दो दिन से चेहरे पर रहती हैं फुंसी तो हो जाएं सावधान, हो सकती है ये बीमारी….

ग्रामीण हों या शहरी, महिलाओं में अब खून की कमी होने लगी है। ग्रामीण महिलाएं घरेलू कार्य को निपटाने में इतनी व्यस्त हो जाती हैं कि वह अपने खानपान और स्वास्थ्य पर भी ध्यान नहीं दें पातीं।

स्थिति यह है कि घर के सदस्यों को खिलाने के बाद ही खुद भोजन करती हैं। साथ ही पूजा-पाठ में भी उन्हें खाना खाने में विलंब हो जाता है। इस वजह से भी उनमें खून की कमी होने लगती है।
पौष्टिक आहार नहीं लेने की वजह से भी वह कमजोर हो जाती हैं। इससे उनमें कई बीमारियां होने लगती हैं। जबकि शहरी महिलाएं फास्ट फूड को पसंद कर रही हैं अत: उनमें मोटापा के साथ ही खून की कमी होती है। इससे बांझपन का भी खतरा बढ़ गया है। 
गर्भवती को कम से कम तीन बार अवश्य जांच करवानी चाहिए, ताकि यह जानकारी मिले कि गर्भस्थ शिशु का विकास कैसा है। साथ ही महिला को खून की कमी है या नहीं। गर्भस्थ शिशु के विकास के लिए आवश्यक है कि मां का खानपान पौष्टिक हो। तभी गर्भस्थ शिशु का पूरी तरह से विकास संभव है।
इसके अलावा गर्भवती महिलाओं में अगर खून की कमी रहती है तो प्रसव के समय या पूर्व में ज्यादा रक्तश्राव होने से मां और शिशु को भी नुकसान हो सकता है। वे एनिमिया की शिकार हो जाती हैं। अत: गर्भवती माताओं को आयरन की गोली के अलावा दूध, हरी साग-सब्जी, फलों आदि का सेवन करना चाहिए।
साथ ही निजी अंगों की सफाई पर ध्यान रखना भी आवश्यक है, ताकि वे संक्रमण से बच सकें। इससे लिकोरिया आदि बीमारियों से बचाव किया जा सकता है। माहवारी के समय साफ कपड़ा या पैड रखना आवश्यक है, वहीं मुलायम अंडर गारर्मेट भी पहनना चाहिए। रविवार को दैनिक जागरण द्वारा आयोजित प्रश्न पहर में आई स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. प्रियंका आनंद से पाठकों ने प्रश्न पूछे।
प्रश्न : मेरी उम्र 24 वर्ष है। माहवारी समय पर नहीं आता। आने पर एक दिन से ज्यादा नहीं रहता, रक्तश्राव भी कम होता है। साथ ही बार-बार पेशाब करने की इच्छा होती है। एक बार गर्भपात करवा चुकी हूं। कमर दर्द भी रहता है।
दीपा कुमारी, भागलपुर
उत्तर : हारमोन्स में गड़बड़ी आई होगी। अथवा ओवरी में सिस्ट रहने से भी माहवारी समय पर नहीं आता। अल्ट्रासाउंड करवाने से जानकारी मिल सकती है। संक्रमण की वजह से पेशाब बार-बार करने की इच्छा होती है। कैल्शियम की कमी या गलत तरीके से बैठने से कमर दर्द होने की संभावना बढ़ जाती है।
प्रश्न : मेरी उम्र 24 वर्ष है। मुंह में फुंसी हो गई है। काला दाग भी हो जाता है।
शंभु शंकर, पीरपैंती
उत्तर : तैलीय स्कीन होने से मुंहासे हो सकते हैं। दिन में दो-तीन बार चेहरे को धोएं। पानी ज्यादा पीएं। क्लीस जेल लगाने से लाभ होगा।
प्रश्न : तीन बच्चे हैं। पत्‍‌नी परिवार नियोजन करवाना चाहती है।
मो. जावेद, रजौन
उत्तर : अस्पताल में परिवार नियोजन का ऑपरेशन करवा लें। इसके लिए सरकार राशि भी देती है। कॉपर टी भी लगवा सकती हैं।
प्रश्न : बुखार आता है और सर्दी भी है। क्या दवा खानी चाहिए।
मधु कुमारी, सिमरिया
उत्तर : मौसम परिवर्तन से वायरल बुखार होता है। सर्दी और खांसी भी होती है। खासकर वैसे लोग ज्यादा प्रभावित होते हैं जिन्हें एलर्जी है। बदल रहे मौसम में सावधानी बरतनी चाहिए। अस्पताल में चिकित्सक से दिखा लें।
प्रश्न : मेरी उम्र 17 वर्ष है। माहवारी के समय पेट में तेज दर्द होता है।
नेहा, नाथनगर
उत्तर : उम्र बढ़ने के साथ ही ठीक हो जाएगा। तत्काल रबर के बैग में गर्म पानी रखकर सेकें। मेक्टल स्पॉस दवा के सेवन से दर्द में आराम मिलेगा। प्रतिदिन एक दवा तीन दिनों तक खाएं।
प्रश्न : मां की उम्र 70 वर्ष और वजन 68 किलोग्राम है। कमर में दर्द रहता है। साथ ही पेशाब करते वक्त गर्भाशय थोड़ा बाहर आ जाता है।
दीपक कुमार मिश्रा, उर्दू बाजार
उत्तर : कैल्शियम की कमी की वजह से दर्द हो सकता है। कैल्शियम की कमी दूर करने के लिए दूध पिलाएं कैल्शियम की गोली भी दे सकते हैं। गर्भाशय के मामले में अस्पताल में सर्जन से सलाह ले लें।
प्रश्न : बच्चेदानी में सूजन है। अल्ट्रासाउंड करवाने से जानकारी मिली।
रंजू देवी, नवगछिया
उत्तर : संक्रमण की वजह से सूजन आ गया होगा। अस्पताल में चिकित्सक से इलाज करवा लें।
प्रश्न : आधा सिर में दर्द रहता है। देखने की भी इच्छा नहीं करती है।
अर्चना देवी, चंपानगर
उत्तर : ज्यादा भीड़भाड़ वाले क्षेत्र में रहने से भी सिर में दर्द हो सकता है। अथवा आंखों की रोशनी में कमी आने से भी। या आपको माइग्रेन भी हो सकता है। अस्पताल में इलाज करवा लें।
प्रश्न : मेरी उम्र 32 वर्ष है। एक सप्ताह पहले बच्चेदानी का ऑपरेशन करवाया था। पेशाब करने पर शौच के रास्ते में दर्द होता है।
शोभा देवी, सबौर
उत्तर : कब्जियत से भी दर्द होता है। सुपाच्य भोजन करें, ताकि पेट साफ रहे।
प्रश्न : पत्‍‌नी की उम्र 66 वर्ष है। स्तन में गिल्टी हो गई है, दर्द भी होता है।
विंदेश्वरी प्रसाद, अलीगंज
उत्तर : मेमोग्राफी और अल्ट्रासाउंड से गिल्टी के बारे में जानकारी मिल सकती है।
प्रश्न : बेटी की उम्र 24 वर्ष है। बुखार है और सिर दर्द भी करता है।
मोहन, सुलतानगंज
उत्तर : मौसम बदलने से एलर्जी की वजह से बुखार और सिर दर्द हो रहा है। चिकित्सक से दिखा लें।
प्रश्न : माहवारी के समय दर्द और ज्यादा रक्तश्राव होता है।
गायत्री, तिलकामांझी
उत्तर : बच्चेदानी में सिस्ट हो सकता है। अल्ट्रासाउंड करवा लें।
प्रश्न : मेरी उम्र 20 वर्ष है। कमजोरी महसूस होती है। थायरायड भी है।
राखी कुमारी, तिलकामांझी
उत्तर : पौस्टिक खाना खाएं। मौसमी फलों का सेवन अवश्य करें। थायरायड की जांच कराते रहें।
प्रश्न : बेटी की उम्र 19 वर्ष है। छाती में उभार नहीं है और न ही माहवारी ही शुरू हुई है।
कोमल, नवगछिया
उत्तर : कभी-कभी हारमोन्स की कमी से ऐसा हो सकता है। लेकिन यह जानकारी भी लेनी होगी कि बेटी को बच्चेदानी है या नहीं। चिकित्सक से दिखा लें।
प्रश्न : पूरे शरीर में सूजन है। चावल खाने से सूजन और बढ़ जाता है।
ममता कुमारी, सुलतानगंज
उत्तर : थायरायड, किडनी आदि रोग से शरीर में सूजन होने की संभावना रहती है। अथवा खून की कमी भी हो सकती है। जांच करवा लें।

You May Also Like

English News