रिषभ पंत की तूफानी बल्लेबाजी नहीं बल्कि इस काबिलियत से प्रभावित हुआ ये दिग्गज

भारत के उभरते हुए क्रिकेट सितारे रिषभ पंत की तूफानी बल्लेबाजी के सभी कायल है, आइपीएल में वह जिस तरह गेंदबाजों की पिटाई कर रहे थे, उससे साफ हो गया था कि ये सितारा भारत के लिए जरूर चमकेगा। सिर्फ आइपीएल ही नहीं बल्कि घरेलू क्रिकेट में भी इस बल्लेबाज का आंतक गेंदबाजों ने झेला है। इंग्लैंड दौरे पर गई भारत-ए की तरफ से भी इस बल्लेबाज ने अच्छा प्रदर्शन किया था।पंत हमेशा ही आक्रमक बल्लेबाज रहेगा, बड़े शॉट खेलने की काबिलियत उससे कोई नहीं छीन सकता लेकिन परिस्थिति के हिसाब से भी बल्लेबाजी करना जरूरी होता है। उसे भारत की टेस्ट टीम में मौका मिला है उम्मीद है अगर उसे मौका मिला तो वह वहां भी उसी तरह का प्रदर्शन करेगा जैसा वह पिछले कुछ समय से करता आया है।  द्रविड़ ने भारत-ए के इंग्लैंड दौरे को भी भविष्य के लिए अच्छा बताया, इस महान बल्लेबाज ने कहा कि इस तरह के दौरो से खिलाड़ियों को परिस्थिति को समझने का मौका मिलता है। वह यहां से सीधा जाकर सीनियर टीम में जाकर आसानी से परिस्थिति के हिसाब से खुद को ढाल सकते हैं। इस टीम में मुरली विजय और अंजिक्य रहाणे भी थे जो कठिन परिस्थिति में खेले, जो उनके लिए टेस्ट सीरीज में फायदेमंद होगा।

अब इस बल्लेबाज की तूफानी बल्लेबाजी की तो सब तारीफ करते हैं लेकिन भारत के महान क्रिकेटर और कई लंबे समय तक पंत को कोचिंग दे रहे राहुल द्रविड़ उनकी तूफानी बल्लेबाजी नहीं बल्कि कठिन परिस्थिति में खेलने और उसके अनुरुप ढालने की काबिलियत से खुश है।

द्रविड़ ने कहा कि सभी ने उसकी तेज बल्लेबाजी देखी है और ये उसके खेलने का तरीका भी है। लेकिन इंग्लैंड दौरे पर उसने जिस तरह संभल कर बल्लेबाजी की उससे मैं काफी प्रभावित हूं। उन पारियों में उसने दिखा दिया कि वह अपनी शैली के विपरीत भी बल्लेबाजी कर सकता है। 

इस दौरे पर हमने उसे कठिन परिस्थिति में बल्लेबाजी की चुनौती दी थी, जिसे उसने अच्छी तरह पास कर लिया। उसने कठिन परिस्थिति में पुछल्ले बल्लेबाजों के साथ जिस तरह की बल्लेबाजी की वह सच में अद्धभुत था।

पंत हमेशा ही आक्रमक बल्लेबाज रहेगा, बड़े शॉट खेलने की काबिलियत उससे कोई नहीं छीन सकता लेकिन परिस्थिति के हिसाब से भी बल्लेबाजी करना जरूरी होता है। उसे भारत की टेस्ट टीम में मौका मिला है उम्मीद है अगर उसे मौका मिला तो वह वहां भी उसी तरह का प्रदर्शन करेगा जैसा वह पिछले कुछ समय से करता आया है।

द्रविड़ ने भारत-ए के इंग्लैंड दौरे को भी भविष्य के लिए अच्छा बताया, इस महान बल्लेबाज ने कहा कि इस तरह के दौरो से खिलाड़ियों को परिस्थिति को समझने का मौका मिलता है। वह यहां से सीधा जाकर सीनियर टीम में जाकर आसानी से परिस्थिति के हिसाब से खुद को ढाल सकते हैं। इस टीम में मुरली विजय और अंजिक्य रहाणे भी थे जो कठिन परिस्थिति में खेले, जो उनके लिए टेस्ट सीरीज में फायदेमंद होगा।

You May Also Like

English News