एक खास खबर: जिस बीमारी ने ली विनोद खन्‍ना की जान, जानिये उसकी पहचान कैसे होती है

विनोद खन्‍ना की मौत ब्लैडर कैंसर के कारण हुई. खबरों के मुताबिक वे पिछले सात सालों से इस बीमारी से झूझ रहे थे, लेकिन इससे बच नहीं सके. आज आप भी जानिए क्‍या होता है ये कैंसर, कैसे होते हैं इसके लक्षण और कौन इसकी जद में आने के खतरे में सबसे अधिक है. जिस बीमारी ने ली विनोद खन्‍ना की जान, जानिये उसकी पहचान कैसे होती हैयह भी पढ़े: अभी अभी: शूटिंग के दौरान शाहरुख के साथ हुआ बड़ा हादसा, अब नही…

इस फल को खाने से खत्‍म हो जाएगा कैंसर… 

ब्लैडर कैंसर
डॉक्‍टर्स के मुताबिक शरीर में ब्लैडर की वॉल के टिश्यूज के इंफैक्टेड होने से ये कैंसर आरंभ होता है. शुरुआत में ब्‍लैडर में खून के थक्के जमने आरंभ होते हैं.

ये हैं लक्षण
– इसके आरंभिक लक्षणों में यूरीन के साथ ब्‍लड आना बताया जाता है. दरअसल जब ब्‍लैडर इन्‍फेक्टिड होता है तो ऐसा होता है.
– ब्‍लैडर में इन्‍फेक्‍शन के कारण यूरीन करते समय जलन और तेज दर्द होता है. अगर ये लंबे समय तक बना रहे या बार-बार हो तो सचेत हो जाना चाहिए.
– ये एक सामान्‍य लक्षण है जो कई बड़ी बीमारियों में होता है. ये है बिना किसी वजह के तेजी से वजन कम हो जाना. अगर आपके साथ ऐसा हुआ है या हो रहा है जो इसे हल्‍के में ना लें. इसके साथ ही थोड़ा सा काम करके थक जाना और कमजोरी रहना भी इसके लक्षणों में शामिल है.

महिलाओं को क्यों खानी चाहिए कसूरी मेथी, जानें 5 बड़े फायदे…

– यूरीन के साथ सफेद टिश्‍यूज डिस्‍चार्ज होना और पेट के निचले हिस्‍से यानी पेल्विक रीजन में दर्द बने रहना.
– इससे पीडि़त लोग अक्‍सर हड्डियों में लगातार दर्द रहने की शिकायत भी करते हैं.
– अगर बार-बार यूरीन इन्‍फेक्‍शन हो रहा हो तो भी ये इसका एक लक्षण हो सकता है.

क्‍या आप जानते हैं कैंसर से जुड़ी इन गलतफहमियों के बारे में…

कौन हैं जद में
डॉक्‍टर्स और तमाम स्‍टडीज कहती हैं कि इस बीमारी की जद में 60 साल से ज्‍यादा के लोग सबसे अधिक हैं. साथ ही, ऐसे लोग जिनका वजन ज्‍यादा होता है वे भी इसके खतरे में होते हैं. ज्‍यादा स्‍मोकिंग करने वाले और शराब का अत्‍यधिक सेवन करने वालों को ये होने का खतरा अधिक होता है.

You May Also Like

English News