ट्रेफिक से बचने के लिए इस गूगल इंजीनियर ने लगाया दिमाग

दुनिया में कई लोग हैं जो हर सुबह ऑफिस जाते हैं, उनमे से कुछ ऐसे होते हैं जिनके पास खुद की गाड़ी, बाइक या फिर कार होती है और कुछ ऐसे होते हैं जो रोज बस, ट्रैन या फिर कैब से सफर करते हैं. अब आज हम एक ऐसे व्यक्ति के बारे में आपको बताने जा रहे हैं जो बस में सफर करते करते तक तक गया था और इसी वजह से उसने खुद की एक बोट बनाई और अब वह उससे रोज ऑफिस जाता है. जी हम जिस व्यक्ति की बात कर रहे है उनका नाम है टॉमी लट्स. टॉमी लट्स गूगल में इंजीनियर है और वह हर दिन ऑफिस अपनी बोट से जाते है.ट्रेफिक से बचने के लिए इस गूगल इंजीनियर ने लगाया दिमाग

हर दिन वह एक कर्मचारी की तरह बोट से घर से ऑफिस तक का सफर तय करते हैं. बोट में जाने का रीजन जब उनसे पूछा गया तो उन्होंने कहा कि वह बस में सफर करते-करते तक गए थे और प्राकृतिक नजारों का लुत्फ़ उठाना चाहते थे इस वजह से उन्होंने यह फैसला लिया कि वह अब बस से नहीं बल्कि बोट से ऑफिस जाएंगे. उसके बाद उन्होंने खुद की एक बोट बनाई और हर दिन बोट से ऑफिस जाने लगे. बोट से वह करीब ढाई घंटे में ऑफिस पहुँचते हैं और बोट के पीछे वह अपनी साइकिल भी बांधकर ले जाते हैं.

बोट से जब वह ब्रिज के किनारे पहुँचते हैं तो वहां से करीब 20 मिनिट दूर तक साइकिल से जाते हैं और ऑफिस पहुँचते हैं. टॉमी इस सफर को काफी देर में ता करते हैं और इससे उन्हें काफी जायद समय भी लगता है लेकिन वह कहते है कि यह बस से जाने से काफी बेहतर है. पहली बार सफर के वक्त उनकी पत्नी काफी परेशान थी लेकिन अब वह बेफिक्र रहने लगी हैं.

You May Also Like

English News