मताधिकार छिनने से नाराज छात्र सड़क‍ पर उतरे

दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय में छात्रसंघ चुनाव में मतदान करने से वंचित एलएलबी के छात्रों ने विश्वविद्यालय प्रशासन के खिलाफ आंदोलन शुरू कर दिया है। नाराज छात्रों ने विश्वविद्यालय परिसर में राष्ट्रध्वज के नीचे आंदोलन शुरू कर दिया है। उक्त छात्र एलएलबी छठे सेमेस्टर और बीजे कोर्स के हैं जिन्हें इस बार के छात्रसंघ चुनाव में वोट देने का अधिकार नहीं दिया गया है। नई परंपरा शुरू करते हुए विश्वविद्यालय प्रशासन ने कहा है कि इन पाठ्यक्रमों का सत्र विलंब से चल रहा है और यह छात्र सत्र 2017-18 के हैं, जबकि चुनाव 2018-19 के लिए हो रहा है। ऐसे में इन्हें चुनाव में भाग लेने की अनुमति नहीं दी जा सकती।

 

उधर, छात्रों ने सवाल किया है कि विश्वविद्यालय प्रशासन को यह बताना चाहिए कि वह वर्तमान समय में विश्वविद्यालय के संस्थागत छात्र हैं या नहीं ? अगर हैं, तो उन्हें वोट देने का अधिकार मिले अगर नहीं हैं तो उनकी परीक्षा करा दी जाए।

ऐसे शुरू हुआ बवाल

गुरुवार को विधि छठे सेमेस्टर के छात्र प्रणव द्विवेदी उपाध्यक्ष पद के लिए नामांकन करने पहुंचे थे। प्रारंभिक जांच के बाद चुनाव अधिकारी ने उन्हें बताया कि उनका पर्चा खारिज हो जाएगा। परेशान प्रणव अपने दोस्तों के साथ कुलपति कार्यालय पहुंचे और उन्हें पूरी स्थिति से वाकिफ कराया। कुलपति ने कहा कि उन्हें चुनाव में शामिल होने की अनुमति नहीं है। सूचना मिलते ही बड़ी तादात में छात्र कुलपति कार्यालय में इकट्ठा हो गए। करीब दो घंटों तक बहस हुई लेकिन कुलपति कुछ मानने को तैयार न थे। छात्रों ने अपने समर्थन में पिछले सत्रों की नजीरें भी पेश कीं लेकिन कुलपति पुरानी किसी भी परंपरा को मानने को तैयार नहीं हुए। बता दें कि एलएलबी छठे सेमेस्टर में करीब 249 छात्र हैं जबकि बीजे में 60 छात्र हैं।

You May Also Like

English News