पाकिस्तान: सरकार बनाने के लिए समर्थन हासिल करने में जुटे इमरान खान

पाकिस्तान आम चुनावों में सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) अभी भी सरकार बनाने के लिए जरूरी बहुमत से दूर है और इसे छोटे दलों या निर्दलीय सांसदों के समर्थन की जरूरत है. इससे पहले पार्टी के नेताओं ने कहा था कि उन्हें किसी भी दूसरी पार्टी के समर्थन की जरूरत नहीं होगी. लेकिन पाकिस्तान के चुनाव आयोग की ओर से शनिवार को जारी परिणामों से पता चलता है कि सरकार गठन के लिए पार्टी के पास 22 सीटें अभी भी कम हैं.पाकिस्तान आम चुनावों में सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) अभी भी सरकार बनाने के लिए जरूरी बहुमत से दूर है और इसे छोटे दलों या निर्दलीय सांसदों के समर्थन की जरूरत है. इससे पहले पार्टी के नेताओं ने कहा था कि उन्हें किसी भी दूसरी पार्टी के समर्थन की जरूरत नहीं होगी. लेकिन पाकिस्तान के चुनाव आयोग की ओर से शनिवार को जारी परिणामों से पता चलता है कि सरकार गठन के लिए पार्टी के पास 22 सीटें अभी भी कम हैं.   पढ़ें: पाकिस्तान चुनाव: काउंटिंग खत्म, इमरान खान की पार्टी को मिली 115 सीटें, बहुमत से चूके   'डॉन' के मुताबिक, दूसरी तरफ दो प्रमुख दल पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) और पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के कुछ दिनों में बैठक करने उम्मीद है ताकि वे एक संयुक्त रणनीति तैयार कर सकें और संसद में पीटीआई के सामने कठिन चुनौती पेश कर सकें.   देखें , इन हसीनाओं के साथ अफेयर की खबरों को लेकर चर्चा में रह चुके हैं इमरान खान   वहीं कई टीवी रिपोटरें के मुताबिक, वरिष्ठ पीपीपी नेता सैयद खुर्शीद शाह रविवार को इस्लामाबाद में पीएमएल-एन अध्यक्ष शाहबाज शरीफ से मुलाकात करेंगे. पाकिस्तानी मीडिया शनिवार को महत्वपूर्ण सरकारी विभागों और संघीय कैबिनेट में पार्टी के संभावित उम्मीदवारों के नामों पर बात करती दिखी.   पढ़ें: धर्मगुरु पत्नी बुशरा ने की थी इमरान के PM बनने की भविष्यवाणी, जीत पर देश को दी मुबारकबाद   पीटीआई सूत्रों ने 'डॉन' से कहा कि शनिवार को बनीगाला स्थित इमरान खान के आवास पर आयोजित बैठकों में किसी के नाम पर चर्चा नहीं हुई थी. निर्वाचन आयोग द्वारा घोषित परिणामों के मुताबिक, पीटीआई ने 115 सीटें जीती है और बहुमत से 22 सीट दूर है जबकि पीएमएल-एन ने 64 और पीपीपी 43 सीटें जीती हैं

‘डॉन’ के मुताबिक, दूसरी तरफ दो प्रमुख दल पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) और पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) के कुछ दिनों में बैठक करने उम्मीद है ताकि वे एक संयुक्त रणनीति तैयार कर सकें और संसद में पीटीआई के सामने कठिन चुनौती पेश कर सकें.

वहीं कई टीवी रिपोटरें के मुताबिक, वरिष्ठ पीपीपी नेता सैयद खुर्शीद शाह रविवार को इस्लामाबाद में पीएमएल-एन अध्यक्ष शाहबाज शरीफ से मुलाकात करेंगे. पाकिस्तानी मीडिया शनिवार को महत्वपूर्ण सरकारी विभागों और संघीय कैबिनेट में पार्टी के संभावित उम्मीदवारों के नामों पर बात करती दिखी.

पीटीआई सूत्रों ने ‘डॉन’ से कहा कि शनिवार को बनीगाला स्थित इमरान खान के आवास पर आयोजित बैठकों में किसी के नाम पर चर्चा नहीं हुई थी. निर्वाचन आयोग द्वारा घोषित परिणामों के मुताबिक, पीटीआई ने 115 सीटें जीती है और बहुमत से 22 सीट दूर है जबकि पीएमएल-एन ने 64 और पीपीपी 43 सीटें जीती हैं

You May Also Like

English News