मूडीज ने भारत की रैंक‍िंग में सुधार करते हुए BAA3 से BAA2 ग्रुप में किया शामिल

क्रेडिट रेटिंग एजेंसी मूडीज ने भारत की रैंक‍िंग में सुधार करते हुए इसे BAA3 से BAA2 ग्रुप में ला दिया है. रैंकिंग में सुधार कर के मूडीज ने न सिर्फ मोदी सरकार के जीएसटी समेत अन्य सुधारों पर मुहर लगाई है, बल्क‍ि इससे अर्थव्यवस्था की रफ्तार भी बेहतर रहने की उम्मीद जताई है. इससे भारतीय अर्थव्यवस्था में न सिर्फ निवेशकों का भरोसा लौटेगा, बल्क‍ि मोदी सरकार को जीएसटी  जैसे और बड़े सुधार करने के लिए भी प्रोत्साहित करेगा.मूडीज ने भारत की रैंक‍िंग में सुधार करते हुए BAA3 से BAA2 ग्रुप में किया शामिल Breaking: दुनिया के सबसे अमीर इंसान से मिले यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ, कई मुद्दो पर हुई वार्ता!

क्या होती है BAA2 रेटिंग

क्रेडिट रे‍टिंग एजेंसी मूडीज इस रेटिंग को लॉन्ग टर्म बॉन्ड्स के साथ कुछ अन्य निवेशों को लेकर जारी करती है. जब भी मूडीज क‍िसी भी देश की इस रेटिंग में सुधार करता है, तो इसका मतलब ये होता है कि उस देश में लॉन्ग टर्म बॉन्ड्स और अन्य निवेश में जोख‍िम कम हुआ है. बैंकों को BAA रेटिंग बॉन्ड्स में निवेश के लिए प्रोत्साहित किया जाता है.

बेहतर होगा निवेश के लिए माहौल

यह रेटिंग जितनी बेहतर होगी, निवेश करने के लिए देश में माहौल उतना ही बेहतर होगा. लॉन्ग टर्म बॉन्ड्स में निवेश का जोख‍िम उतना ही कम होगा. BAA2 मध्यम क्रेडिट जोखिम को दर्शाता है. इन्हें मीडियम ग्रेड के तौर पर लिया जाता है. इससे अर्थव्यवस्था में बेहतर निवेश के मौके बनते हैं.

निवेश ऐसे यूज करते हैं रैंकिंग को

मूडीज की इस रैंकिंग से निवेशकों को लॉन्ग टर्म बॉन्ड्स के नफे और नुकसान का अनुमान लगाने में मदद मिलती है. इससे उन्हें यह तय कर में मदद मिलती है कि वह लॉन्ग टर्म बॉन्ड्स और  फिक्स्ड इनकम सिक्योरिटीज में अपना निवेश बनाए रखना चाहते हैं या नहीं. इसके अलावा रेटिंग के बेहतर होने पर वह निवेश बढ़ाने पर भी विचार करते हैं. 

देश में बढ़ेगा निवेश

वैश्विक स्तर पर निवेशक मूडीज की रेटिंग के भरोसे रहते हैं. ऐसे में बेहतर रेटिंग्स का मतलब है बेहतर निवेश. रेटिंग सुधरने से निवेश बढ़ने की उम्मीद बढ़ जाती है. मूडीज रेटिंग सुधरने से भारत में भी विदेशी निवेश बढ़ने की उम्मीद है. मूडीज ने कहा है कि रेटिंग में सुधार का फायदा इकोनॉमी को मिलेगा. घरेलू निवेशक भी अपना निवेश बढ़ा सकते हैं.

मोदी सरकार लेगी कड़े फैसले

मौजूदा समय में आर्थ‍िक विकास और जीएसटी व नोटबंदी जैसे सुधारों को लेकर आलोचना की श‍िकार हो रही मोदी सरकार को मूडीज ने बड़ी राहत दी है. मूडीज ने जीएसटी जैसे अन्य सुधारों को  न सिर्फ सराहा है, बल्कि इन्हें काफी असरदार करार दिया है. मूडीज की तरफ से बेहतर संकेत मिलने के बाद मोदी सरकार के लिए और भी कड़े फैसले लेना आसान हो जाएगा.

शेयर बाजार का आउटलुक हुआ बेहतर

मूडीज के रेटिंग में सुधार का असर शुक्रवार को ही घरेलू शेयर बाजार पर देखने को मिल गया. शुक्रवार को बाजार की तेजी शुरुआत हुई. आगे भी इस रैंकिंग की वजह से शेयर बाजार के लिए बेहतर आउटलुक रहने की उम्मीद है. रैंकिंग में सुधार से विदेशी निवेशक बाजार में अपने निवेश को  बनाए रखेंगे. इसके अलावा वे निवेश बढ़ा भी सकते हैं. इसका सीधा फायदा शेयर बाजार को मिलेगा. 

You May Also Like

English News