इस व्यक्ति ने 87 लाख रुपये के Xiaomi स्मार्टफोन्स पर किया हाथ साफ, हुआ गिरफ्तार

एक व्यक्ति को 4,200 चोरी किए गए मोबाइल फोन के साथ गिरफ्तार किया गया है. पुलिस के मुताबिक इन स्मार्टफोन्स की कीमत 87 लाख रुपये है. आरोपी को फिलहाल जेल भेज दिया गया है जिसे जल्द ही कोर्ट के सामने पेश किया जाएगा.एक व्यक्ति को 4,200 चोरी किए गए मोबाइल फोन के साथ गिरफ्तार किया गया है. पुलिस के मुताबिक इन स्मार्टफोन्स की कीमत 87 लाख रुपये है. आरोपी को फिलहाल जेल भेज दिया गया है जिसे जल्द ही कोर्ट के सामने पेश किया जाएगा.   चोर ने ऐसे किया हाथ साफ   स्मार्टफोन की चोरी करने वाले इस व्यक्ति का नाम रमेश है जिसे बबलू के नाम से भी जाना जाता है. बबलू बिहार के मोतिहारी जिले का रहने वाला है. बबलू ने गुरुग्राम के सेक्टर 12 गोडाउन में चोरी के वारदात को अंजाम दिया जहां शाओमी के कई इलेक्ट्रॉनिक आइटम और मोबाइल फोन रखे हुए थे.   सेक्टर 17 की पुलिस कई दिनों से इस जांच में जुटी हई थी जिसके बाद 6 अगस्त को एक और आरोपी को मोतिहारी से गिरफ्तार कर लिया गया. आरोपी का नाम अलास मिया है. हालांकि आरोपी के पास से सिर्फ एक मोबाइल ही बरामद किया जा सका है. लेकिन आरोपी ने अन्य तीन चोरों के भी नाम बता दिए हैं. मिया के जरिए दिए गए जानकारी के अनुसार रमेश को मोतिहारी 12 अगस्त को गिरफ्तार किया गया.   पूछताछ के दौरान रमेश ने बताया कि उन्होंने चोरी को अंजान देने के लिए एक ट्रक को किराये पर लिया था. जिसके बाद सारे स्मार्टफोन को ट्रक में डालकर बिहार भेज दिया. बता दें कि चोर नेपाल में कुछ व्यक्तियों के साथ संपर्क में थे. पुलिस ने बताया कि उनकी क्राइम यूनिट ने 4,239 मोबाइल फोन को अपने कब्जे में कर लिया है. इन फोन की कीमत 87 लाख रुपये है.

चोर ने ऐसे किया हाथ साफ

स्मार्टफोन की चोरी करने वाले इस व्यक्ति का नाम रमेश है जिसे बबलू के नाम से भी जाना जाता है. बबलू बिहार के मोतिहारी जिले का रहने वाला है. बबलू ने गुरुग्राम के सेक्टर 12 गोडाउन में चोरी के वारदात को अंजाम दिया जहां शाओमी के कई इलेक्ट्रॉनिक आइटम और मोबाइल फोन रखे हुए थे.

सेक्टर 17 की पुलिस कई दिनों से इस जांच में जुटी हई थी जिसके बाद 6 अगस्त को एक और आरोपी को मोतिहारी से गिरफ्तार कर लिया गया. आरोपी का नाम अलास मिया है. हालांकि आरोपी के पास से सिर्फ एक मोबाइल ही बरामद किया जा सका है. लेकिन आरोपी ने अन्य तीन चोरों के भी नाम बता दिए हैं. मिया के जरिए दिए गए जानकारी के अनुसार रमेश को मोतिहारी 12 अगस्त को गिरफ्तार किया गया.

पूछताछ के दौरान रमेश ने बताया कि उन्होंने चोरी को अंजान देने के लिए एक ट्रक को किराये पर लिया था. जिसके बाद सारे स्मार्टफोन को ट्रक में डालकर बिहार भेज दिया. बता दें कि चोर नेपाल में कुछ व्यक्तियों के साथ संपर्क में थे. पुलिस ने बताया कि उनकी क्राइम यूनिट ने 4,239 मोबाइल फोन को अपने कब्जे में कर लिया है. इन फोन की कीमत 87 लाख रुपये है.

You May Also Like

English News