पसंदीदा एक्‍ट्रेस के बारे में पूछे जाने पर तेज गेंदबाज बुमराह ने दिया यह जवाब

भारतीय टीम ने श्रीलंका के खिलाफ तीसरे वनडे मैच में 6 विकेट से जीत हासिल करते हुए पांच वनडे मैचों की सीरीज में 3-0 की अजेय बढ़त बना ली है. इस जीत के साथ टीम ने वनडे सीरीज पर भी कब्‍जा तय कर लिया है और शेष दो वनडे औपचारिकता बनकर ही रह गए हैं. तीसरे वनडे मैच में टीम इंडिया की जीत में तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह और रोहित शर्मा ने अहम भूमिका निभाई.

पसंदीदा एक्‍ट्रेस के बारे में पूछे जाने पर तेज गेंदबाज बुमराह ने दिया यह जवाब

जहां बुमराह ने 27 रन देकर पांच विपक्षी बल्‍लेबाजों को पेवेलियन लौटाया, वहीं रोहित शर्मा ने नाबाद 124 रन की बेहतरीन पारी खेली. रोहित ने महेंद्र सिंह धोनी (नाबाद 67 रन) के साथ पांचवें विकेट के लिए  अविजित शतकीय साझेदारी करते हुए टीम की जीत सुनिश्चित की.मैच के बाद आए एक वीडियो में रोहित शर्मा अपने जूनियर सहयोगी बुमराह का इंटरव्‍यू करते हुए नजर आए. इसमें उन्‍होंने बुमराह से उनके क्रिकेट करियर के अलावा अन्‍य मुद्दों पर बात की.

रोहित ने जब क्रिकेट से इतर बुमराह से उनकी पसंदीदा एक्‍ट्रेस के बारे में पूछा तो टीम इंडिया के इस तेज गेंदबाज ने सवाल को बखूबी ‘डक’ कर दिया. उन्‍होंने हंसते हुए कहा, ‘मुझे नहीं लगता कि इस सवाल का मैच से कोई संबंध है.’

अभी-अभी: पीएम नरेन्द्र मोदी ने किया हैंगिंग ब्रिज का उद्घाटन, जानिए खासियत!

bcci.tv के इस वीडियो इंटरव्‍यू में रोहित ने बुमराह से पूछा कहा, श्रीलंका के अपने पहले दौरे में आप किस तरह महसूस कर रहे हैं? जवाब में बुमराह ने कहा, चैंपियंस ट्रॉफी के बाद ब्रेक मिलना अच्‍छा रहा. गौरतलब है कि श्रीलंका आई टेस्‍ट टीम का बुमराह हिस्‍सा नहीं थे. उन्‍होंने कहा, मैंने यह समय परिवार के साथ बिताया. इससे अपने को तरोताजा महसूस किया. उसके बाद क्रिकेट के मैदान पर लौटना अच्‍छा रहा. श्रीलंका की कंडीशंस के बारे में बुमराह ने कहा, मैच में विकेट कुछ धीमा था. जब हमने नई गेंद से बॉलिंग शुरू की तो विकेट पर गेंद सीम से मूव भी कर रही थीं. मैंने अच्‍छी लाइन-लेंथ पर गेंदबाजी की और अपने वेरिएशंस पर ध्‍यान दिया. इसी कारण मैच मेरे लिए अच्‍छा रहा.

एक अन्‍य सवाल के जवाब में बुमराह ने कहा कि किसी एक मैच या दिन आप हर तरह के प्रयोग नहीं कर सकते. ज्‍यादा एक्‍सपेरिमेंट करना कई बार नुकसानदेह साबित होता है. ऐसे में मेरी कोशिश होती है कि दो-तीन चीजों पर अपना ध्‍यान केंद्रित रखूं. जब आप देश के लिए खेलते हैं तो स्‍वाभाविक रूप से दबाव होता है. ऐसे में आपको अपनी जिम्‍मेदारी का लुत्‍फ उठाना आना चाहिए. मेरी कोशिश ऐसा ही करने की होती है.

बॉलिंग कोच भरत अरुण के टीम पर प्रभाव के बारे में 23 वर्षीय बुमराह ने कहा, ‘वे बेहद मददगार साबित हुए हैं. मैं अंडर-19 एनसीए कैंप में उनके साथ रह चुका हूं. इसलिए वे मेरी गेंदबाजी के तरीके से वाकिफ हैं. गेंदबाजी के बारे में उनसे बात करना हमेशा फायदेमंद होता है.’

You May Also Like

English News