इतने बड़े देश में एक-दो बलात्कार आम बात है : बीजेपी मंत्री

 केंद्रीय श्रम और रोजगार मंत्री संतोष गंगवार ने देश में हो रही बलात्कार की घटनाओं पर बड़ा बयान दिया है, गंगवार ने अपने बयान में कहा कि इतने बड़े देश में बलात्कार की एक-दो घटनाएं होती रहती है, इसलिए जरुरी नहीं कि इन बातों का मुद्दा बनाया जाए. मंत्री का बयान ऐसे समय में आया जब देश में उन्नाव और कठुआ जैसे बलात्कार मामलों में पुरे देश में प्रदर्शन हो रहे है.  केंद्रीय श्रम और रोजगार मंत्री संतोष गंगवार ने देश में हो रही बलात्कार की घटनाओं पर बड़ा बयान दिया है, गंगवार ने अपने बयान में कहा कि इतने बड़े देश में बलात्कार की एक-दो घटनाएं होती रहती है, इसलिए जरुरी नहीं कि इन बातों का मुद्दा बनाया जाए. मंत्री का बयान ऐसे समय में आया जब देश में उन्नाव और कठुआ जैसे बलात्कार मामलों में पुरे देश में प्रदर्शन हो रहे है.   गंगवार को शायद देश के मौजूदा हालातों के बारे में ठीक से जानकारी नहीं वरना एक संवैधानिक पद पर बैठे एक मंत्री को इस तरह का बयान देश की मौजूदा राजनीतिक हालातों को दर्शाता है. नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के आंकड़ों के मुताबिक साल 2016 में 38,947 बलात्कार की घटनाएं हुई हैं. इसका मतलब हुआ कि देश में हर रोज 107 बलात्कार की घटनाए होती हैं. यानी हर घंटे चार महिलाओं के साथ बलात्कार होता है.  वहीं, उम्र के हिसाब से साल 2016 में 12 साल से छोटी 2116 बच्चियों को वहशियों ने अपना शिकार बनाया है. यानी औसतन पांच से ज्यादा बच्चियां किसी बलात्कार का शिकार हुईं. हालाँकि सरकार ने इन मामलों में फुर्ती दिखते हुए पास्को एक्ट लागू किया है, लेकिन ये एक्ट देश में हो रहे है सभी बलात्कार के लिए बेटियों के लिए न्याय की ग्यारंटी नहीं देता.

गंगवार को शायद देश के मौजूदा हालातों के बारे में ठीक से जानकारी नहीं वरना एक संवैधानिक पद पर बैठे एक मंत्री को इस तरह का बयान देश की मौजूदा राजनीतिक हालातों को दर्शाता है. नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के आंकड़ों के मुताबिक साल 2016 में 38,947 बलात्कार की घटनाएं हुई हैं. इसका मतलब हुआ कि देश में हर रोज 107 बलात्कार की घटनाए होती हैं. यानी हर घंटे चार महिलाओं के साथ बलात्कार होता है.

वहीं, उम्र के हिसाब से साल 2016 में 12 साल से छोटी 2116 बच्चियों को वहशियों ने अपना शिकार बनाया है. यानी औसतन पांच से ज्यादा बच्चियां किसी बलात्कार का शिकार हुईं. हालाँकि सरकार ने इन मामलों में फुर्ती दिखते हुए पास्को एक्ट लागू किया है, लेकिन ये एक्ट देश में हो रहे है सभी बलात्कार के लिए बेटियों के लिए न्याय की ग्यारंटी नहीं देता. 

You May Also Like

English News