संसदीय दल की बैठक में बोले राहुल- राफेल एक बड़ा घोटाला, हर मामले पर चुप हैं PM

संसद के मॉनसून सत्र के बीच मंगलवार को कांग्रेस की संसदीय दल की बैठक हुई. राहुल गांधी के कांग्रेस अध्यक्ष बनने के बाद कांग्रेस की ये पहली संसदीय दल की बैठक थी. बैठक को संबोधित करते हुए राहुल गांधी के निशाने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रहे. राहुल ने अपने सभी सांसदों से 2019 के लोकसभा चुनावों के लिए तैयार होने को कहा.संसद के मॉनसून सत्र के बीच मंगलवार को कांग्रेस की संसदीय दल की बैठक हुई. राहुल गांधी के कांग्रेस अध्यक्ष बनने के बाद कांग्रेस की ये पहली संसदीय दल की बैठक थी. बैठक को संबोधित करते हुए राहुल गांधी के निशाने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रहे. राहुल ने अपने सभी सांसदों से 2019 के लोकसभा चुनावों के लिए तैयार होने को कहा.  राहुल ने कहा कि भ्रष्टाचार से जुड़े सभी मामलों पर प्रधानमंत्री चुप हैं, राफेल एक बहुत बड़ा घोटाला है. उन्होंने कहा कि हम अपनी लड़ाई जारी रखेंगे.  उन्होंने कहा कि किसान, रोजगार के मुद्दे पर कांग्रेस के सांसदों ने पिछले चार सालों में अच्छी लड़ाई लड़ी है. ये साल हमारे लिए मुश्किलों भरे रहे हैं. हम आगे भी इसी तरह सरकार को टक्कर देंगे, 2019 में कांग्रेस जरूर बड़ी जीत हासिल करेगी.  संसदीय दल को संबोधित करते हुए राहुल ने तीन मुद्दों पर जोर दिया. उन्होंने राफेल, किसान और रोजगार के मुद्दे पर मोदी सरकार को घेरने को कहा. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री को बोलने की जरूरत है, लेकिन वो चुप्पी साधे बैठे हैं.  रोजगार को लेकर मारा था तंज  गौरतलब है कि राहुल की आक्रामक बयानबाजी के कारण ही बीजेपी इन दिनों बैकफुट पर है. हाल ही में SC/ST एक्ट और मराठा आरक्षण जैसे मुद्दे पर बैकफुट पर खड़ी भारतीय जनता पार्टी के लिए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी का बयान मुश्किलें लेकर आया. सोमवार को राहुल गांधी ने भी इस मुद्दे को लेकर केंद्रीय मंत्री पर तंज कसा था.  दरअसल, गडकरी ने कहा था कि आखिर लोगों को आरक्षण क्यों चाहिए जब देश में नौकरी ही नहीं हैं. इस पर राहुल ने तंज कसते हुए कहा कि गडकरी जी, आपने बिल्कुल सही सवाल पूछा है. हर भारतीय ये ही सवाल पूछ रहा है. आखिर नौकरियां कहां हैं?

राहुल ने कहा कि भ्रष्टाचार से जुड़े सभी मामलों पर प्रधानमंत्री चुप हैं, राफेल एक बहुत बड़ा घोटाला है. उन्होंने कहा कि हम अपनी लड़ाई जारी रखेंगे.

उन्होंने कहा कि किसान, रोजगार के मुद्दे पर कांग्रेस के सांसदों ने पिछले चार सालों में अच्छी लड़ाई लड़ी है. ये साल हमारे लिए मुश्किलों भरे रहे हैं. हम आगे भी इसी तरह सरकार को टक्कर देंगे, 2019 में कांग्रेस जरूर बड़ी जीत हासिल करेगी.

संसदीय दल को संबोधित करते हुए राहुल ने तीन मुद्दों पर जोर दिया. उन्होंने राफेल, किसान और रोजगार के मुद्दे पर मोदी सरकार को घेरने को कहा. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री को बोलने की जरूरत है, लेकिन वो चुप्पी साधे बैठे हैं.

रोजगार को लेकर मारा था तंज

गौरतलब है कि राहुल की आक्रामक बयानबाजी के कारण ही बीजेपी इन दिनों बैकफुट पर है. हाल ही में SC/ST एक्ट और मराठा आरक्षण जैसे मुद्दे पर बैकफुट पर खड़ी भारतीय जनता पार्टी के लिए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी का बयान मुश्किलें लेकर आया. सोमवार को राहुल गांधी ने भी इस मुद्दे को लेकर केंद्रीय मंत्री पर तंज कसा था.

दरअसल, गडकरी ने कहा था कि आखिर लोगों को आरक्षण क्यों चाहिए जब देश में नौकरी ही नहीं हैं. इस पर राहुल ने तंज कसते हुए कहा कि गडकरी जी, आपने बिल्कुल सही सवाल पूछा है. हर भारतीय ये ही सवाल पूछ रहा है. आखिर नौकरियां कहां हैं?

You May Also Like

English News