…तो क्या चौकसी को बिना पुलिस वेरिफिकेशन के ही मिल गया था पासपोर्ट

मुंबई: पीएनबी महाघोटाले में आरोपित मेहुल चौकसी के बारे में एक और खुलासा हुआ है. मुंबई पुलिस का दावा है कि उसका पासपोर्ट बिना वेरिफिकेशन के जारी हुआ. समाचार एजेंसी एएनआई ने मुंबई पुलिस के हवाले से कहा कि क्षेत्रीय पासपोर्ट कार्यालय ने भगोड़े मेहुल चौकसी का पासपोर्ट नो ‘पुलिस वेरिफिकेशन रिक्‍वायर्ड’ (PVR) स्‍टेटस के तहत जारी किया. मुंबई पुलिस के मुताबिक पासपोर्ट के लिए नो पीवीआर जनरेट हुआ था. उसे 10 सितंबर, 2015 को तत्‍काल कटैगरी में पासपोर्ट दिया गया. उसका पासपोर्ट 10 साल तक वैध है.

विदेश मंत्रालय बोला-मानकों का पालन हुआ
मुंबई पुलिस के आधिकारिक बयान एक्‍स्‍टर्नल अफेयर्स मंत्रालय की सफाई के बाद आया है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता रवीश कुमार ने कहा था कि चौकसी के पासपोर्ट पर क्‍लीयर पीवीआर के आधार पर ही पुलिस क्‍लीयरेंस सर्टिफिकेट (PCC) जारी किया गया. हालांकि मुंबई पुलिस का कहना है कि चौकसी ने पीसीसी के लिए 23 फरवरी 2017 को एप्‍लाई किया था. 24 फरवरी 2017 को मालाबार हिल पुलिस ने पीसीसी देने से पहले पर्सनल पर्टिकुलर फॉर्म डाउनलोड किया था ताकि पुलिस वेरिफिकेशन हो सके. 10 मार्च 2017 को पासपोर्ट कार्यालय ने चौकसी के खिलाफ कोई आपराधिक रिकॉर्ड न मिलने पर पीसीसी रिपोर्ट दाखिल कर दी थी. यह पीसीसी रिपोर्ट गहन सत्‍यापन के बाद तैयार की गई थी. पीसीसी रिपोर्ट मुंबई पुलिस के क्रिमिनल एंटीसीडेंट्स एंड इंफॉर्मेशन सिस्‍टम (CAIS) के आधार पर दिया गया. यह सिस्‍टम यह बताता है कि आवेदक कभी गिरफ्तार हुआ या नहीं.

2017 में एंटीगुआ गया था चौकसी

4 दिन बाद 14 मार्च, 2017 को एसबीआई-द्वितीय की पासपोर्ट शाखा, सीआईडी ने भी अपनी पीसीसी आरपीओ को जारी कर दिया. विदेश मंत्रालय के प्रवक्‍ता कुमार ने कहा था कि सभी पासपोर्ट इशुइंग अथॉरिटी पीसीसी जारी कर सकती हैं अगर पीवीआर क्‍लीयर है और अगर नो पीवीआर होता है तो पीसीसी देने से पहले ताजा पीवीआर लेना पड़ता है. लेकिन मेहुल चौकसी के मामले में पीसीसी देते वक्‍त पीवीआर क्‍लीयर था. इसके बाद बाकी प्रक्रिया हुई. उस समय मेहुल चौकसी ने एंटीगुआ और बरबूडा जाने के लिए पीसीसी मांगा था. चौकसी 4 जनवरी 2018 को मुंबई एयरपोर्ट से भागा था.

मुंबई पुलिस शुरू करेगी जांच
सीबीआई ने 31 जनवरी 2018 को चौकसी के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी. इसके बाद 23 फरवरी 2018 को चौकसी का पासपोर्ट रिवोक कर दिया गया. एंटीगुआ की नागरिकता पर मुंबई पुलिस ने पीवीआर जारी होने की प्रक्रिया की जांच शुरू कर दी है. वह इसकी आतंरिक जांच भी करेगी.

You May Also Like

English News