अभी-अभी: PM मोदी का बड़ा ऐलान, अब छात्रों को मिलेंगे 10000-10000 रुपए, जानें कैसे?

केन्द्र सरकार द्वारा दी जाने वाली कई स्कॉलरशिप स्कीम्स में PM’s Scholarship Scheme एक मुख्य स्कॉलरशिप है। इस स्कीम के तहत 10वीं तथा 12वीं पास कर प्रोफेशनल कोर्सेज

केन्द्र सरकार द्वारा दी जाने वाली कई स्कॉलरशिप स्कीम्स
अभी-अभी: योगी के एक फैसले से बन गए करोड़ों ‘दुश्मन’, कहा- मिलकर मसला…!
(बीई, मेडिकल, फॉर्मेसी, बीसीए, बीबीए, इंजीनियरिंग, आईआईटी आदि) में प्रवेश करने वाले छात्र-छात्राओं को स्कॉलरशिप दी जाती है।

इस स्कीम के तहत हर वर्ष 82,000 स्टूडेंट्स (41,000 छात्रों तथा 41,000 छात्राओं हेतु) को यह स्कॉलरशिप दी जाती हैं।
इस स्कॉलरशिप के लिए कौन कर सकता है एप्लाई:
इस स्कॉलरशिप के लिए सबसे पहली बात आवेदन करने वाले छात्र के माता-पिता की कुल आय 6,00,000 रुपए सालाना से अधिक नहीं होनी चाहिए। छात्रवृत्ति डिस्टेंस लर्निंग (या स्वयंपाठी) के जरिए कोर्स करने वाले छात्रों को नहीं दी जाती, केवल रेग्यूलर कोर्स करने वाले स्टूडेंट्स के लिए ही ये छात्रवृत्ति दी जाती है।

पीरियड आने पर यहां होता है जानवरों जैसा सलूक, प्राइवेट पार्ट से करते हैं…

(1) 12वीं कक्षा में 75 फीसदी अंक हासिल किए हो, उन्हें 1,000 रुपए प्रतिमाह (पूरे वर्ष में कुल दस माह अर्थात 10,000 रुपए) की स्कॉलरशिप मिलती है।

  (2) जिन स्टूडेंट्स ने 12वीं में 85 फीसदी अंक हासिल किए हैं, उन्हें 25,000 रुपए की स्कॉलरशिप मिलती है।

इसके अलावा चार-वर्षीय तथा पांच-वर्षीय प्रोफेशनल कोर्स करने वाले स्टूडेंट्स को फोर्थ ईयर तथा फिफ्थ ईयर के लिए 2,000 रुपए प्रतिमाह के हिसाब से स्कॉलरशिप मिलती है। स्कॉलरशिप पाने वाले विद्यार्थी को हर सेमेस्टर में न्यूनतम 50 फीसदी अंक लाने होंगे, इससे कम अंक लाने अथवा किसी सेमेस्टर में फेल होने पर छात्रवृत्ति रोक दी जाएगी। स्कॉलरशिप के लिए आयु सीमा 18 से 25 वर्ष के बीच होनी चाहिए।

सेक्‍स सर्वे: 41% लोग वन नाइट स्‍टैंड को है तैयार…

कैसे एप्लाई करें:
यह छात्रवृत्ति पूरे देश के छात्र-छात्राओं में बांटी जाती हैं। एक स्टूडेंट केवल एक ही कोर्स के लिए स्कॉलरशिप हेतु आवेदन कर सकता है। अगर एक स्टूडेंट एक से अधिक कोर्सेज में स्कॉलरशिप के लिए एप्लाई करता है तो उसे सभी आवेदन कैंसिल कर दिए जाएंगे।
इस स्कीम के तहत Direct Benefit Transfer (DBT) तथा आधार पेमेंट ब्रिज के तहत पैसा दिया जाता है ताकि छात्रों को सीधे उनके खातों में ही पैसा मिल सके।

You May Also Like

English News