जानिए क्या है चेहरे पर झाइयां आने के कारण

अगर किसी लड़की के चेहरे पर झाइयां आ जाए तो उसकी पूरी खूबसूरती खराब हो जाती है. त्वचा पर एक बार झाइयां आने के बाद इसे हटाना मुश्किल हो जाता है. लड़कियों की स्किन बहुत ज्यादा सेंसिटिव होती है जिसके कारण उनकी त्वचा पर झाइयां आसानी से आ जाती हैं. लड़कियां झाइयों की समस्या को दूर करने के लिए कई प्रकार के ब्यूटी प्रोडक्ट, घरेलू उपाय और स्किन ट्रीटमेंट का इस्तेमाल करती हैं. जिससे कोई फायदा नहीं होता है. आज हम आपको झाइयां आने के कुछ कारणों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्हें जानने के बाद आप आसानी से इसका इलाज करवा सकते हैं. अगर किसी लड़की के चेहरे पर झाइयां आ जाए तो उसकी पूरी खूबसूरती खराब हो जाती है. त्वचा पर एक बार झाइयां आने के बाद इसे हटाना मुश्किल हो जाता है. लड़कियों की स्किन बहुत ज्यादा सेंसिटिव होती है जिसके कारण उनकी त्वचा पर झाइयां आसानी से आ जाती हैं. लड़कियां झाइयों की समस्या को दूर करने के लिए कई प्रकार के ब्यूटी प्रोडक्ट, घरेलू उपाय और स्किन ट्रीटमेंट का इस्तेमाल करती हैं. जिससे कोई फायदा नहीं होता है. आज हम आपको झाइयां आने के कुछ कारणों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्हें जानने के बाद आप आसानी से इसका इलाज करवा सकते हैं.     1- लगातार धूप के संपर्क में रहने के कारण चेहरे पर टैनिंग की समस्या के साथ-साथ झाइयों की भी समस्या हो सकती है. ज़्यादा देर धुप में रहने के कारण शरीर की कोशिकाओं में  मैलेनोसाइटिस  का निर्माण होने लगता है जिससे मेलानिन हार्मोन की मात्रा बढ़ जाती है. जो चेहरे पर झाइयां आने की समस्या को बढ़ाते हैं. इसलिए अपनी त्वचा को हमेशा तेज धूप के संपर्क में आने से बचाना चाहिए.   2- प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं के शरीर में कई प्रकार के हार्मोनल बदलाव आते हैं. इन दिनों महिलाओं के हारमोंस में बहुत सारे चेंज होते हैं. जिसके कारण चेहरे पर झाइयों की समस्या हो जाती है. इसके अलावा गर्भावस्था में मेलानिन हार्मोन बढ़ जाता है जो त्वचा पर झाइयों का कारण बन सकता है.     3- स्किन डैमेज होने पर भी झाइयों की समस्या हो सकती है. स्किन डैमेज होने पर  स्किन इंफ्लेमेटरी रिएक्शन करती है. जिससे मैलेनोसाइटिस  कोशिकाएं सक्रिय हो जाते हैं और शरीर में मेलानिन का लेवल बढ़ जाता है. जिससे झाइयों की समस्या हो सकती हैं.

1- लगातार धूप के संपर्क में रहने के कारण चेहरे पर टैनिंग की समस्या के साथ-साथ झाइयों की भी समस्या हो सकती है. ज़्यादा देर धुप में रहने के कारण शरीर की कोशिकाओं में  मैलेनोसाइटिस  का निर्माण होने लगता है जिससे मेलानिन हार्मोन की मात्रा बढ़ जाती है. जो चेहरे पर झाइयां आने की समस्या को बढ़ाते हैं. इसलिए अपनी त्वचा को हमेशा तेज धूप के संपर्क में आने से बचाना चाहिए. 

2- प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं के शरीर में कई प्रकार के हार्मोनल बदलाव आते हैं. इन दिनों महिलाओं के हारमोंस में बहुत सारे चेंज होते हैं. जिसके कारण चेहरे पर झाइयों की समस्या हो जाती है. इसके अलावा गर्भावस्था में मेलानिन हार्मोन बढ़ जाता है जो त्वचा पर झाइयों का कारण बन सकता है. 

3- स्किन डैमेज होने पर भी झाइयों की समस्या हो सकती है. स्किन डैमेज होने पर  स्किन इंफ्लेमेटरी रिएक्शन करती है. जिससे मैलेनोसाइटिस  कोशिकाएं सक्रिय हो जाते हैं और शरीर में मेलानिन का लेवल बढ़ जाता है. जिससे झाइयों की समस्या हो सकती हैं.

You May Also Like

English News