क्या सच में ? पीरियड के दिनों में अचार को हाथ लगाने से अचार खराब हो जाता है !

पीरियड से जुड़ी भ्रांतियाँ – पीरियड यूं तो महिलाओं में होने वाली एक सामान्य प्रक्रिया है लेकिन इसके बारे में बात हमेशा फुसफुसाहट के लहजे में ही बात की जाती है। पीरियड के बारे में जितने सही बातें लोग नहीं जानते, उससे ज़्यादा इस बारे में मिथ्स हैं।

उन दिनों में अचार को हाथ लगाने से अचार खराब हो जाता है ! क्या सच में ?पीरियड के दिनों में अचार नहीं डालना चाहिए, पूजा नहीं करनी चाहिए, सिर नहीं धोना चाहिए, पौधों को पानी नहीं देना चाहिए, ये कुछ ऐसी बातें हैं जो पीरियड को लेकर हमारे समाज में काफी प्रचलित हैं।

पीरियड एक सामान्य सी प्रक्रिया है जिसे लेकर कईं ऐसी धारणाएं बन चुकी हैं जो कि गलत है। इस बॉयोलॉजिकल प्रोसेस का किसी भी तरह के अंधविश्वास से कोई सरोकार नहीं है।

चलिए आज आपको बताते हैं पीरियड से जुड़ी भ्रांतियाँ – पीरियड से जुड़ी कुछ ऐसी धारणाओं के बारे में, जो पूरी तरह से निरर्थक है लेकिन आज भी लोग इन्हे सच मानते हैं।

पीरियड से जुड़ी भ्रांतियाँ

१ – पीरियड के दिनों में सिर नहीं धोना चाहिए-

ये बात पूरी तरह से गलत है बल्कि सच तो ये है कि अगर आप पीरियड के दिनों में गरम पानी से नहाएंगी या सिर धोएंगी तो आपको दर्द मे आराम मिलेगा।

२ – पीरियड के दिनों में अचार को नहीं छूना चाहिए-

ये बात तो पूरी तरह से निरर्थक है। अगर आप भी ऐसा सोचती हैं तो इस बात से पूरी तरह से बाहर आ जाइए क्योकि ऐसा कुछ भी नहीं है।

३ – पीरियड के दिनों में पौधों को पानी नहीं देना चाहिए-

ये बात पढ़ने में जितनी बेबुनियाद लगती है, उतनी ही बेबुनियाद है भी। ऐसा कहा जाता है कि पीरियड के दिनों में पेड़-पौधों को पानी देने से वो सूख जाते हैं लेकिन ये भी सिर्फ एक कोरी भ्रांति है।

४ – पीरियड के दिनों में मंदिर नहीं जाना चाहिए-

ऐसा कहा जाता है कि पीरियड के दिनों में कोई भी लड़की अपवित्र हो जाती है लेकिन ये बात भी सिर्फ एक अंधविश्वास है, इसका किसी भी तरह के सच से कोई लेना-देना नहीं है।

५ – पीरियड के दौरान सेक्स है वर्जित-

इस बात पर भी आप जितनी जल्दी विश्वास करना छोड़ दें, उतना ही अच्छा है। पीरियड के दौरान अगर आप कम्फर्टेबल हैं तो सेक्स करने में कोई बुराई नहीं है।

६ – पीरियड के दौरान नहीं हो सकती प्रेग्नेंट

कुछ लोगों का मानना होता है कि पीरियड के दौरान संबध बनाने से कोई भी महिला कन्सीव नहीं कर सकती। ये बात भी सिर्फ एक मिथ है।

ये है पीरियड से जुड़ी भ्रांतियाँ  –  तो अब आप भी बिना देर किए पीरियड से जुड़ी एस भ्रांतियों पर यकीन करना छोड़ दीजिए और पीरियड को सामान्य तौर पर ही लीजिए।

 

You May Also Like

English News