फॉर्च्यून 500 लिस्ट: रिलायंस समेत भारत की ये सात कंपनियां हैं शामिल, वॉलमार्ट नंबर वन

वैश्व‍िक पत्र‍िका फॉर्च्यून ने बुधवार को अपनी सालाना फॉर्च्यून 500 कंपनियों की लिस्ट जारी की है. दुनिया की इन सबसे बड़ी 500 कंपनियों में भारत की 6 कंपनियां शामिल हुई हैं. इनके अलावा भारतीय स्टेट बैंक ने भी इस‍ लिस्ट में जगह बनाई है. इस लिस्ट में सबसे ज्यादा बढ़त मुकेश अंबानी के स्वामित्व वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड को मिली है.वैश्व‍िक पत्र‍िका फॉर्च्यून ने बुधवार को अपनी सालाना फॉर्च्यून 500 कंपनियों की लिस्ट जारी की है. दुनिया की इन सबसे बड़ी 500 कंपनियों में भारत की 6 कंपनियां शामिल हुई हैं. इनके अलावा भारतीय स्टेट बैंक ने भी इस‍ लिस्ट में जगह बनाई है. इस लिस्ट में सबसे ज्यादा बढ़त मुकेश अंबानी के स्वामित्व वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड को मिली है.  फॉर्च्यून के मुताबिक लिस्ट में रिलायंस ने सबसे बड़ा उछाल हासिल क‍िया है. लिस्ट में RIL 55 पायदान बढ़ कर 148वें स्थान पर काबिज हुई है. इससे पहले RIL 203वें स्थान पर थी. फॉर्च्यून ने कहा कि पिछले वित्त वर्ष के दौरान आरआईएल का मुनाफा 25.5 फीसदी बढ़ा है. वित्त वर्ष 2017-18 में कंपनी की कुल कमाई 62.3 अरब डॉलर रही है.  हालांकि लिस्ट में इंडियन ऑयल कंपनी सबसे आगे निकली है. यह लिस्ट में 137वें स्थान पर काबिज हुई है. आईओसीएल और रिलायंस के बाद 197वें स्थान पर ऑयल एंड नेचुरल गैसत (ONGC) शामिल हुई है.   पिछले साल यह कंपनी लिस्ट में शामिल नहीं थी. लिस्ट में इसे शामिल करने की मुख्य वजह इसकी कमाई में आई 156.9 फीसद की बढ़ोतरी है.  लिस्ट में भारतीय स्टेट बैंक 216वें स्थान पर काबिज हुआ है. टाटा मोटर्स इस लिस्ट में 232वें स्थान पर अपनी जगह बनाने में कामयाब हुई है. इनके अलावा भारत पेट्रोलियम 314वें पायदान पर काबिज हुई है. राजेश एक्सपोर्ट्स को लिस्ट में 405वें पायदान पर रखा गया है. पिछले साल यह 295वें स्थान पर थी.  लिस्ट में टॉप कंपनियों में रिटेलर कंपनी वॉलमार्ट ने बाजी मारी है. वॉलमार्ट पहले स्थान पर काबिज हुई है. इसके बाद दूसरे नंबर पर चीनी कंपनी स्टेट ग्र‍िड, साइनोपेक ग्रुप तीसरे और चीन के नेशनल पेट्रोलियम को चौथे पायदान पर ल‍िस्ट में रखा गया है. 5वें पायदान पर डच कंपनी रॉयल डच शेल शामिल है

फॉर्च्यून के मुताबिक लिस्ट में रिलायंस ने सबसे बड़ा उछाल हासिल क‍िया है. लिस्ट में RIL 55 पायदान बढ़ कर 148वें स्थान पर काबिज हुई है. इससे पहले RIL 203वें स्थान पर थी. फॉर्च्यून ने कहा कि पिछले वित्त वर्ष के दौरान आरआईएल का मुनाफा 25.5 फीसदी बढ़ा है. वित्त वर्ष 2017-18 में कंपनी की कुल कमाई 62.3 अरब डॉलर रही है.

हालांकि लिस्ट में इंडियन ऑयल कंपनी सबसे आगे निकली है. यह लिस्ट में 137वें स्थान पर काबिज हुई है. आईओसीएल और रिलायंस के बाद 197वें स्थान पर ऑयल एंड नेचुरल गैसत (ONGC) शामिल हुई है. 

पिछले साल यह कंपनी लिस्ट में शामिल नहीं थी. लिस्ट में इसे शामिल करने की मुख्य वजह इसकी कमाई में आई 156.9 फीसद की बढ़ोतरी है.

लिस्ट में भारतीय स्टेट बैंक 216वें स्थान पर काबिज हुआ है. टाटा मोटर्स इस लिस्ट में 232वें स्थान पर अपनी जगह बनाने में कामयाब हुई है. इनके अलावा भारत पेट्रोलियम 314वें पायदान पर काबिज हुई है. राजेश एक्सपोर्ट्स को लिस्ट में 405वें पायदान पर रखा गया है. पिछले साल यह 295वें स्थान पर थी.

लिस्ट में टॉप कंपनियों में रिटेलर कंपनी वॉलमार्ट ने बाजी मारी है. वॉलमार्ट पहले स्थान पर काबिज हुई है. इसके बाद दूसरे नंबर पर चीनी कंपनी स्टेट ग्र‍िड, साइनोपेक ग्रुप तीसरे और चीन के नेशनल पेट्रोलियम को चौथे पायदान पर ल‍िस्ट में रखा गया है. 5वें पायदान पर डच कंपनी रॉयल डच शेल शामिल है

English News

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com