Breaking News

अपने हड्डियों में ताकत बनाए रखने के लिए रोज़ करें 5 आसन

हड्डियां हमारी शारीर का एक महत्वपूर्ण अंग हैं इसलिए बचपन और किशोरावस्था के दौरान मजबूत और स्वस्थ हड्डियों का निर्माण करना महत्वपूर्ण है। हड्डियां संरचना प्रदान करके, फेफड़ों और हृदय जैसे अंगों की रक्षा करके, मांसपेशियों को सहारा देकर और कैल्शियम का भंडारण करके हमारे स्वास्थ्य में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। 30 साल की उम्र के बाद, हड्डियों के घनत्व में मामूली कमी आएगी लेकिन आप वयस्कता के दौरान अपने हड्डियों के स्वास्थ्य की रक्षा के लिए निवारक कदम उठा सकते हैं।

योग आपके शरीर के वजन का उपयोग विभिन्न आसनों को करने के लिए करता है जो हड्डियों में ताकत बनाए रखने और बनाने में मदद करते हैं। निम्नलिखित आसनों को अपने नियमित फिटनेस शासन के हिस्से के रूप में शामिल करें, प्रत्येक आसन को 30 सेकंड तक पकड़कर, 3 बार तक दोहराएं। इसके लाभों का अनुभव करने के लिए 4-6 महीने के लिए प्रतिबद्ध अभ्यास का पालन करें।

 

jagran

1. दंडासन

• बैठने की स्थिति में शुरू करें और अपने पैरों को आगे कि ओर फैलाएं।

• अपनी एड़ी को एक साथ लाते हुए अपने पैरों को जोड़ लें।

• अपनी पीठ सीधी रखें।

• अपने श्रोणि, जांघों और पिंडलियों की मांसपेशियों को कस लें।

• अपनी रीढ़ की हड्डी को सहारा देने के लिए अपनी हथेलियों को अपने कूल्हों के पास फर्श पर रखें

• अपने कंधों को आराम दें

• इस आसन को ३० सेकंड तक रुकें।

jagran

2. मल आसन

आसन का गठन

• अपने शरीर के किनारों पर अपनी बाहों के साथ सीधे खड़े होकर शुरुआत करें

• अपने घुटनों को मोड़ें, अपनी श्रोणि को नीचे करें और इसे अपनी एड़ी के ऊपर रखें

• सुनिश्चित करें कि आपके पैर फर्श पर सपाट रहें

• आप या तो अपनी हथेलियों को अपने पैरों के पास फर्श पर रख सकते हैं या प्रार्थना की मुद्रा में उन्हें अपनी छाती के सामने जोड़ सकते हैं

• रीढ़ सीधी रहती है।

jagran

 

3. पादहस्तासन

आसन का गठन

• समस्तीथी में खड़े होकर शुरुआत करें

• सांस छोड़ें और धीरे से अपने ऊपरी शरीर को कूल्हों से नीचे झुकाएं और अपनी नाक को अपने घुटनों तक स्पर्श करें

• हथेलियों को पैरों के दोनों ओर रखें

• शुरुआत के रूप में, आप अपने घुटनों को थोड़ा मोड़कर अपने पेट को अपनी जांघों पर रख सकते हैं और अपनी उंगलियों या हथेलियों को नीचे रख सकते हैं।

 

• अभ्यास के साथ, धीरे-धीरे अपने घुटनों को सीधा करें और अपनी छाती को अपनी जांघों से छूने की कोशिश करें।

jagran

4. पर्वत आसन

पर्वतीय मुद्रा आसन का गठन

• चारों तरफ से शुरू करें, सुनिश्चित करें कि हथेलियां कंधों के नीचे हों और घुटने कूल्हों के नीचे हों

 

• अपनी हथेलियों और पैर की उंगलियों से धक्का देकर अपने श्रोणि को ऊपर उठाएं

• घुटनों और कोहनियों को सीधा करते हुए अपने शरीर को उल्टा ‘V’ आकार दें

• हथेलियों को कंधे की चौड़ाई से अलग रखा जाना चाहिए

• अपने पैरों को करीब लाएं और अपनी एड़ियों को ऊपर उठाएं

• आपके शरीर के वजन को आपके पैर की उंगलियों और हथेलियों के बीच वितरित किया जाना चाहिए

• अपना ध्यान अपने बड़े पैर की उंगलियों पर रखें

jagran

5. समस्ती/ताड़ासन

• पैर की उँगलियों को छूकर और एड़ियों को आपस में मिलाकर खड़े रहें।

• अपने एब्डोमिनल में ड्रा करें और अपने कंधों को नीचे और पीछे आराम दें।

• अपने पैर की मांसपेशियों को सक्रिय रूप से शामिल करते हुए 5-8 सांसें लें।

• अपने आसन को लंबा और मजबूत बनाए रखने के लिए यह एक बेहतरीन मुद्रा है।

 

• पैरों को स्वस्थ रखता है।

योग के अलावा, चलने, जॉगिंग और सीढ़ियां चढ़ने जैसी गतिविधियों में शामिल हों। यह आपको मजबूत हड्डियों के निर्माण और हड्डियों के नुकसान को धीमा करने में मदद कर सकता है। भोर के समय सूर्य के प्रकाश के संपर्क में आने के साथ-साथ सूर्य नमस्कार या सूर्य नमस्कार का अभ्यास करने से हड्डियों का घनत्व बढ़ सकता है।

English News

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com