फेसबुक का नया फीचर थिंग्स इन कॉमन, ऐसे करेगा काम

सोशल मडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक एक नया फीचर लाने की तैयारी में है. कंपनी के मुताबिक फेसबुक में थिंग्स इन कॉमन नाम के एक नए फीचर की टेस्टिंग की जा रही है जो लोगों को कॉमेन्ट सेक्शन में दिखेगा.सोशल मडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक एक नया फीचर लाने की तैयारी में है. कंपनी के मुताबिक फेसबुक में थिंग्स इन कॉमन नाम के एक नए फीचर की टेस्टिंग की जा रही है जो लोगों को कॉमेन्ट सेक्शन में दिखेगा.  रिपोर्ट्स के मुताबिक थिंग्स इन कॉमन का लेबल पब्लिक कॉमेन्ट्स में दिखेगा. उदाहरण के तौर पर किसी फेसबुक पेज के किसी पोस्ट पर आपने कॉमेन्ट किया है और कई लोगों ने कॉमेन्ट है. अगर इसी पोस्ट के कॉमेन्ट में दूसरा यूजर कॉमेन्ट कर रहा है और वो आपके कॉलेज या ऑफिस से है तो आपको लेबल के जरिए जानकारी दी जाएगी. आपको कोई म्यूचुअल फ्रेंड्स न भी हों तो आपको बताया जाएगा.  फेसबुक ने कहा है कि अभी इस फीचर कुछ अमेरिकी यूजर्स को बतौर टेस्टिंग दिया गया है. फेसबुक के मुताबिक इस फीचर का मकसद लोगों को उनकी दिलचस्पी के हिसाब से जोड़ना है. फिलहाल इसके बारे में विस्तार से जानकारी नहीं दी गई है.  फेसबुक से जुड़ी हालिया दूसरी खबर की बात करें तो ऐपल ने अपने ऐप स्टोर से फेसबुक का VPN ऐप हटाने का दबाव डाला जिसके बाद फेसबुक ने इसे हटा लिया. इस ऐप पर आरोप था कि ये ऐपल के गाइडलाइन को फौलो नहीं करता था और यूजर डेटा कलेक्ट करता है.  हालांकि फेसबुक के इस फ्री वीपीएन ऐप को ऐपल ने जबरदस्ती नहीं हटाया, बल्कि फेसबुक पर इसे खुद से हटाने का दबाव डाला है. वॉल स्ट्रीट जर्नल की एक रिपोर्ट के मुताबिक ऐपल ने इस महीने की शुरुआत में फेसबुक को जानकारी दी थी कि Onvao Protect ऐप नए प्राइवेसी नियम का उल्लंघन करता है जिसे कंपनी ने जून में लागू किया है.

रिपोर्ट्स के मुताबिक थिंग्स इन कॉमन का लेबल पब्लिक कॉमेन्ट्स में दिखेगा. उदाहरण के तौर पर किसी फेसबुक पेज के किसी पोस्ट पर आपने कॉमेन्ट किया है और कई लोगों ने कॉमेन्ट है. अगर इसी पोस्ट के कॉमेन्ट में दूसरा यूजर कॉमेन्ट कर रहा है और वो आपके कॉलेज या ऑफिस से है तो आपको लेबल के जरिए जानकारी दी जाएगी. आपको कोई म्यूचुअल फ्रेंड्स न भी हों तो आपको बताया जाएगा.

फेसबुक ने कहा है कि अभी इस फीचर कुछ अमेरिकी यूजर्स को बतौर टेस्टिंग दिया गया है. फेसबुक के मुताबिक इस फीचर का मकसद लोगों को उनकी दिलचस्पी के हिसाब से जोड़ना है. फिलहाल इसके बारे में विस्तार से जानकारी नहीं दी गई है.

फेसबुक से जुड़ी हालिया दूसरी खबर की बात करें तो ऐपल ने अपने ऐप स्टोर से फेसबुक का VPN ऐप हटाने का दबाव डाला जिसके बाद फेसबुक ने इसे हटा लिया. इस ऐप पर आरोप था कि ये ऐपल के गाइडलाइन को फौलो नहीं करता था और यूजर डेटा कलेक्ट करता है.

हालांकि फेसबुक के इस फ्री वीपीएन ऐप को ऐपल ने जबरदस्ती नहीं हटाया, बल्कि फेसबुक पर इसे खुद से हटाने का दबाव डाला है. वॉल स्ट्रीट जर्नल की एक रिपोर्ट के मुताबिक ऐपल ने इस महीने की शुरुआत में फेसबुक को जानकारी दी थी कि Onvao Protect ऐप नए प्राइवेसी नियम का उल्लंघन करता है जिसे कंपनी ने जून में लागू किया है.

You May Also Like

English News