Violence: शनिवार को एक बार फिर कासगंज में भड़की हिंसा, तोडफ़ोड़ और आगजनी, हालात गंभीर!

कासगंज: उत्तर प्रदेश के कासगंज जनपद में गणतंत्र दिवस के मौके पर तिरंगा यात्रा को लेकर हुई हिंसा शनिवार को बार भी भड़क उठी। शुक्रवार को हिंसा में मारे गये युवक चंदन के अंतिम संस्कार के बाद आज लोगों ने दुकानों को निशाना बनाते हुए आग के हवाले कर दिया। देखते ही देखते एक बार फिर पूरे इलाके का माहौल गरमा गया।


शुक्रवार को हुई हिंसा ने चंदन नाम के एक युवक की मौत हो गयी थी। इस घटना से पूरे इलाके में कई जगहों पर पथराव, आगजनी और तोडफ़ोड़ की गयी थी। सांसद राजवीर सिंह ने वैश्य सभा के जिलाध्यक्ष की सीएम योगी आदित्यनाथ से बात कराई।

शनिवार को चंदन के अंतिम संस्कार से लौटते ही भीड़ उग्र हो गई। जुलूस के रूप में लौटते लोगों ने आसपास के खोखों में आग लगा दी। रास्ते में सब्जी के ठेलों को भी पलट दिया। शहर में भीड़ दुकानों में तोडफ़ोड़ करते हुए आगे बढ़ रही है। मौके पर प्रशासन और पुलिस हालात पर काबू पाने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन स्थिति फिलहाल नियंत्रण से बाहर है।

आगरा जोन के एडीजी अजय आनंद, आईजी अलीगढ़ डा.संजीव गुप्ता, कमिश्नर अलीगढ़ सुभाष चंद्र शर्मा मौके पर कैंप किए हुए हैं। पीएसी और आएएफ भीड़ को नियंत्रित करने का प्रयास कर रही हैं। पुलिस ने मौके से कुछ लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया है।

नगर में आज भी बाजार बंद हैं। स्थानीय लोग अनहोनी की आशंकाओं से परेशान हैं। अफवाहें भी चरम पर फैल रहीं हैं। ख्यमंत्री ने भाजपा के जिलाध्यक्ष सहित विधायक और अन्य पार्टी नेताओं को फोन पर शांति बनाए रखने के निर्देश दिए हैं। पुलिस ने मिश्रित आबादी वाले इलाकों और संवेदनशील इलाकों में सतर्कता बढ़ा दी है।

You May Also Like

English News