Wanted: लखनऊ पुलिस को इस संदिग्ध की है तलाश, सूचना देने वाले को मिलेगा इनाम!

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी कैसरबाग इलाके में एक प्रतिष्ठिïत प्ले हाउस से कारोबारी के बेटे को लेने के लिए एक संदिग्ध पहुंच गया। आरोपी कारोबारी का बड़ा भाई बनकर पहुंचा था। स्कूल की आया ने सतर्कता दिखाते हुए बच्चे को उसको नहीं दिया। कुछ देर के बाद जब बच्चे की मां स्कूल पहुंची तो आया ने उसको सारी बात बतायी। इस पर बच्चे की मां ने बताया कि उनके पति का कोई भाई ही नहीं है। इसके बाद कारोबारी ने इस संबंध में कैसरबाग कोतवाली में अपहरण के प्रयास की रिपोर्ट दर्ज करायी है। स्कूल के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे में आरोपी की फोटो कैद हो गयी। अब पुलिस ने संदिग्ध की फोटो जारी करते हुए उसकी सूचना देने वाले को इनाम देने का ऐलान किया है।


एसपी पश्चिम विकास चंद्र त्रिपाठी ने बताया कि नाका इलाके में नाका के मोतीनगर इलाके में कारोबारी राहुल गुप्ता अपने परिवार के साथ रहते हैं। उसका ढाई साल का बेटा दर्श गुप्ता कैसरबाग के गौतमबुद्घ रोड स्थित एक प्रतिष्ठिïत प्ले हाउस में पढ़ता है। बताया जाता है कि बीते 11 अप्रैल की सुबह उनका बेटा रोज की तरह अपने स्कूल गया था।

करीब 10.30 बजे एक व्यक्ति दर्श के स्कूल पहुंचा और वहां मौजूद आया से बताया कि वह दर्श का ताऊ है और उसको लेने के लिए आया है। उक्त व्यक्ति देखने में कुछ संदिग्ध लग रहा था तो आया ने दर्श को उसके साथ भेजने से साफ इनकार कर दिया। इस पर वह युवक वहां से चला गया। कुछ देर के बाद कारोबारी की पत्नी बेटे को लेने के लिए स्कूल पहुंची तो आया ने उनको सारी बात बतायी।

आया की बात सुन कारोबारी की पत्नी के पैरों तले जमीन खिसक गयी। उन्होंने आया तो बताया कि उसके पति का कोई भाई ही नहीं है। इसके बाद उन्होंने इस बात की खबर अपने पति राहुल को दी। खबर पाकर राहुल भी स्कूल पहुंच गये। उन लोगों ने जब स्कूल में लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज चेक की तो उक्त संदिग्ध दिखाई पड़ा। इसके बाद राहुल ने इस संबंध में कैसरबाग कोतवाली में उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज करायी।

गुरुवार को पुलिस ने संदिग्ध का फोटो जारी किया
एसपी सिटी ने बताया कि इस मामले की गंभीरता को देखते हुए संदिग्ध की काफी तलाश की गयी पर उसका कुछ पता नहीं चल सका। इस मामले में कारोबारी के नौकरों से भी पूछताछ की गयी। कारोबारी का कहना है कि आरोपी कुछ दिन पहले उनके घर के सामने पार्क में टहलने के लिए आता था। फिलहाल काफी छानबीन के बाद जब संदिग्ध का कुछ पता नहीं चल सका तो गुरुवार को पुलिस ने संदिग्ध का फोटो जारी करते हुए उसके बारे में सूचना देने वाले को इनाम देने का ऐलान किया।

इन नम्बरों को दी जा सकती है सूचना
एसपी पश्चिम ने बताया कि संदिग्ध के बारे में कोई भी व्यक्ति इंस्पेक्टर कैसरबाग डीके उपाध्याय के मोबाइल नम्बर 9454403857 और चौकी इंचार्ज मकबूलगंज राजेश सिंह के मोबाइल नम्बर 9451978178 पर सूचना दे सकता है।

You May Also Like

English News