ऐसे बचें गर्मियों के कहर से

गर्मी के कुछ दुष्प्रभाव जैसे की तेज़ धूप के कारण कई तरह के त्वचा सम्बन्धी रोग हो सकते हैं. ज़रूरत से ज्यादा गर्मी या तेज़ धुप आपकी सेहत और खूबसूरती को ख़राब कर सकती है. गर्मी के मौसम में हमें त्वचा और हमारी सेहत का ख्याल रखना बहुत जरूरी हो जाता है. हमें इस मौसम में हल्की और पेय पदार्थ का सेवन ज्यादा करना चाहिए जैसे फल और फलों का जूस या हरी भरी सब्जियां और दूध दही की लस्सी और छाछ आदि पदार्थों का सेवन कारण चाहिए.गर्मी के कुछ दुष्प्रभाव जैसे की तेज़ धूप के कारण कई तरह के त्वचा सम्बन्धी रोग हो सकते हैं. ज़रूरत से ज्यादा गर्मी या तेज़ धुप आपकी सेहत और खूबसूरती को ख़राब कर सकती है. गर्मी के मौसम में हमें त्वचा और हमारी सेहत का ख्याल रखना बहुत जरूरी हो जाता है. हमें इस मौसम में हल्की और पेय पदार्थ का सेवन ज्यादा करना चाहिए जैसे फल और फलों का जूस या हरी भरी सब्जियां और दूध दही की लस्सी और छाछ आदि पदार्थों का सेवन कारण चाहिए.     गर्मी में लू से बचने के उपाय अक्सर गर्मियों के मौसम में हवा बढ़े हुए तापमान की वजह से काफी ज्यादा गरम रहती हैं. गर्मी के मौसम में ताली हुयी चीज़ें जैसे के चाट, पानी पुरी, समोसे, कचोरी, या अन्य तेल से तले हुए खाद्य पदार्थ आपको नहीं खाना चाहिए और जितना हो सकें इनसे बचना चाहिए.     गर्मियों में जो हवा बहती है उसमे बहुत ज्यादा रूखापन होता है और फिर क्योंकि इस मौसम में हवा में नमी कम होती है जिससे कई तरह के त्वचा सम्बन्धी रोग जैसे कील मुहासे पिंपल्स और होटों के फटने आदि समस्या हो जाती है जो हमारी खूबसूरती को खराबा करती है. इसलिए आपको गर्मी से बचने के उपाय के लिए धूप में निकलते समय अपने चेहरे और हाथों को कपडे से ढक लेना चाहिए. और धूप में नमी काम होने की बजह से ही नाक के छिद्रों में से खून निकलने लगता है.गर्मी के कुछ दुष्प्रभाव जैसे की तेज़ धूप के कारण कई तरह के त्वचा सम्बन्धी रोग हो सकते हैं. ज़रूरत से ज्यादा गर्मी या तेज़ धुप आपकी सेहत और खूबसूरती को ख़राब कर सकती है. गर्मी के मौसम में हमें त्वचा और हमारी सेहत का ख्याल रखना बहुत जरूरी हो जाता है. हमें इस मौसम में हल्की और पेय पदार्थ का सेवन ज्यादा करना चाहिए जैसे फल और फलों का जूस या हरी भरी सब्जियां और दूध दही की लस्सी और छाछ आदि पदार्थों का सेवन कारण चाहिए.     गर्मी में लू से बचने के उपाय अक्सर गर्मियों के मौसम में हवा बढ़े हुए तापमान की वजह से काफी ज्यादा गरम रहती हैं. गर्मी के मौसम में ताली हुयी चीज़ें जैसे के चाट, पानी पुरी, समोसे, कचोरी, या अन्य तेल से तले हुए खाद्य पदार्थ आपको नहीं खाना चाहिए और जितना हो सकें इनसे बचना चाहिए.     गर्मियों में जो हवा बहती है उसमे बहुत ज्यादा रूखापन होता है और फिर क्योंकि इस मौसम में हवा में नमी कम होती है जिससे कई तरह के त्वचा सम्बन्धी रोग जैसे कील मुहासे पिंपल्स और होटों के फटने आदि समस्या हो जाती है जो हमारी खूबसूरती को खराबा करती है. इसलिए आपको गर्मी से बचने के उपाय के लिए धूप में निकलते समय अपने चेहरे और हाथों को कपडे से ढक लेना चाहिए. और धूप में नमी काम होने की बजह से ही नाक के छिद्रों में से खून निकलने लगता है.

गर्मी में लू से बचने के उपाय
अक्सर गर्मियों के मौसम में हवा बढ़े हुए तापमान की वजह से काफी ज्यादा गरम रहती हैं. गर्मी के मौसम में ताली हुयी चीज़ें जैसे के चाट, पानी पुरी, समोसे, कचोरी, या अन्य तेल से तले हुए खाद्य पदार्थ आपको नहीं खाना चाहिए और जितना हो सकें इनसे बचना चाहिए.

गर्मियों में जो हवा बहती है उसमे बहुत ज्यादा रूखापन होता है और फिर क्योंकि इस मौसम में हवा में नमी कम होती है जिससे कई तरह के त्वचा सम्बन्धी रोग जैसे कील मुहासे पिंपल्स और होटों के फटने आदि समस्या हो जाती है जो हमारी खूबसूरती को खराबा करती है. इसलिए आपको गर्मी से बचने के उपाय के लिए धूप में निकलते समय अपने चेहरे और हाथों को कपडे से ढक लेना चाहिए. और धूप में नमी काम होने की बजह से ही नाक के छिद्रों में से खून निकलने लगता है.

You May Also Like

English News