ग्रामीण इलाकों में बारिश बनी तबाही का सबब

कई दिनों से हो रही बारिश अब कहर ढाने लगी है। फूस व मिट्टी से बने मकान जमीदोज हो रहे हैं। मकान गिरने से महिला गंभीर रूप से घायल हो गई। दर्जनों गांव बरसाती पानी से घिर गए हैं, रुदौली नगर समेत अन्य क्षेत्रों के सैकड़ों घरों के निचले हिस्से में पानी भर गया है। नाले भी उफना रहे हैं। परिषदीय स्कूलों की दहलीज तक पानी भरने स बच्चों की पढ़ाई बाधित हो रही है। धान की फसल भी पानी में डूब गई है।कई दिनों से हो रही बारिश अब कहर ढाने लगी है। फूस व मिट्टी से बने मकान जमीदोज हो रहे हैं। मकान गिरने से महिला गंभीर रूप से घायल हो गई। दर्जनों गांव बरसाती पानी से घिर गए हैं, रुदौली नगर समेत अन्य क्षेत्रों के सैकड़ों घरों के निचले हिस्से में पानी भर गया है। नाले भी उफना रहे हैं। परिषदीय स्कूलों की दहलीज तक पानी भरने स बच्चों की पढ़ाई बाधित हो रही है। धान की फसल भी पानी में डूब गई है।  बाबाबाजार संसू के मुताबिक कुंडिरा गांव में फूस का छप्पर गिरने से सो रहा मनीराम पुत्र रामसहज का परिवार दब गया। चीख-पुकार पर ग्रामीणों ने पति-पत्नी व दो बच्चों को बाहर निकाला। नौरोजपुर बघेड़ी गांव में बुधवार की दोपहर कच्चा मकान गिरने से कूढ़ा पत्नी अयोध्या प्रसाद (65) गंभीर रूप से घायल हो गई। समाजसेवी भानुप्रताप यादव ने महिला को सीएचसी मवई में भर्ती कराया। शुकुलपुरवा मजरे बिहारा में तिलकराज, उदयराज व रामटहल यादव के मकान गिर गए हैं। भटमऊ नारायणपुर गांव का संपर्क मार्ग बारिश में कट गया। पानी लोगों के घरों में प्रवेश कर रहा है। लोगों का बाहर निकलना दूभर हो गया है। नौगवाडीह में मंतर, ननकऊ, राकेश, ननकऊ, रजपाल व अशोक के मकान ढह गए।    लाल निशान से पहले ठिठकीं सरयू, संकट टला यह भी पढ़ें रुदौली संसू के मुताबिक हरिहरपुर कायस्थान में बने प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक विद्यालय के कमरों के अलावा रामसजीवन, भुवनेश्वर, मुन्ना रावत समेत दर्जन भर लोगों के मकान में पानी घुस गया। नरौलीबाजार के निकट रामनरेश, शिवकुमार व अमित की फसल डूब गई। फिरोजपुर मख्दूमी, चैनपुरवा, बाजारपुरवा, धौकल पुरवा, फरीदपुर व नयापुरवा समेत कई गांव पानी से घिरे हुए हैं। फिरोजपुर मख्दूमी के प्रधान पति हसीब खां उर्फ चुन्नु ने बताया कि सोंधी झील उफनाने से गांव के सियाराम, सूरजपाल, बृजलाल, कृष्णमगन, हृदयनारायण व बाबूलाल की फसल जलमग्न हो गई। उपजिलाधिकारी त्रिवेणी प्रसाद वर्मा ने बताया कि लेखपालों को जल निकासी की व्यवस्था के निर्देश दिए गए हैं।मवई संसू के मुताबिक ग्राम रामपुरजनक के ग्राम प्रधान राजेश यादव ने बताया कि गांव के कमलेश यादव, देवीबख्श ¨सह, राममिलन गौतम, अमरनाथ शुक्ल, फत्तन तथा शिवकैलाश के मकान गिर गए हैं। सोहावल संसू के मुताबिक सोहावल बाजार, रौनाही पड़ाव, अरक ना चौराहा, सैदा का पुरवा व सोहावल चौराहा के समीप कई स्थानों पर जलनिकासी की समस्या है। राहगीर कीचड़युक्त पानी में चलने को मजबूर हैं। उपजिलाधिकारी रविप्रकाश श्रीवास्तव ने मातहतों को कोताही न करने का निर्देश दिए हैं।

बाबाबाजार संसू के मुताबिक कुंडिरा गांव में फूस का छप्पर गिरने से सो रहा मनीराम पुत्र रामसहज का परिवार दब गया। चीख-पुकार पर ग्रामीणों ने पति-पत्नी व दो बच्चों को बाहर निकाला। नौरोजपुर बघेड़ी गांव में बुधवार की दोपहर कच्चा मकान गिरने से कूढ़ा पत्नी अयोध्या प्रसाद (65) गंभीर रूप से घायल हो गई। समाजसेवी भानुप्रताप यादव ने महिला को सीएचसी मवई में भर्ती कराया। शुकुलपुरवा मजरे बिहारा में तिलकराज, उदयराज व रामटहल यादव के मकान गिर गए हैं। भटमऊ नारायणपुर गांव का संपर्क मार्ग बारिश में कट गया। पानी लोगों के घरों में प्रवेश कर रहा है। लोगों का बाहर निकलना दूभर हो गया है। नौगवाडीह में मंतर, ननकऊ, राकेश, ननकऊ, रजपाल व अशोक के मकान ढह गए।

रुदौली संसू के मुताबिक हरिहरपुर कायस्थान में बने प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक विद्यालय के कमरों के अलावा रामसजीवन, भुवनेश्वर, मुन्ना रावत समेत दर्जन भर लोगों के मकान में पानी घुस गया। नरौलीबाजार के निकट रामनरेश, शिवकुमार व अमित की फसल डूब गई। फिरोजपुर मख्दूमी, चैनपुरवा, बाजारपुरवा, धौकल पुरवा, फरीदपुर व नयापुरवा समेत कई गांव पानी से घिरे हुए हैं। फिरोजपुर मख्दूमी के प्रधान पति हसीब खां उर्फ चुन्नु ने बताया कि सोंधी झील उफनाने से गांव के सियाराम, सूरजपाल, बृजलाल, कृष्णमगन, हृदयनारायण व बाबूलाल की फसल जलमग्न हो गई। उपजिलाधिकारी त्रिवेणी प्रसाद वर्मा ने बताया कि लेखपालों को जल निकासी की व्यवस्था के निर्देश दिए गए हैं।मवई संसू के मुताबिक ग्राम रामपुरजनक के ग्राम प्रधान राजेश यादव ने बताया कि गांव के कमलेश यादव, देवीबख्श ¨सह, राममिलन गौतम, अमरनाथ शुक्ल, फत्तन तथा शिवकैलाश के मकान गिर गए हैं। सोहावल संसू के मुताबिक सोहावल बाजार, रौनाही पड़ाव, अरक ना चौराहा, सैदा का पुरवा व सोहावल चौराहा के समीप कई स्थानों पर जलनिकासी की समस्या है। राहगीर कीचड़युक्त पानी में चलने को मजबूर हैं। उपजिलाधिकारी रविप्रकाश श्रीवास्तव ने मातहतों को कोताही न करने का निर्देश दिए हैं।

You May Also Like

English News