धारा 144 लागू कर दी गयी है। मध्य प्रदेश के मुरैना में आगजनी व रेलवे ट्रैक किया जाम किया गया। जयपुर में प्रदर्शन कर रहे लोगों ने रोकी ट्रेन। रांची में प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच झड़प।

आगरा समेत ब्रज में लोग सड़कों पर उतर आए हैं। प्रदर्शन हिंसक हो गया है। शहर में जगह.जगह रोड जाम कर दिया गया है। पुलिस ने हवाई फायरिंग की। प्रदर्शनकारियों ने मेरठ के शोभापुर पुलिस चौकी को किया आग के हवाले, जगह.जगह चक्का जाम। राजस्थान के बाड़मेर में हिंसक प्रदर्शन।

दिल्ली में दलित संगठनों ने किया प्रदर्शनए मंडी हाउस में जुटे हजारों प्रदर्शनकारी। मेरठ में प्रदर्शनकारियों ने कई गाडिय़ों में तोडफ़ोड़ की। पंजाब के पटियाला में भी बंद का व्यापक असर देखा जा रहा है। राजस्थान के बाड़मेर में हिंसक विरोध प्रदर्शन की खबर है।

मीडिया रिपोट्र्स के मुताबिक करणी सेना और दलित संगठनों के बीच पथराव हो गया जिसमें 25 लोग घायल हो गए। राजस्थान के भारतपुर में बच्चे और महिलाएं सड़कों पर लाठी.डंडों के साथ प्रदर्शन करने के लिए उतरेए नाराज महिलाओं ने ट्रेन भी रोकी।

उत्तर प्रदेश के आगरा में भी प्रदर्शनकारी सड़कों पर उतरेए सड़क की जाम। बिहार के जहानाबाद में भी बंद समर्थकों ने एनएच 83 और एनएच 110 को जाम कर दिया साथ ही बंद समर्थकों ने पटना गया रेल खंड पर पैसेंजर ट्रेन को भी रोक दिया है। बिहार विभिन्न दलित संगठनों ने एससी एसटी एक्ट में बदलाव को लेकर प्रदर्शन किया।

बिहार के आरा में ट्रेन रोकी गई। साथ ही सुपौलए दरभंगाए मोतिहारी और अररिया में भी प्रदर्शन की खबर है। पंजाब भारत बंद के तहत सोमवार को 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं रद्द कर दी गई हैं। ओडिशारू सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ ओडिशा के संबलपुर में प्रदर्शनकारियों ने ट्रेन रोकी

पिछले सप्ताह केंद्र की राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के दलित व आदिवासी सांसद, लोकतांत्रिक जनता पार्टी अध्यक्ष रामविलास पासवान और केंद्रीय सामाजिक न्याय मुंत्री थावरचंद गहलौत के नेतृत्व में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मिले थे और विरोध जताया था। गहलौत ने शुक्रवार को इस मुद्दे पर विरोध जता रहे सभी संगठनों से भी अपना प्रदर्शन वापस लेने की अपील की थी। राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग और राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग ने भी केंद्र सरकार से पुनर्विचार याचिका दायर करने का आग्रह किया था।

You May Also Like

English News