मैक्सवेल पर मंडराया मैच फिक्सिंग का साया

ऑस्ट्रेलिया के ताबड़तोड़ बल्लेबाज़ ग्लेंन मैक्सवेल पर भी मैच फिक्सिंग का काला साया मंडराने लगा है. एक निजी न्यूज़ चैनल द्वारा बनाई गई डॉक्यूमेंट्री में मैक्सवेल पर सवाल उठाए गए हैं. डॉक्यूमेंट्री में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच रांची में खेले गए टेस्ट मैच का जिक्र है, जिस मैच में मैक्सवेल ने शतक जमाया था. इससे पहले मैक्सवेल टेस्ट टीम से बाहर चल रहे थे और 5 दिवसीय मैचों में ये उनका पहला शतक था.ऑस्ट्रेलिया के ताबड़तोड़ बल्लेबाज़ ग्लेंन मैक्सवेल पर भी मैच फिक्सिंग का काला साया मंडराने लगा है. एक निजी न्यूज़ चैनल द्वारा बनाई गई डॉक्यूमेंट्री में मैक्सवेल पर सवाल उठाए गए हैं. डॉक्यूमेंट्री में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच रांची में खेले गए टेस्ट मैच का जिक्र है, जिस मैच में मैक्सवेल ने शतक जमाया था. इससे पहले मैक्सवेल टेस्ट टीम से बाहर चल रहे थे और 5 दिवसीय मैचों में ये उनका पहला शतक था.   Video : फैंस को देखते ही उनके साथ ऐसा बर्ताव करते हैं कोहली    डॉक्यूमेंट्री में हालांकि किसी भी खिलाड़ी का नाम नहीं लिया गया था न ही किसी खिलाड़ी को बताया गया था. डॉक्यूमेंट्री में आस्ट्रेलिया के दो खिलाड़ियों को निश्चित ओवरों में निश्चित रन बनाने को कहा गया था. हालाँकि, इस मामले में मैक्सवेल का कहना है कि उन्हें डॉक्यूमेंट्री के बारे में तो पता है, लेकिन उनसे अभी तक मैच फिक्सिंग के आरोपों को लेकर कोई पूछताछ नहीं की गई है.   मोहम्मद अनस ने रिकॉर्ड 45.24 सेकेंड में ख़त्म की 400 मीटर दौड़       मैक्सवेल ने कहा है कि "मैं इन आरोपों से हैरान हूँ, क्योंकि ये मेरे जीवन की सबसे बेहतरीन यादों में से एक है, वो टेस्ट मैचेस में मेरा पहला शतक था, टेस्ट टीम में वापसी करने के लिए मैंने कड़ी मेहनत की थी, लेकिन इस तरह की ख़बरों से मुझे गहरी निराशा हुई है. उन्होंने कहा कि जिस खेल के लिए ''मैंने इतनी मेहनत कि, मैं उसी खेल को बर्बाद करूँगा, यह बात बिलकुल बकवास है." 

डॉक्यूमेंट्री में हालांकि किसी भी खिलाड़ी का नाम नहीं लिया गया था न ही किसी खिलाड़ी को बताया गया था. डॉक्यूमेंट्री में आस्ट्रेलिया के दो खिलाड़ियों को निश्चित ओवरों में निश्चित रन बनाने को कहा गया था. हालाँकि, इस मामले में मैक्सवेल का कहना है कि उन्हें डॉक्यूमेंट्री के बारे में तो पता है, लेकिन उनसे अभी तक मैच फिक्सिंग के आरोपों को लेकर कोई पूछताछ नहीं की गई है. 

मैक्सवेल ने कहा है कि “मैं इन आरोपों से हैरान हूँ, क्योंकि ये मेरे जीवन की सबसे बेहतरीन यादों में से एक है, वो टेस्ट मैचेस में मेरा पहला शतक था, टेस्ट टीम में वापसी करने के लिए मैंने कड़ी मेहनत की थी, लेकिन इस तरह की ख़बरों से मुझे गहरी निराशा हुई है. उन्होंने कहा कि जिस खेल के लिए ”मैंने इतनी मेहनत कि, मैं उसी खेल को बर्बाद करूँगा, यह बात बिलकुल बकवास है.”

You May Also Like

English News