बहुत ही खूबसूरत है जम्मू कश्मीर की यह घाटी

जम्मू कश्मीर को धरती का स्वर्ग माना जाता है. सभी लोग जम्मू कश्मीर की खूबसूरत वादियों में घूमना चाहते हैं. यहां पर चारों तरफ फैली बर्फीली पहाड़ियां, शांत और खूबसूरत नज़ारे इस शहर की खूबसूरती में चार चांद लगाते हैं. आज हम आपको जम्मू-कश्मीर में मौजूद एक ऐसी खूबसूरत घाटी के बारे में बताने जा रहे हैं जिसका नजारा जन्नत से कम नहीं है. जम्मू कश्मीर को धरती का स्वर्ग माना जाता है. सभी लोग जम्मू कश्मीर की खूबसूरत वादियों में घूमना चाहते हैं. यहां पर चारों तरफ फैली बर्फीली पहाड़ियां, शांत और खूबसूरत नज़ारे इस शहर की खूबसूरती में चार चांद लगाते हैं. आज हम आपको जम्मू-कश्मीर में मौजूद एक ऐसी खूबसूरत घाटी के बारे में बताने जा रहे हैं जिसका नजारा जन्नत से कम नहीं है.   जम्मू कश्मीर में मौजूद गुरेज घाटी श्रीनगर से 125 किलोमीटर दूरी पर स्थित है. इस घाटी की ऊंचाई 8000 फीट है. इस घाटी का नाम कश्मीरी कवि हब्बा खातून के नाम पर रखा गया था. यहां के लोगों के अनुसार त्रिकोणीय पर्वत में हब्बा खातून के पति से जुड़ी प्रेम कहानियां आज भी मशहूर है. यह घाटी जम्मू कश्मीर का मुख्य आकर्षण है. अगर आपको भी नेचर के खूबसूरत नजारों का मजा लेना है तो गुरेज घाटी जरूर जाएं.   गुरेज घाटी  जाने के लिए मई से लेकर अक्टूबर तक का समय परफेक्ट होता है. इस समय आप यहां पर प्राकृतिक नजारों के साथ-साथ ठंडी ठंडी हवाओं का भी मजा ले सकते हैं. यहां की ठंडी हवाएं आपको गर्मियों के मौसम में भी ठंडक का अहसास करवाएंगी. यहां पर आप बाबा की दरगाह और बाबा रजाक की दरगाह के दर्शन भी कर सकते हैं. इसके अलावा आप यहां पर रॉक क्लाइंबिंग, फिशिंग और ट्रेकिंग का भी मजा ले सकते हैं.   नदियों के अलावा यहां के ऊंचे ऊंचे पहाड़ भी बहुत खूबसूरत हैं. इन पहाड़ों की ऊंचाई 16870 फीट है. यह जगह किसी धार्मिक स्थल से कम नहीं है. इस जगह को भगवान शिव का निवास स्थान माना जाता है.

जम्मू कश्मीर में मौजूद गुरेज घाटी श्रीनगर से 125 किलोमीटर दूरी पर स्थित है. इस घाटी की ऊंचाई 8000 फीट है. इस घाटी का नाम कश्मीरी कवि हब्बा खातून के नाम पर रखा गया था. यहां के लोगों के अनुसार त्रिकोणीय पर्वत में हब्बा खातून के पति से जुड़ी प्रेम कहानियां आज भी मशहूर है. यह घाटी जम्मू कश्मीर का मुख्य आकर्षण है. अगर आपको भी नेचर के खूबसूरत नजारों का मजा लेना है तो गुरेज घाटी जरूर जाएं. 

गुरेज घाटी  जाने के लिए मई से लेकर अक्टूबर तक का समय परफेक्ट होता है. इस समय आप यहां पर प्राकृतिक नजारों के साथ-साथ ठंडी ठंडी हवाओं का भी मजा ले सकते हैं. यहां की ठंडी हवाएं आपको गर्मियों के मौसम में भी ठंडक का अहसास करवाएंगी. यहां पर आप बाबा की दरगाह और बाबा रजाक की दरगाह के दर्शन भी कर सकते हैं. इसके अलावा आप यहां पर रॉक क्लाइंबिंग, फिशिंग और ट्रेकिंग का भी मजा ले सकते हैं. 

नदियों के अलावा यहां के ऊंचे ऊंचे पहाड़ भी बहुत खूबसूरत हैं. इन पहाड़ों की ऊंचाई 16870 फीट है. यह जगह किसी धार्मिक स्थल से कम नहीं है. इस जगह को भगवान शिव का निवास स्थान माना जाता है.

English News

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com