Breaking News

चीन में कम होने लगे कोरोना के मामले,लेकिन बीजिंग और शंघाई में नहीं सुधर रहे हालात,लोगों ने राशन का स्टाक रखना किया शुरू

चीन में कोरोना के मामलों में कमी के बावजूद सरकार द्वारा सख्ती दिखाने की बात सामने आई है। पिछले 24 घंटों में चीन में 7,822 नए कोरोना मामले मिले हैं जिसमें 865 मामले संक्रमित लोगों के हैं वहीं 6,957 मामले बिना लक्षण के हैं। इस दौरान 32 लोगों ने अपनी जान गवाई हैं और सभी मौत शंघाई में दर्ज की गई है। वहां के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग के अनुसार एक दिन पहले चीन में 8,329 कोरोना मामले सामने आए थे। वहीं संघाई में बढ़ते कोरोना मामलों के चलते सरकार ने सख्त कदम उठाने शुरू कर दिए हैं। चीन में अब कोरोना के कुल एक्टिव केस भी बढ़कर 2,17,452 हो गए हैं।

बीजिंग में लगाए गए सख्त प्रतिबंध

एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार ओमिक्रान वैरिएंट के मामलों में वृद्धि के चलते बीजिंग में कोरोना प्रतिबंधों को बढ़ा दिया गया है। बीजिंग में सभी रेस्तरां भोजन पर प्रतिबंध लगा दिया गया है, यूनिवर्सल स्टूडियो को बंद कर दिया गया है और लोगों को एक नकारात्मक कोविड परीक्षण का प्रमाण देने का आदेश दिया गया है। सीएनएन की रिपोर्ट के अनुसार, शनिवार को शहर में अंतरराष्ट्रीय मजदूर दिवस के अवसर पर पांच दिनों की छुट्टी के रूप में प्रतिबंध लगाया गया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि कई दौर के सामूहिक परीक्षण, दर्जनों आवासीय जगहों और स्कूलों को बंद करने जैसे कड़े प्रतिबंध लगाए गए हैं।

बीजिंग में कोरोना का डर, लोगों ने राशन का लगाया स्टाक

स्थानीय मीडिया के अनुसार बीजिंग में खतरनाक दर से कोरोना मामलों में वृद्धि जारी है। यहां रविवार को 51 स्थानीय रूप से संचरित कोरोना मामलों की पुष्टि की गई। सीएनएन ने बताया कि बीजिंग के कई लोगों ने पिछले एक हफ्ते में भोजन और दैनिक आवश्यकताओं का स्टाक करने के लिए होड़ मचा दी है। एक रिपोर्ट में कहा गया है कि कई स्थानीय सरकारों ने लोगों को अपने शहरों को तब तक नहीं छोड़ने का आदेश दिया है जब तक कि बिल्कुल आवश्यक न हो।

शंघाई में भी हालात खराब

चीन के पूर्वी वित्तीय केंद्र शंघाई में 32 नई मौतों की सूचना से वहां सरकार ने और सख्ती अपना ली है। स्थानीय सरकार के अनुसार शहर में पिछले 24 घंटों में 6,606 नए स्थानीय स्पर्शोन्मुख कोरोना मामले दर्ज किए गए हैं। इसी के कारण सरकार ने वहां कई नए प्रतिबंध लगा दिए हैं।

English News

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com