ये 10 संकेत बताते हैं कि आपसे ज्यादा जीनियस कोई नहीं!

दुनिया में कुछ लोग ऐसे हुए हैं जिनका दिमाग बाकी लोगों से कई गुना ज्यादा तेज था. इसे हम आईक्यू कहते हैं. अक्सर हम देखते हैं कि कुछ लोग कठिन से कठिन चीजों को तुरंत समझ लेते हैं जबकि कुछ सीधी व सरल चीजों को समझने में बहुत ज्यादा वक्त ले लेते हैं. ऐसा अलग-अलग आईक्यू लेवल के कारण होता है. आज हम आपको बताएंगे कि कौन से संकेत हैं जो बताते हैं कि आप एक विलक्षण प्रतिभा वाले और इंटेलिजेंट हैं, क्या आप भी जीनियस लोगों की कैटिगरी में आते हैं, पढ़िए और जानिए…ये 10 संकेत बताते हैं कि आपसे ज्यादा जीनियस कोई नहीं!
रात को देर तक जागने की आदत-ज्यादातर जीनियस को देर रात तक जागने की आदत होती है. कुछ ना कुछ पढ़ते रहने या सोचते रहने की आदत होती है. ज्यादातर जीनियस लोगों को इनसोमनिया की बीमारी थी यानी नींद ना आने की बीमारी. कई इंटेलिजेंट लोगों की आत्मकथा से पता चलता है कि उन सबमें एक बात कॉमन थी. वह यह कि उन्हें नींद नहीं आने की बीमारी थी या फिर वे रात में बहुत ही कम घंटे सोते थे.
विज्ञान, खेल, बिजनेस, राजनीति या कला के क्षेत्र के कई महान लोगों को बहुत कम सोने की आदत थी.  उन्हें हर वक्त कुछ ना कुछ करने की लगन और सोच नींद से दूर रखती थी. आपके घर में बिजली पहुंचाने वाले निकोलस टेस्ला दिन में केवल 2 से 3 घंटे सोते थे. मोनालिसा की महान पेन्टिंग बनाने वाले लियोनार्डों द विन्सी  दिन में केवल 3 घंटे सोते थे.
भुलक्कड़ या सामान्य चीजों को याद ना रखना-क्या आप लॉक लगाना भूल जाते हैं या लॉक लगाकर ताले में ही चाभी छोड़ देते हैं तो आपको खुश हो जाने की जरूरत है. भले ही भुलक्कड़ होने के लिए आप खुद को कोसते रहे हो लेकिन अब तक आप यह जानकर खुश होंगे कि कई बुद्धिमान लोगों को भूलने की आदत थी. फॉरगेटिंग नाम के निबंध में बताया गया है कि कैसे असाधारण बुद्धि वाले लोगों को छोटी-छोटी बातें याद नहीं रहती हैं. आप अगर हर चीज पर ध्यान देते हैं तो किसी एक चीज पर फोकस कर ही नहीं सकते हैं.  महान जीनियस आइंन्सटाइन की भी याददाश्त कुछ ज्यादा अच्छी नहीं थी. उन्हें तारीखें और फोन नंबर भी याद नहीं रहते थे. यहां तक कि एक बार वे टैक्सी में बैठकर वे अपने घर का ही पता भूल गए थे.
अगर आपके दाएं अंगूठे पर यह सफेद रंग का चंद्राकार साइन है तो आप जीनियस लोगों की कैटिगरी में हैं. यह साइन जितना ज्यादा गहरा और सफेद होता है, आप उतने ही ज्यादा बुद्धिमान होते हैं.
नीले रंग की आंखें-कई यूनिवर्सिटीज की स्टडीज से यह पता चला है कि नीली आंखों वाले दूसरे लोगों से ज्यादा बुद्धिमान होते हैं.
सोने से पहले सोचना-अगर आपको सोने से पहले सोचने की आदत है तो यह भी जीनियस होने का एक संकेत है. आज क्या हुआ, कल क्या होगा और कैसे, यह सब सोने से पहले सोचने की आदत. सामान्य लोग बिस्तर पर पड़ते ही सो जाते हैं जबकि जीनियस लोगों का दिमाग हर वक्त चलता रहता है और वह बिस्तर पर भी कई चीजों के बारे में सोच-विचार करते हैं.
खुद से बातें करना-जब आप खुद से बातें करते हैं तो आपका दिमाग ज्यादा बेहतर ढंग से काम कर रहा होता है. मनोवैज्ञानिकों के मुताबिक, कई बार खोई चीजों को ढूंढने और याद करने के लिए मन में बातें करना बहुत मददगार साबित होता है.
किसी भी चीज का नशा-जिनका दिमाग दूसरों से अलग होता है, उन्हें किसी ना किसी चीज का अडिक्शन होता है. चाहे वह कंप्यूटर, मोबाइल, सिगरेट या किसी अन्य चीज की.
कम सोशल-जो लोग इंटेलिजेंट होते हैं उनकी थिकिंग कॉम्प्लेक्स होते हैं औऱ समाज के लोगों से उनका माइंडसेट अलग होता है. कई स्टडीज में यह बात सामने आई है कि इंटेलिजेंट लोग बहुत कम सोशल होते हैं. ये रिजर्व रहना पसंद करते हैं.
नॉवेल्टी-नई चीजों को देखने की इच्छा, नई चीजें खोजते रहना. इनके अंदर दूसरों से काफी ज्यादा यह क्षमता होती है
तो अगर आपके अंदर जीनियस होने के पूरे 10 लक्षण हैं तो आपके जीनियस होने में कोई शक नहीं है…

You May Also Like

English News