यहाँ सिर्फ गले मिलने के लिए पैसे खर्च कर रहे हैं लोग

गले लगना सबको पसंद होता है लेकिन आज की भागती-दौड़ती जिंदगी में जैसे हम किसी के गले भी नहीं लग पाते। दुनिया में ऐसे लोगों की संख्या तेजी से बढ़ रही है जो गले लगने के लिए पैसे खर्च करने को तैयार हैं।

यहाँ सिर्फ गले मिलने के लिए पैसे खर्च कर रहे हैं लोग

नेलपॉलिश के इस्तेमाल से हो सकता है बांझपन, बरतें ये सावधानी

इसी का नतीजा है कि अमेरिका जैसे देशों में कडलिंग यानी गले लगाना एक प्रफेशन का रूप ले चुका है।

अमेरिका में कई कंपनियों जैसे कडलिस्ट, कडल टाइम और कडल थेरेपी ने अपनी सेवाएं देनी भी शुरू कर दीं। इसके लिए वे तकरीबन 80 डॉलर (5,500 रुपये) चार्ज करते हैं। कई सायकॉलजिस्ट भी अपने पेशंट्स को नियमित रूप से कडलिंग थेरेपी लेने को कहते हैं।
 
कंपनियां और सायकॉलजिस्ट यह सुनिश्चित करते हैं कि गले लगने की प्रक्रिया पूरी तरह नॉन-सेक्शुअल होनी चाहिए। सायकॉलजिस्ट्स का मानना है कि गले लगने से लोगों को मानसिक मजबूती और राहत मिलती है।
 
एक्सपर्ट्स का मानना है कि आज के वक्त में लोगों को नॉन-सेक्शुअल टच कम ही मिल पाता है। कडल थेरेपी की सीईओ कहती हैं,’अकेले बैठकर रोना और किसी बांहों में रोना, दोनों अलग चीजें हैं।’
 
कडलिंग बिजनस धीरे-धीरे बढ़ रहा है और थेरेपिस्ट्स इससे अच्छी कमाई भी कर रहे हैं। भविष्य में इसके और फलने-फूलने के आसार हैं।
कडलिंग को अपनी प्रैक्टिस में शामिल करना थेरेपिस्ट्स के लिए भी फायदेमंद साबित हो रहा है। इस तरह वह अपने मरीजों से बेहतर ढंग से जुड़ पा रहे हैं।

You May Also Like

English News