अमित शाह आज पटना में NDA पर अटकलें तेज

बिहार NDA को लेकर जारी उठापटक के बीच भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह आज पटना पहुंच चुके हैं. पार्टी ऑफिस जाने के बाद वे सीएम नीतीश कुमार से मिलेंगे. नाश्ते और डिनर पर  2019 में बीजेपी-जेडीयू की सियासी बातें संभव है. संपर्क फॉर समर्थन के चलते अमित शाह आज बिहार पहुंचे है और इस दौरान सीटों को लेकर चल रही चर्चाओं पर विराम लगाए जाने की संभावना है. बिहार NDA को लेकर जारी उठापटक के बीच भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह आज पटना पहुंच चुके हैं. पार्टी ऑफिस जाने के बाद वे सीएम नीतीश कुमार से मिलेंगे. नाश्ते और डिनर पर  2019 में बीजेपी-जेडीयू की सियासी बातें संभव है. संपर्क फॉर समर्थन के चलते अमित शाह आज बिहार पहुंचे है और इस दौरान सीटों को लेकर चल रही चर्चाओं पर विराम लगाए जाने की संभावना है.      बिहार में लोकसभा की कुल 40 सीटें हैं. जिनमे से 17 से 20 पर नीतीश कुमार अपने लोगों को लड़ना चाहते है और बीजेपी फ़िलहाल इस पक्ष में नहीं है. पिछले कई दिनों से इस बात पर अलग अलग बयानबाजी का दौर जारी है. इसी बीच अमित शाह और नीतीश कुमार की ये मुलाकात बेहद अहम है. कर चुके है  लोकसभा चुनाव में इन 40 सीटों में से एनडीए को कुल 31 सीटों पर जीत हासिल हुई. एनडीए की 31 सीटों में बीजेपी ने 22, लोजपा ने 6 और रालोसपा ने 3 सीटों पर कब्जा जमाया. तब जेडीयू अकेले चुनावी समर में उतरी थी तो चालीस सीटों में से दो सीटों पर ही जीत मिली थीं, लेकिन जेडीयू का मानना है कि बुरे हालात में भी 16-17 फीसदी वोट हासिल हुए.    जेडीयू चाहती है कि दोनो पार्टियां 17-17 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़े हैं. बाक़ी की सीटें एलजेपी और आरएलएसपी को दे दी जाएं. जेडीयू इसके अलावा यूपी और झारखंड में 4 सीटें चाहती है. आज दोनों शीर्ष नेताओं की मुलाकात के बाद काफी कुछ साफ होने की उम्मीद है.

बिहार में लोकसभा की कुल 40 सीटें हैं. जिनमे से 17 से 20 पर नीतीश कुमार अपने लोगों को लड़ना चाहते है और बीजेपी फ़िलहाल इस पक्ष में नहीं है. पिछले कई दिनों से इस बात पर अलग अलग बयानबाजी का दौर जारी है. इसी बीच अमित शाह और नीतीश कुमार की ये मुलाकात बेहद अहम है. कर चुके है  लोकसभा चुनाव में इन 40 सीटों में से एनडीए को कुल 31 सीटों पर जीत हासिल हुई. एनडीए की 31 सीटों में बीजेपी ने 22, लोजपा ने 6 और रालोसपा ने 3 सीटों पर कब्जा जमाया. तब जेडीयू अकेले चुनावी समर में उतरी थी तो चालीस सीटों में से दो सीटों पर ही जीत मिली थीं, लेकिन जेडीयू का मानना है कि बुरे हालात में भी 16-17 फीसदी वोट हासिल हुए.

जेडीयू चाहती है कि दोनो पार्टियां 17-17 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़े हैं. बाक़ी की सीटें एलजेपी और आरएलएसपी को दे दी जाएं. जेडीयू इसके अलावा यूपी और झारखंड में 4 सीटें चाहती है. आज दोनों शीर्ष नेताओं की मुलाकात के बाद काफी कुछ साफ होने की उम्मीद है. 

English News

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com