वेंकैया नायडू ने कैसा क्यों कहा: नहीं बनना राष्ट्रपति या उपराष्ट्रपति, ऊषा-पति होकर ही खुश हूं

देश की राजनीति में इन दिनों जुलाई में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव की चर्चा गर्म है. राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति के लिए कई नाम सामने आए हैं. इन्हीं में एक नाम है केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू का. मंगलवार को वेंकैया नायडू ने अपने ही अंदाज में इस खबर को खारिज किया कि वह राष्ट्रपति या उपराष्ट्रपति की दौड़ में शामिल हैं. वेंकैया नायडू ने कैसा क्यों कहा: नहीं बनना राष्ट्रपति या उपराष्ट्रपति, ऊषा-पति होकर ही खुश हूंयह भी पढ़े: CM योगी के निर्देश पर ‘एंटी रोमियो स्क्वाड’ की ये है वर्क रिपोर्ट…

केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने कहा कि वह ना तो राष्ट्रपति बनना चाहते हैं, और ना ही उपराष्ट्रपति वह ऊषा पति होकर ही खुश हैं. दरअसल, ऊषा वेंकैया की पत्नी का नाम है. साफ है कि वेंकैया नायडू ने अपने चिर-परिचित अंदाज में सभी अटकलों को खारिज कर दिया. पिछले काफी दिनों से लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन, वेंकैया नायडू, शरद यादव के अलावा कई अन्य नेताओं के नाम इस दौड़ में बताये जा रहे हैं.

वेंकैया नायडू का नाम बार-बार इसलिये भी चर्चा में आ रहा है क्योंकि बीजेपी लगातार दक्षिण की राजनीति में अपनी पैठ बढ़ाने की कोशिश कर रही है. और वेंकैया आंध्र प्रदेश और तेंलगाना का एक बड़ा चेहरा है जिसका फायदा बीजेपी को भी हो सकता है.

गौरतलब है कि राष्ट्रपति चुनावों को लेकर पिछले सप्ताह ही विपक्ष की बैठक हुई थी, जिसका नेतृत्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने किया था. सोनिया के नेतृत्व में कई विपक्षी पार्टियां एक जुट हुई थी, हालांकि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इस बैठक से गायब रहे थे.

You May Also Like

English News