उपवास के नियम, व्रत में कॉफी पीनी चाहिए या नहीं

हिन्दुस्तान में त्योहारों का सीजन शुरू हो गया है. हरियाली तीज (Hariyali Teej 2018) ने त्योहारों का सिलसिला शुरू हिओ चुका हैं. अब ईद (Idul Juha- Bakrid), रक्षाबंधन, जन्माष्टमी (Janmashtami 2018), गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi 2018), मुहर्रम (Muharram 2018), दशहरा (Dusshera 2018), करवा चौथ (Karva Chouth 2018), दीवाली (Diwali 2018) भाई दूज (Bhai Duj 2018) आने को तैयार हैं. इनमें से अधिकतर त्योहारों पर घर की महिलाएं उपवास रखती हैं. उपवास का मतलब है अनाज ग्रहण न करना. कुछ लोग उपवास में निर्जल भी रहते हैं तो वहीं कुछ महज अनाज न खाने का व्रत करते हैं. ऐसे में कई तरह के सवाल खड़े होते हैं कि क्या खाया जा सकता है और क्या नहीं…

इन्हीं में एक सवाल यह भी है कि क्या व्रत या उपवास के दौरान कॉफी पी जा सकती हैं, व्रत के दौरान अनाज, नमक, मांसहारी भोजन, प्याज, लहसुन के अलावा कई अन्य चीजों का सेवन नहीं किया जाता हैं. लेकिन सवाल यह है कि क्या व्रत में कॉफी पी जा सकती है या नहीं…

कुछ लोगों की माने तो कॉफी पी जा सकती है, वहीं कुछ का तर्क है है कि नहीं पीनी चाहिए. कुछ लोग मानते हैं कि व्रत के दौरान चाय तो पी जा सकती है लेकिन कॉफी वर्जित है, तो कुछ लोग दोनों चीजों के लिए मना करते हैं. प्रसिद्ध फूड राइटर्स का कहना है कि उपवास के नियमों को लेकर कहीं भी ऐसा कुछ नहीं लिखा है. हर इंसान की अपनी एक व्यक्तिगत पसंद होती है. कई सालों पहले, लोगों ने इस तरह के नियम बनाएं. नवरात्रि वह समय है जिसमें मांसहारी भोजन और अनाज का सेवन न करके व्यक्ति अपने शरीर को शुद्ध करता है. तो इस दौरान चाय और कॉफी जैसे पेय पदार्थो का सेवन आप कर सकते हैं. 

पिछले कई सालों से लोग नवरात्रि के व्रत रख रहे है और उनके घरों में नवरात्रि उपवास के दौरान चाय और कॉफी दोनों पीने की अनुमति है. इसी के साथ छाछ और फलों के रस का सेवन भी किया जाता है, लेकिन पैक्ड जूस और अन्य गैस मिश्रित पेय पदार्थो का सेवन नहीं किया जाता.

अब यह आपको तय करना है कि उपवास में आपको कॉफी पीनी चाइए या नहीं. बाकी इसके सही गलत होने पर संदेह छोड़ कर अपनी सुविधा एवं स्वास्थ पर ध्यान दें.

You May Also Like

English News