गूगल क्रोम के लिए माइक्रोसॉफ्ट डिफेंडर

अभी तक माइक्रोसॉफ्ट डिफेंडर को इंटरनेट एक्स्प्लोरर पर ही इतेमाल किया जा सकता था. अब माइक्रोसॉफ्ट दूसरे ब्राउजर के लिए भी डिफेंडर प्रोटेक्शन ला रहा है. माइक्रोसॉफ्ट डिफेंडर वायरस से बचाव  के लिए उपयोग किया जाता है. कंपनी का दावा है कि विंडोज डिफेंडर प्रोटेक्शन यूजर्स को फिशिंग से 99 फीसदी तक बचाता है अभी तक माइक्रोसॉफ्ट डिफेंडर को इंटरनेट एक्स्प्लोरर पर ही इतेमाल किया जा सकता था. अब माइक्रोसॉफ्ट दूसरे ब्राउजर के लिए भी डिफेंडर प्रोटेक्शन ला रहा है. माइक्रोसॉफ्ट डिफेंडर वायरस से बचाव  के लिए उपयोग किया जाता है. कंपनी का दावा है कि विंडोज डिफेंडर प्रोटेक्शन यूजर्स को फिशिंग से 99 फीसदी तक बचाता है   आप क्रोम ब्राउजर पर माइक्रोसॉफ्ट डिफेंडर को एक एक्स्टेंशन के जरिए इतेमाल कर पाएंगे. माइक्रोसॉफ्ट डिफेंडर को सबसे पहले आपको वेब स्टोर से डाउनलोड करना होगा फिर इसे इंस्टॉल करना होगा. क्रोम ब्राउजर पर डिफेंडर के इस्तेमाल से ज्यादा लोग विंडोज डिफेंडर से जुड़ पाएंगे. इंटनेट एक्सप्लोरर को कम लोग इसलिए इतेमाल करते है क्योंकि ये क्रोम के मुकाबले में धीमा है.      माइक्रोसॉफ्ट डिफेंडर के लिए कंपनी का कहना है कि क्रोम ब्राउजर पर डिफेंडर के उपयोग से यूजर्स इंटेटनेट चलाते समय वायरस और मैलवेयर कि चपेट से बच सकते हैं. इस एक्स्टेंशन में रियल टाइम इंडिकेटर दिया गया है जो यूजर्स को ये बताएगा कि वो जिस वेबसाइट पर जानकारी सर्च कर रहा है वंहा से  वायरस तो नहीं आ रहा है. गूगल भी अपने क्रोम ब्राउजर में हानिकारक लिंक से यूजर्स को बचाने के लिए प्रोटेक्शन टूल देता है जो कि इनबिल्ट होता है .

आप क्रोम ब्राउजर पर माइक्रोसॉफ्ट डिफेंडर को एक एक्स्टेंशन के जरिए इतेमाल कर पाएंगे. माइक्रोसॉफ्ट डिफेंडर को सबसे पहले आपको वेब स्टोर से डाउनलोड करना होगा फिर इसे इंस्टॉल करना होगा. क्रोम ब्राउजर पर डिफेंडर के इस्तेमाल से ज्यादा लोग विंडोज डिफेंडर से जुड़ पाएंगे. इंटनेट एक्सप्लोरर को कम लोग इसलिए इतेमाल करते है क्योंकि ये क्रोम के मुकाबले में धीमा है.    

माइक्रोसॉफ्ट डिफेंडर के लिए कंपनी का कहना है कि क्रोम ब्राउजर पर डिफेंडर के उपयोग से यूजर्स इंटेटनेट चलाते समय वायरस और मैलवेयर कि चपेट से बच सकते हैं. इस एक्स्टेंशन में रियल टाइम इंडिकेटर दिया गया है जो यूजर्स को ये बताएगा कि वो जिस वेबसाइट पर जानकारी सर्च कर रहा है वंहा से  वायरस तो नहीं आ रहा है. गूगल भी अपने क्रोम ब्राउजर में हानिकारक लिंक से यूजर्स को बचाने के लिए प्रोटेक्शन टूल देता है जो कि इनबिल्ट होता है .

You May Also Like

English News