मोहन भागवत पर तेजस्वी का बड़ा आरोप, कहा- संघ प्रमुख ने रामनवमी पर दी दंगा भड़काने की ट्रेनिंग

आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव के बेटे और विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत पर बिहार में सांप्रदायिक माहौल पैदा करने का आरोप लगाया है।  मोहन भागवत पर तेजस्वी का बड़ा आरोप, कहा- संघ प्रमुख ने रामनवमी पर दी दंगा भड़काने की ट्रेनिंगशुक्रवार को मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि ‘मोहन भागवत हाल में 14 दिनों के लिए बिहार आए थे। इस दौरान उन्होंने रामनवमी में कैसे दंगा भड़काना है इसकी ट्रेनिंग दी। अब लोगों को भी उनके बिहार आने के पीछे का सारा सच पता चल गया है।’

बता दें कि सांप्रदायिक हिंसा की आग में जल रहे बिहार में लगातार बवाल जारी है। भागलपुर, औरंगाबाद, नालंदा और समस्तीपुर के बाद अब नवादा जिले में भी तनाव हो गया है। शुक्रवार की सुबह नवादा में हिंसक प्रदर्शन की खबरें सामने आ रही हैं। 

नवादा बाईपास के गोंदापुर चौक के पास धार्मिक स्थल पर तोड़-फोड़ की गई। घटना के बाद आक्रोशित लोगों ने जमकर बवाल किया। प्रदर्शनकारी भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को हवाई फायरिंग करनी पड़ी। 

उल्लेखनीय है कि रामनवमी के बाद भड़की हिंसा में कहीं कोई अप्रिय घटना नहीं घटी, लेकिन भागलपुर में भड़की आग औरंगाबाद, समस्तीपुर, नालंदा होते हुए मुंगेर तक पहुंची। औरंगाबाद में फायरिंग हुई, जबकि नालंदा में पुलिस पर ही पथराव हुआ। हर जगह प्रशासन ने तनाव पर काबू पाया। 

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पिछले दिनों बिहार दिवस के अवसर पर साफ शब्दों में कहा था कुछ लोग माहौल खराब करने में जुटे हैं, मगर हम ऐसा होने नहीं देंगे। सुशील मोदी ने भी साफ निर्देश दिये थे कि प्रशासन के बताए रूट पर ही जुलूस और विसर्जन यात्रा निकालें, भड़काऊ गाने मत बजाएं। लेकिन, भाजपा के लोगों ने ही अपने नेता की बातों को नजरअंदाज कर दिया।

भाजपा नेताओं की गिरफ्तारी

समस्तीपुर में पुलिस ने कार्रवाई करते हुए भाजपा के दो नेता समेत लगभग एक दर्जन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। यह गिरफ्तारी सीसीटीवी फुटेज देखने के बाद की गई है। 

जिले के एसपी दीपक रंजन ने बताया है कि कई लोगों की तलाश जारी है। उन्होंने कहा कि गिरफ्तार किए गए दिनेश कुमार झा वर्तमान में भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा के प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य हैं, जबकि दूसरे आरोपी मोहन पटवा फिलहाल भाजपा बुनकर प्रकोष्ठ के प्रदेश कार्यकारिणी के सदस्य हैं। इधर, भाजपा नेताओं की गिरफ्तारी के विरोध में रोसड़ा बाजार बंद किया गया है। 

भाजपा-जेडीयू में अनबन
वहीं बिहार में एक बार फिर सियासी भूचाल की आशंका दिखने लगी है। धर्म के नाम पर फैली हिंसा के बाद जदयू और भाजपा के बीच सब कुछ ठीक नहीं है। जदयू जहां भाजपा पर हमलावर है, वहीं भाजपा किसी भी हालात में अपने एजेंडे से पीछे हटने को तैयार नहीं है।  

इधर, नीतीश को लेकर राजद और कांग्रेस के स्वर भी बदल रहे हैं। ऐसे में राजनीतिक गलियारे में एक फिर किसी बड़े बदलाव की आहट सुनाई देने लगी है। राजनीतिक बहसों में भी गठबंधन के भविष्य को लेकर कयास लगाया जाने लगा है। 

You May Also Like

English News