थेरेपी एक फायदें अनेक, इन शारीरिक समस्याओं से तुरंत मिलेगा आराम

आज के समय में कपिंग थैरेपी का चलन काफी तेज हो गया है. इसको करवाने से ना सिर्फ स्किन से डैड सैल्स बाहर निकलते हैं बल्कि कई हैल्थ बैनिफिट्स भी होते हैं. तो आइए जानते हैं कैसे होती है कपिंग थैरेपी और इसको करवाने से क्या-क्या फायदें होते हैं.आज के समय में कपिंग थैरेपी का चलन काफी तेज हो गया है. इसको करवाने से ना सिर्फ स्किन से डैड सैल्स बाहर निकलते हैं बल्कि कई हैल्थ बैनिफिट्स भी होते हैं. तो आइए जानते हैं कैसे होती है कपिंग थैरेपी और इसको करवाने से क्या-क्या फायदें होते हैं... पिंपल्स की समस्या से छुटकारा दिलाता है हरी धनिया का फेस पैक 1. ब्लड सर्कुलेशन रहता है ठीक इस थैरेपी से ब्लड सर्कुलेशन ठीक रहता है. साथ ही यह थैरेपी खून में मौजूद विषैल पदार्थों को खत्म करके दूषित तत्वों को भी बाहर निकालती है. इससे नया और साफ़ खून भी बनता हैं. जो कि कई बीमारियों को दूर करता है. 2. दर्द से मिलता है तुरंत आराम इस थैरेपी से माइग्रेन के दर्द, पीठ दर्द और गर्दन के दर्द से काफी राहत मिलती है. इसको सूजन वाली जगह पर लगाने से टिशू को भी आराम मिलता है. अगर आप किसी भी प्रकार के दर्द से परेशान हैं तो आप इस थैरेपी का सहारा ले सकते हैं. 3. सर्दी, खांसी और एलर्जी से मिलती है राहत इस थैरेपीसे सर्दी, खांसी और एलर्जी को ठीक किया जा सकता है. इसके साथ ही यह रोग-प्रतिरोधक क्षमता को भी कई हद तक बढ़ा देती है. 4. सूजन को करती है कम इस थैरेपी से शरीर में पड़ी गांठों को ठीक करके सूजन को कम किया जा सकता है. इसके तहत आजकल बहुत से एथलिट इस थेरेपी का इस्तेमाल भी धड़ल्ले से कर रहे हैं. क्योंकि यह बहुत अधिक कसरत करने के बाद उनके शरीर को काफी जल्दी सामान्य कर देती है.आज के समय में कपिंग थैरेपी का चलन काफी तेज हो गया है. इसको करवाने से ना सिर्फ स्किन से डैड सैल्स बाहर निकलते हैं बल्कि कई हैल्थ बैनिफिट्स भी होते हैं. तो आइए जानते हैं कैसे होती है कपिंग थैरेपी और इसको करवाने से क्या-क्या फायदें होते हैं... पिंपल्स की समस्या से छुटकारा दिलाता है हरी धनिया का फेस पैक 1. ब्लड सर्कुलेशन रहता है ठीक इस थैरेपी से ब्लड सर्कुलेशन ठीक रहता है. साथ ही यह थैरेपी खून में मौजूद विषैल पदार्थों को खत्म करके दूषित तत्वों को भी बाहर निकालती है. इससे नया और साफ़ खून भी बनता हैं. जो कि कई बीमारियों को दूर करता है. 2. दर्द से मिलता है तुरंत आराम इस थैरेपी से माइग्रेन के दर्द, पीठ दर्द और गर्दन के दर्द से काफी राहत मिलती है. इसको सूजन वाली जगह पर लगाने से टिशू को भी आराम मिलता है. अगर आप किसी भी प्रकार के दर्द से परेशान हैं तो आप इस थैरेपी का सहारा ले सकते हैं. 3. सर्दी, खांसी और एलर्जी से मिलती है राहत इस थैरेपीसे सर्दी, खांसी और एलर्जी को ठीक किया जा सकता है. इसके साथ ही यह रोग-प्रतिरोधक क्षमता को भी कई हद तक बढ़ा देती है. 4. सूजन को करती है कम इस थैरेपी से शरीर में पड़ी गांठों को ठीक करके सूजन को कम किया जा सकता है. इसके तहत आजकल बहुत से एथलिट इस थेरेपी का इस्तेमाल भी धड़ल्ले से कर रहे हैं. क्योंकि यह बहुत अधिक कसरत करने के बाद उनके शरीर को काफी जल्दी सामान्य कर देती है.

1. ब्लड सर्कुलेशन रहता है ठीक

इस थैरेपी से ब्लड सर्कुलेशन ठीक रहता है. साथ ही यह थैरेपी खून में मौजूद विषैल पदार्थों को खत्म करके दूषित तत्वों को भी बाहर निकालती है. इससे नया और साफ़ खून भी बनता हैं. जो कि कई बीमारियों को दूर करता है. 

2. दर्द से मिलता है तुरंत आराम

इस थैरेपी से माइग्रेन के दर्द, पीठ दर्द और गर्दन के दर्द से काफी राहत मिलती है. इसको सूजन वाली जगह पर लगाने से टिशू को भी आराम मिलता है. अगर आप किसी भी प्रकार के दर्द से परेशान हैं तो आप इस थैरेपी का सहारा ले सकते हैं.

3. सर्दी, खांसी और एलर्जी से मिलती है राहत

इस थैरेपीसे सर्दी, खांसी और एलर्जी को ठीक किया जा सकता है. इसके साथ ही यह रोग-प्रतिरोधक क्षमता को भी कई हद तक बढ़ा देती है. 

4. सूजन को करती है कम

इस थैरेपी से शरीर में पड़ी गांठों को ठीक करके सूजन को कम किया जा सकता है. इसके तहत आजकल बहुत से एथलिट इस थेरेपी का इस्तेमाल भी धड़ल्ले से कर रहे हैं. क्योंकि यह बहुत अधिक कसरत करने के बाद उनके शरीर को काफी जल्दी सामान्य कर देती है.

You May Also Like

English News