मराठा आरक्षण: हिंसा मामले में 11 गिरफ्तार, नौकरियों व शिक्षा में आरक्षण की मांग

मराठा आरक्षण को लेकर पुणे के चाकन में उपजी हिंसा मामले में पुलिस ने शनिवार को 11 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। अब तक इस मामले में कुल 29 लोगों को गिरफ्तारी हो चुकी है। राजनीतिक रूप से प्रभावशाली मराठा समुदाय, राज्‍य की 12 करोड़ आबादी का 30 फीसद हिस्सा है। समुदाय लोग नौकरी और शिक्षा में आरक्षण के लिए आंदोलन कर रहे हैं।मराठा आरक्षण को लेकर पुणे के चाकन में उपजी हिंसा मामले में पुलिस ने शनिवार को 11 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। अब तक इस मामले में कुल 29 लोगों को गिरफ्तारी हो चुकी है। राजनीतिक रूप से प्रभावशाली मराठा समुदाय, राज्‍य की 12 करोड़ आबादी का 30 फीसद हिस्सा है। समुदाय लोग नौकरी और शिक्षा में आरक्षण के लिए आंदोलन कर रहे हैं।   जांच अधिकारी गिरी गोस्‍वामी ने कहा कि चार-पांच हजार लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी है, मामले में आगे की जांच जारी है। समुदाय की मांगों में नौकरियों और शिक्षा में 16 फीसद आरक्षण, कोपर्डी रेप मामले के आरोपियों को मौत की सजा और एसएसटी कानून के गलत इस्तेमाल को रोकने के लिए उसमें संशोधन करना शामिल है। आरक्षण की मांग को लेकर चल रहे आंदोलन के दौरान राज्य में अभी तक 6 लोगों ने आत्महत्या की है। इसके अलावा लातूर जिले में 8 प्रदर्शनकारियों ने आत्मदाह की भी कोशिश की।  बता दें कि मराठा आरक्षण विवाद के बीच महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने पार्टी नेताओं के साथ बैठक की। बैठक के बाद भाजपा विधायक विनोद तावड़े ने कहा कि आरक्षण के मुद्दे पर भाजपा मराठा समुदाय के साथ है। मराठा युवाओं के लिए विभिन्न योजनाएं चलाई जा रही हैं।   आरक्षण के लिए मराठा आंदोलन के समर्थन में छह विधायकों ने दिया इस्तीफा यह भी पढ़ें इससे पहले मुख्‍यमंत्री फडणवीस यह कह चुके हैं कि उनकी सरकार मराठा समुदाय के लिए आरक्षण की मांग पर काम कर रही है, लेकिन कानूनी प्रक्रिया की अनदेखी नहीं की जा सकती है।

जांच अधिकारी गिरी गोस्‍वामी ने कहा कि चार-पांच हजार लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी है, मामले में आगे की जांच जारी है। समुदाय की मांगों में नौकरियों और शिक्षा में 16 फीसद आरक्षण, कोपर्डी रेप मामले के आरोपियों को मौत की सजा और एसएसटी कानून के गलत इस्तेमाल को रोकने के लिए उसमें संशोधन करना शामिल है। आरक्षण की मांग को लेकर चल रहे आंदोलन के दौरान राज्य में अभी तक 6 लोगों ने आत्महत्या की है। इसके अलावा लातूर जिले में 8 प्रदर्शनकारियों ने आत्मदाह की भी कोशिश की।

बता दें कि मराठा आरक्षण विवाद के बीच महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने पार्टी नेताओं के साथ बैठक की। बैठक के बाद भाजपा विधायक विनोद तावड़े ने कहा कि आरक्षण के मुद्दे पर भाजपा मराठा समुदाय के साथ है। मराठा युवाओं के लिए विभिन्न योजनाएं चलाई जा रही हैं।

इससे पहले मुख्‍यमंत्री फडणवीस यह कह चुके हैं कि उनकी सरकार मराठा समुदाय के लिए आरक्षण की मांग पर काम कर रही है, लेकिन कानूनी प्रक्रिया की अनदेखी नहीं की जा सकती है।

You May Also Like

English News