शरीर में विटामिन डी की कमी को कैसे पूरा करें

आजकल लोग धूप में कम और अंदर रहना ज्यादा पसंद करते हैं, इससे मानव शरीर में विटामिन डी की कमी होती है और कई बीमारियों का खतरा बढ़ता है. क्या आप जानते है कि किसी भी सेहतमंद इंसान के लिए विटामिन डी का लेवल 50 नैनोग्राम/मिलीग्राम होना चाहिएआजकल लोग धूप में कम और अंदर रहना ज्यादा पसंद करते हैं, इससे मानव शरीर में विटामिन डी की कमी होती है और कई बीमारियों का खतरा बढ़ता है. क्या आप जानते है कि किसी भी सेहतमंद इंसान के लिए विटामिन डी का लेवल 50 नैनोग्राम/मिलीग्राम होना चाहिए.  ज्यादातर लोगों को इसकी जानकारी ही नहीं होती कि जिस तरह से शरीर में रोजाना विटामिन, प्रोटीन की खुराक जरूरी है, उसी तरह से विटामिन डी की भी खुराक जरूरी है. एक सेहतमंद इंसान के शरीर में विटामिन डी का लेवल 20 से 50 नैनोग्राम/मिलीग्राम के बीच होता है. चिकित्सको के अनुसार 50 को भी अच्छा लेवल माना जाता है पर अगर लेवल 25 से कम है तो चिकित्सक की सलाह लें और विटामिन डी की खुराक लें.  शरीर में विटामिन डी की कमी को अगर आप घरेलु नुस्खों के द्वारा दूर करना चाहे तो इसके लिए आपको तिल का तेल शरीर में लगाकर रोजाना 20 मिनट तक धूप में बैठें. जब तेल शरीर के अंदर जायेगा तो उसका कोलेस्ट्राल विटामिन डी में कन्वर्ट होगा जिससे शरीर में विटामिन डी का स्तर बढ़ता है. यदि शरीर में विटामिन डी का लेवल बहुत ज्यादा हो तो भी वह बहुत खतरनाक हो सकता है.आजकल लोग धूप में कम और अंदर रहना ज्यादा पसंद करते हैं, इससे मानव शरीर में विटामिन डी की कमी होती है और कई बीमारियों का खतरा बढ़ता है. क्या आप जानते है कि किसी भी सेहतमंद इंसान के लिए विटामिन डी का लेवल 50 नैनोग्राम/मिलीग्राम होना चाहिए.  ज्यादातर लोगों को इसकी जानकारी ही नहीं होती कि जिस तरह से शरीर में रोजाना विटामिन, प्रोटीन की खुराक जरूरी है, उसी तरह से विटामिन डी की भी खुराक जरूरी है. एक सेहतमंद इंसान के शरीर में विटामिन डी का लेवल 20 से 50 नैनोग्राम/मिलीग्राम के बीच होता है. चिकित्सको के अनुसार 50 को भी अच्छा लेवल माना जाता है पर अगर लेवल 25 से कम है तो चिकित्सक की सलाह लें और विटामिन डी की खुराक लें.  शरीर में विटामिन डी की कमी को अगर आप घरेलु नुस्खों के द्वारा दूर करना चाहे तो इसके लिए आपको तिल का तेल शरीर में लगाकर रोजाना 20 मिनट तक धूप में बैठें. जब तेल शरीर के अंदर जायेगा तो उसका कोलेस्ट्राल विटामिन डी में कन्वर्ट होगा जिससे शरीर में विटामिन डी का स्तर बढ़ता है. यदि शरीर में विटामिन डी का लेवल बहुत ज्यादा हो तो भी वह बहुत खतरनाक हो सकता है..

ज्यादातर लोगों को इसकी जानकारी ही नहीं होती कि जिस तरह से शरीर में रोजाना विटामिन, प्रोटीन की खुराक जरूरी है, उसी तरह से विटामिन डी की भी खुराक जरूरी है. एक सेहतमंद इंसान के शरीर में विटामिन डी का लेवल 20 से 50 नैनोग्राम/मिलीग्राम के बीच होता है. चिकित्सको के अनुसार 50 को भी अच्छा लेवल माना जाता है पर अगर लेवल 25 से कम है तो चिकित्सक की सलाह लें और विटामिन डी की खुराक लें.

शरीर में विटामिन डी की कमी को अगर आप घरेलु नुस्खों के द्वारा दूर करना चाहे तो इसके लिए आपको तिल का तेल शरीर में लगाकर रोजाना 20 मिनट तक धूप में बैठें. जब तेल शरीर के अंदर जायेगा तो उसका कोलेस्ट्राल विटामिन डी में कन्वर्ट होगा जिससे शरीर में विटामिन डी का स्तर बढ़ता है. यदि शरीर में विटामिन डी का लेवल बहुत ज्यादा हो तो भी वह बहुत खतरनाक हो सकता है.

You May Also Like

English News