पांचवें टेस्ट में भारत को 118 रन से मिली हार, इंग्लैंड ने 4-1 से जीती टेस्ट सीरीज

भारत और इंग्लैंड के बीच पांच टेस्ट मैचों की सीरीज का आखिरी मुकाबला ओवल में खेला गया। इस मैच में भारत को 118 रन से शिकस्त झेलनी पड़ी। भारत को जीत के लिए 464 रन का लक्ष्य मिला था लेकिन लोकेश राहुल और रिषभ पंत के शतक के बावजूद भारतीय टीम दूसरी पारी में 345 रन पर आउट हो गई। इस मैच में हार के साथ ही भारत ने पांच टेस्ट मैचों की सीरीज को 1-4 से गवां दिया। विराट की कप्तानी में पहली बार इंग्लैंड गई भारतीय टीम को इस टेस्ट सीरीज में हार मिली।

ये टेस्ट एलिएस्टर कुक का आखिरी टेस्ट मैच था जिसमें उन्होंने शतक लगाया। कुक को उनकी शानदार पारी के लिए ‘मैन ऑफ द मैच’ चुना गया। टेस्ट सीरीज में शानदार ऑलराउंड प्रदर्शन करने वाले सैम कुर्रन को ‘मैन ऑफ द सीरीज’ चुना गया। कुर्रन ने पूरी सीरीज के दौरान 272 रन बनाए व 11 विकेट लिए। विराट कोहली को भी ‘मैन ऑफ द सीरीज’ चुना गया। उन्होंने पांच टेस्ट मैचों की सीरीज के दौरान सबसे ज्यादा 593 रन बनाए। 

इंग्लैंड के खिलाफ दूसरी पारी में भी भारतीय टीम की शुरुआत काफी खराब रही। टीम के ओपनर बल्लेबाज शिखर धवन दूसरी पारी में भी सिर्फ एक रन बनाकर जेम्स एंडरसन का शिकार बने और एलबीडब्ल्यू आउट हो गए। एंडरसन ने चेतेश्वर पुजारा को अपना दूसरा शिकार बनाया और उन्हें बिना खाता खोले ही शून्य पर एलबीडब्ल्यू आउट कर पवेलियन का रास्ता दिखा दिया।  कप्तान विराट को भी स्टुअर्ट ब्रॉड ने शून्य पर विकेट के पीछे बेयरस्टो के हाथों कैच आउट करवा दिया।

बेहतरीन बल्लेबाजी कर रहे अजिंक्य रहाणे को मोइन अली ने आउट किया। मोइन की गेंद पर रहाणे का कैच जेनिंग्स ने पकड़ा। उन्होंने 106 गेंदों का सामना करते हुए 37 रन की पारी खेली। पहली पारी में अपनी बेहतरीन बल्लेबाजी से चर्चा का विषय बने हनुमा विहारी दूसरी ही पारी में धराशाई हो गए। वो बेन स्टोक्स की गेंद पर अपना खाता भी नहीं खोल पाए और बेयरस्टो ने विकेट के पीछे उनका कैच लपक लिया। लोकेश राहुल ने 224 गेंदों का सामना करते हुए 149 रन बनाए। उन्हें आदिल राशिद क्लीन बोल्ड कर दिया। राहुल ने छठे विकेट के लिए रिषभ पंत के साथ मिलकर रिकॉर्ड 204 रन की साझेदारी की। शानदार बल्लेबाजी कर रहे रिषभ पंत को भी आदिल राशिद ने ही आउट किया। 114 रन पर रिषभ का कैच आदिल की गेंद पर मोइन अली ने लपका। जडेजा को सैम कुर्रन ने 13 रन पर बेयरस्टो के हाथों कैच करवा दिया। इशांत शर्मा पांच रन बनाकर सैम कुर्रन की गेंद पर बेयरस्टो के हाथों लपके गए। मो. शमी को एंडरसन ने शून्य पर आउट कर दिया। 

दूसरी पारी में इंग्लैंड की तरफ से जेम्स एंडरसन ने तीन, सैम कुर्रन व आदिल राशिद ने दो-दो जबकि ब्रॉड, मोइन अली व बेन स्टोक्स ने एक-एक विकेट लिए। 

मैच की दूसरी पारी में भारतीय टीम को पहली सफलता तेज गेंदबाज शमी ने दिलाई। उन्होंने इंग्लिश ओपनर बल्लेबाज जेनिंग्स को 10 रन के निजी स्कोर पर क्लीन बोल्ड कर दिया। टीम इंडिया को दूसरी सफलता जडेजा ने दिलाई। उन्होंने मोइन अली को अपना शिकार बनाया और 20 रन के स्कोर पर क्लीन बोल्ड कर दिया। एलिस्टर कुक ने अपने आखिरी टेस्ट मैच में शानदार पारी खेली और उन्हें हनुमा विहारी ने 147 रन पर आउट किया। वहीं विहारी ने अपने इसी ओवर में कप्तान रूट को 125 रन पर आउट किया। रुट का कैच हार्दिक पांड्या ने पकड़ा। वहीं कुक का कैच विकेट के पीछे रिषभ पंत ने लपका। शमी ने बेयरस्टो को 18 रन के स्कोर पर क्लीन बोल्ड कर दिया। भारत को छठा विकेट जडेजा ने दिलाया। उन्होंने जोस बटलर को बिना खाता खोले ही पवेलियन वापस भेज दिया। बटलर का कैच शमी ने लपका। जडेजा ने बेन स्टोक्स को लोकेश राहुल के हाथों कैच करवा दिया। उन्होंने 36 गेंदों पर 37 रन बनाए। सैम कुर्रन को हनुमा विहारी 21 रन पर पंत के हाथों कैच करवा दिया। आदिल रशीद 20 रन बनाकर नाबाद रहे। 

You May Also Like

English News