एशियाड में पहली बार शामिल इन खेलों में भारत का जलवा, जीते 5 मेडल

इंडोनेशिया में खेले जा रहे 18वें एशियाई खेल भारत के लिए कई मायने में बेहद खास साबित हुए हैं. एशियाड में पहली बार कुछ खेलों को शामिल किया गया और भारतीय खिलाड़ियों ने इन खेलों में पदक जीते. जिसका फायदा भारत को पदक तालिका में दिखा. मिक्स्ड 4 गुणा 400 मीटर रिले, कुराश और ब्रिज जैसे खेलों में भारतीय खिलाड़ी पदक जीतने में कामयाब रहे.एशियाड में पहली बार शामिल इन खेलों में भारत का जलवा, जीते 5 मेडल

भारत को इन नए खेलों में अब तक पांच पदक हासिल हुए, जिसमें दो रजत पदक और तीन कांस्य पदक शामिल हैं.  मिक्स्ड 4 गुणा 400 मीटर रिले रेस में रजत हासिल हुआ. कुराश में एक रजत और एक कांस्य, जबकि ब्रिज में दो कांस्य पर भारत का कब्जा हुआ है.

मिक्स्ड 4 गुणा 400 मी. रिले में सिल्वर मेडल

मिक्स्ड 4 गुणा 400 मीटर रिले को पहली बार एशियाई खेलों में शामिल किया गया. जिसकी एक टीम में दो पुरुष और दो महिला खिलाड़ी होते हैं. इस रेस में भारत के मोहम्मद अनस, पूवम्मा राजू, हिमा दास और राजीव अरोकिया की टीम ने तीन मिनट 15.71 सेकेंड का समय निकालते हुए रजत पदक हासिल किया.

कुराश में सिल्वर और ब्रॉन्ज मेडल मिला

कुराश खेल को भी पहली बार एशियन गेम्स में शामिल किया गया है. कुराश कुछ-कुछ कुश्ती जैसा होता है, बस थोड़े नियम बदले होते हैं. कुराश उज्बेकिस्तान का पारंपरिक मार्शल आर्ट है. इस नए खेल में भारत को दो पदक हासिल हुए. महिलाओं के 52 किलो भारवर्ग में भारत की पिंकी बल्हारा को सिल्वर और मलप्रभा जाधव को ब्रॉन्ज मेडल मिला.

ब्रिज खेल में भारत को मिले ब्रॉन्ज मेडल

ब्रिज (ताश के पत्तों का खेल) को भी पहली बार एशियाई खेलों में शामिल किया गाय. मिश्रित टीम और पुरुष टीम वर्ग में भारत को दो कांस्य पदक मिले. भारत की मिश्रित टीम में किरण नादर, सत्यनारायण बचीराजू, हेमा देवड़ा, गोपीनाथ मन्ना, हिमार खंडेलवाल और राजीव खंडेलवाल शामिल थे. पुरुष टीम में जग्गी शिवदासानी, राजेश्वर तिवारी, सुमित मुखर्जी, देवव्रत मजूमदार, राजू तोलानी और अजय खड़े शामिल हैं.

You May Also Like

English News