सावधान: हार्ट के लिए सिगरेट से भी ज्यादा खतरनाक होता है अगरबत्ती का धुआं, जाने कैसे…

मेरे कई दोस्त ऐसे हैं, जो सिगरेट का सेवन करते हैं। मैं नहीं पीती, लेकिन उनके साथ खड़ें होना मतलब सिगरेट का थोड़ा धुआं अपने अंदर भी लेना। राह चलते भी कई लोग जब सिगरेट का धुआं छोड़ते हैं, तो कहीं न कहीं हम भी उसे अपने अंदर लेते ही है। सावधान: हार्ट के लिए सिगरेट से भी ज्यादा खतरनाक होता है अगरबत्ती का धुआं, जाने कैसे...रोज पीएं 1 ग्लास संतरे और चुकंदर का जूस, जाट से दूर हो जाएगी ये खतरनाक बीमारियां…

भारतीय लोग पूजा-पाठ में काफी विश्वास रखते हैं, तो ऐसे में हर घर में सुबह-शाम अगरबत्ती और धूपबत्ती का इस्तेमाल किया जाता है। पूजा करते हुए अगर धूपबत्ती या अगरबत्ती न जलाई जाए, तो उनकी पूजा पूरी नहीं होती है। लोगों के अनुसार शाम के समय अगरबत्ती जलाने से घर का वातावरण शुद्ध होता है। लेकिन कुछ घरों में इसका ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है। सुबह हो या शाम कई लोगों के घर में अगरबत्ती जलना जरूरी होता है। कई तो यह भी मानते हैं कि अगर घर में अगरबत्ती या धूपबत्ती जलाई जाए, तो उससे घर का बातावरण खुशबूदार तो होता ही है, साथ ही घर में मौजूद मच्छर या छोटे-मोटे कीड़ें मकौड़े भी खत्म होते हैं। 

लेकिन क्या प जानते हैं कि अगरबत्ती या धूपबत्ती को रोज अपने घर में जलाने से आप कितनी बीमारियों को न्योता दे रहे हैं। सिर्फ सिगरेट का धुआं ही आपको बीमार नहीं, डालता है, बल्कि अगरबत्ती भी आपके दिल के लिए खतरे की घंटी ही है। अगरबत्ती के धुएं से सांस की परेशानी हो सकती है। इसके अलावा अगरबत्ती या धूपबत्ती के धुएं से और भी कई समस्याएं ऐसी हैं, जिसके बारे में लोगों को जरूर पता होना चाहिए।

अगरबत्ती से निकलती है कार्बनमोनोऑक्साइड

जिन घरों में अगरबत्ती या धूपबत्ती का सबसे ज्यादा इस्तेमाल होता है, वहां कई बीमरियां होने का खतरा बढ़ जाता है। अगरबत्ती के धुएं से कार्बनमोनोऑक्साइड निकलती है, जो फेफड़ों को नुकसान पहुंचाती है। इस धुएं में सांस लेने से कफ और छींकने की समस्या हो जाती है और छाती में रेशा और बलगम जम जाता है, जिससे व्यक्ति को काफी परेशानी होती है।

ह्रदय रोग से बचाती है ये स्‍पेशल कॉफी, जानिए और भी हैं इसके बड़े फायदे…

अगरबत्ती या धूपबत्ती के धुएं में अधिक देर तक सांस लेने से सांस से संबंधित समस्या भी हो सकती है। इसमें मौजूद नाइट्रोजन और सल्फर डाईऑक्साइड गैस शरीर में जाती है, जिससे अस्थमा और सीओपीडी जैसी समस्याएं उत्पन्न होती हैं।

दिल के लिए है खतरनाक

स्वस्थ शरीर के लिए दिल का तंदुरुस्त रहना बेहद जरूरी होता है। ऐसे में जब रोजाना अगरबत्ती का धुआं आपकी सांस के साथ आपके अंदर जाता है, तो इससे दिल की कोशिकाएं सिकुड़नी शुरू हो जाती हैं, जिससे हार्ट अटैक होने का खतरा बढ़ जाता है। 

इसलिए अगली बार अगर आप भी सुबह और शाम दोनों समय अपने घर में अगरबत्ती या धूपबत्ती जलाते हैं, तो ध्यान रखें कि इससे आफको दिल से संबंधित कई बीमारियां उत्पन्न हो सकती हैं। 

loading...

You May Also Like

English News