भारत की ऐसी जगह जहां जाति, धर्म, पैसे कुछ नहीं लगता

जाति और धर्म के नाम अक्सर लड़ाई देखी गई है और आज भी कुछ जगहों पर ऐसा होता है. ऐसी कोई जगह नहीं है जहां पर आपको इन सब के लिए लड़ाई न करनी पड़ी हो. पर आज हम आपको ऐसी ही जगह के बारे में बताने जा रहे हैं जहाँ पर आपको जाति और धर्म के नाम से नहीं देखा जाता बल्कि यहां आपको पैसे की भी जरूरत नहीं होगी. दुनिया में ऐसी जगह शायद ही कोई होगी जिसके बारे में आप जानते होंगे. नहीं जानते तो चलिए बता देते हैं उसके बारे में.जाति और धर्म के नाम अक्सर लड़ाई देखी गई है और आज भी कुछ जगहों पर ऐसा होता है. ऐसी कोई जगह नहीं है जहां पर आपको इन सब के लिए लड़ाई न करनी पड़ी हो. पर आज हम आपको ऐसी ही जगह के बारे में बताने जा रहे हैं जहाँ पर आपको जाति और धर्म के नाम से नहीं देखा जाता बल्कि यहां आपको पैसे की भी जरूरत नहीं होगी. दुनिया में ऐसी जगह शायद ही कोई होगी जिसके बारे में आप जानते होंगे. नहीं जानते तो चलिए बता देते हैं उसके बारे में.  बकरी का बच्चा जब मिला पार्किंग में, इसलिए किया था कैद  दरअसल, एक ऐसी जगह है जहां रहने वाले लोग राष्ट्रीयता, जाति, धर्म को नहीं मानते या ये कहें कि यहां के लोगों को इन सब से कोई फर्क नहीं पड़ता और इस शहर को सबसे शांत शहर भी माना जाता है. आपको बता दें, चेन्नई से 150 किमी दूर ऑरिविल नाम की के शहर को अल्फाज़ो नाम की एक औरत ने स्थापित किया था. इस शहर की बहुत सी ख़ास बातें हैं जिन्हें जानकार आप भी चौंक जायेंगे. इस शहर की कुल आबादी 24 हज़ार है. इतना ही नहीं सिटी ऑफ डॉन भी कहा जाता है.  ऐसे जुगाड़ से बनाई कि हंस-हंस कर हो जायेंगे लोटपोट  इसकी खास बात ये है कि इस शहर को भेदभाव को मिटाने के लिए कहा गया है जहां पर आ कर सारे भेदभाव मिट जाते हैं. इस जगह पर आपको 50 देशों से भी ज्यादा के लोग मिलेंगे जो एक साथ रहते हैं और कोई भी यहां आ कर मालिक बनने की कोशिश नहीं करता. सभी को देखते हुए यहां पर कोई भगवान की पूजा नहीं होती, न ही यहां किसी भगवान की मूर्ति या तस्वीर है. इतना ही नहीं, इस शहर को भारत सरकार द्वारा मान्यता भी दी गई है.

दरअसल, एक ऐसी जगह है जहां रहने वाले लोग राष्ट्रीयता, जाति, धर्म को नहीं मानते या ये कहें कि यहां के लोगों को इन सब से कोई फर्क नहीं पड़ता और इस शहर को सबसे शांत शहर भी माना जाता है. आपको बता दें, चेन्नई से 150 किमी दूर ऑरिविल नाम की के शहर को अल्फाज़ो नाम की एक औरत ने स्थापित किया था. इस शहर की बहुत सी ख़ास बातें हैं जिन्हें जानकार आप भी चौंक जायेंगे. इस शहर की कुल आबादी 24 हज़ार है. इतना ही नहीं सिटी ऑफ डॉन भी कहा जाता है.

इसकी खास बात ये है कि इस शहर को भेदभाव को मिटाने के लिए कहा गया है जहां पर आ कर सारे भेदभाव मिट जाते हैं. इस जगह पर आपको 50 देशों से भी ज्यादा के लोग मिलेंगे जो एक साथ रहते हैं और कोई भी यहां आ कर मालिक बनने की कोशिश नहीं करता. सभी को देखते हुए यहां पर कोई भगवान की पूजा नहीं होती, न ही यहां किसी भगवान की मूर्ति या तस्वीर है. इतना ही नहीं, इस शहर को भारत सरकार द्वारा मान्यता भी दी गई है.

You May Also Like

English News