ट्राई चीफ के चैलेंज के बाद UIDAI ने अपना आधार नंबर शेयर न करने की दी चेतावनी

यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (UIDAI) ने भारतीय आधार धारकों को अपना आधार नंबर सोशल मीडिया साइट्स या किसी भी अन्य जगह शेयर न करने की सलाह दी है। ट्राई के चेयरमैन आर एस शर्मा के ट्विटर पर आधार नंबर शेयर करने के बाद यह एडवाइजरी जारी की गई है। UIDAI ने कहा है कि कानून के तहत आधार नंबर जैसी निजी जानकारियों को सार्वजनिक करने की मनाही है।यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया (UIDAI) ने भारतीय आधार धारकों को अपना आधार नंबर सोशल मीडिया साइट्स या किसी भी अन्य जगह शेयर न करने की सलाह दी है। ट्राई के चेयरमैन आर एस शर्मा के ट्विटर पर आधार नंबर शेयर करने के बाद यह एडवाइजरी जारी की गई है। UIDAI ने कहा है कि कानून के तहत आधार नंबर जैसी निजी जानकारियों को सार्वजनिक करने की मनाही है।   आधार का गलत इस्तेमाल न करें:  शर्मा के ट्विटर पर चैलेंज देने के बाद कुछ लोगों के सोशल मीडिया और इंटरनेट पर अपने आधार नंबर पोस्ट करके दूसरों को चैलेंज देना शुरू कर दिया था। इस खबर के बाद ही UIDAI की तरफ से यह एडवाजरी जारी की गई। UIDAI ने कहा है कि 12 अंक का आधार नंबर एक गोपनिय दस्तावेज है। इसका इस्तेमाल पहचान प्रमाणीकरण के लिए किया जाता है। लिहाजा इसे किसी के साथ साझा नहीं करना चाहिए। इसका गलत इस्तेमाल किया जा सकता है।  वहीं, UIDAI ने यह भी चेतावनी दी है कि अगर कोई व्यक्ति किसी के आधार का गलत इस्तेमाल करता हुआ पाया गया या ऐसा करने के लिए दूसरों को उकसाया तो कानून के तहत उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। ऐसा करना आधार एक्ट 2016 के तहत दंडनीय अपराध है।   ट्राई के चेयरमैन को ट्विटर पर आधार डिटेल्स डालना पड़ा महंगा, हैक हुई बैंक डिटेल्स यह भी पढ़ें आर एस शर्मा ने पोस्ट की थी डिटेल्स:  टेलिकॉम रेग्यूलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (TRAI) के चेयरमैन आर एस शर्मा ने हैकर्स को चुनौती देते हुए अपनी आधार डिटेल्स को अपने ट्विटर अकाउंट पर पोस्ट किया था। शर्मा ने हैकर्स से कहा था कि वो उनकी डिटेल्स को हैक करके दिखाए। इस ट्विट के बाद एथिकल हैकर्स जिसमें एलियट एंडरसन, पुष्पेंद्र सिंह, कनिष्क सजनानी, अनिनार अरविंद और करण सैनी शामिल हैं, ने बताया कि उनकी 14 जानकारियां लीक हो चुकी हैं।

आधार का गलत इस्तेमाल न करें:

शर्मा के ट्विटर पर चैलेंज देने के बाद कुछ लोगों के सोशल मीडिया और इंटरनेट पर अपने आधार नंबर पोस्ट करके दूसरों को चैलेंज देना शुरू कर दिया था। इस खबर के बाद ही UIDAI की तरफ से यह एडवाजरी जारी की गई। UIDAI ने कहा है कि 12 अंक का आधार नंबर एक गोपनिय दस्तावेज है। इसका इस्तेमाल पहचान प्रमाणीकरण के लिए किया जाता है। लिहाजा इसे किसी के साथ साझा नहीं करना चाहिए। इसका गलत इस्तेमाल किया जा सकता है।

वहीं, UIDAI ने यह भी चेतावनी दी है कि अगर कोई व्यक्ति किसी के आधार का गलत इस्तेमाल करता हुआ पाया गया या ऐसा करने के लिए दूसरों को उकसाया तो कानून के तहत उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। ऐसा करना आधार एक्ट 2016 के तहत दंडनीय अपराध है।

आर एस शर्मा ने पोस्ट की थी डिटेल्स:

टेलिकॉम रेग्यूलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (TRAI) के चेयरमैन आर एस शर्मा ने हैकर्स को चुनौती देते हुए अपनी आधार डिटेल्स को अपने ट्विटर अकाउंट पर पोस्ट किया था। शर्मा ने हैकर्स से कहा था कि वो उनकी डिटेल्स को हैक करके दिखाए। इस ट्विट के बाद एथिकल हैकर्स जिसमें एलियट एंडरसन, पुष्पेंद्र सिंह, कनिष्क सजनानी, अनिनार अरविंद और करण सैनी शामिल हैं, ने बताया कि उनकी 14 जानकारियां लीक हो चुकी हैं।

You May Also Like

English News